ब्रेकिंग
ताजनगरी में पुलिस ने जबरन उठाया किसानों का धरनास्कूल बना स्वीमिंग पूल, हेड मास्टर ने प्रधान को दोषी ठहरायाअंधविश्वास ने ली महिला की जान, नहीं मिला उपचारभारतीय संस्कृति सारे विश्व में निराली है : संघ संपर्क प्रमुख रामलालनरेंद्र गिरि का शव फांसी पर था तो कैसे चलता रहा पंखा? चौंकाने वाला वीडियो आया सामनेEtah: भारत से गए पाकिस्तानियों के नाम अभी भी दर्ज है जमीन, प्रशासन ने की कार्रवाईSiddharthnagar : हॉस्पिटल में हुई चोरी का हुआ खुलासा, पुलिस ने पांच चोरों को धरदबोचाएटा: खुलेआम अवैध शराब बिक्री करते युवक का वीडियो हुआ वायरल, आरोपी गिरफ्तारकुछ कहूं…लोकतंत्र में बाबूराज…आखिर ? अनिच्छा से पंच तत्व में विलीन हुए महंत नरेंद्र गिरि

पीएम मोदी ने जारी किया 125 रुपये का सिक्का

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की 125 वीं जयंती के अवसर पर 125 रुपये का एक स्मारक सिक्का, Commemorative Coin जारी किया है. इस सिक्के को उन्होंने International Society for Krishna Consciousness – ISKCON) के संस्थापक श्री भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की 125वीं जयंती पर जारी किया है. आपको बता दें कि इस्कॉन को को “हरे कृष्ण आन्दोलन” के नाम से भी जाना जाता है. श्रीकृष्णकृपा श्रीमूर्ति श्री अभयचरणारविन्द भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपादजी ने 1966 में इस संस्थान की स्थापना न्यूयॉर्क में की थी।

पीएम मोदी ने यह स्मारक सिक्का वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जारी किया है. जिसके बाद Prime minister ने Swami Prabhupada को एक पारलौकिक कृष्णभक्त बताया और कहा कि वह एक विशाल देश भक्त भी थे.

स्वामी प्रभुपाद कौन है जानें
1 सितंबर 1896 को स्वामी प्रभुपाद का जन्म कोलकता में हुआ था. उन्होंने भगवान श्री कृष्ण के संदेश को पहुंचाने को लेकर इस्कॉन की स्थापना की. ISKON को International Society For Krishna Consciouness और अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ भी कहा जाता है. देश-विदेश के लोग पूरे भक्ति से इस मंदिर के भजन हरे रामा हरे कृष्णा को गुनगुनाते हैं. इस्कॉन ने वैदिक साहित्यों और भगवत गीता का 89 भाषाओं में अनुवाद किया है.

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities