ब्रेकिंग
ताजनगरी में पुलिस ने जबरन उठाया किसानों का धरनास्कूल बना स्वीमिंग पूल, हेड मास्टर ने प्रधान को दोषी ठहरायाअंधविश्वास ने ली महिला की जान, नहीं मिला उपचारभारतीय संस्कृति सारे विश्व में निराली है : संघ संपर्क प्रमुख रामलालनरेंद्र गिरि का शव फांसी पर था तो कैसे चलता रहा पंखा? चौंकाने वाला वीडियो आया सामनेEtah: भारत से गए पाकिस्तानियों के नाम अभी भी दर्ज है जमीन, प्रशासन ने की कार्रवाईSiddharthnagar : हॉस्पिटल में हुई चोरी का हुआ खुलासा, पुलिस ने पांच चोरों को धरदबोचाएटा: खुलेआम अवैध शराब बिक्री करते युवक का वीडियो हुआ वायरल, आरोपी गिरफ्तारकुछ कहूं…लोकतंत्र में बाबूराज…आखिर ? अनिच्छा से पंच तत्व में विलीन हुए महंत नरेंद्र गिरि

सब्जियों और पौधों की बीमारी बताएगा अल्ट्रामाइक्रोटॉम टेस्टिंग मशीन

हिमाचल प्रदेश के किसानों और बागवानों को उनके उपजों में लग रही बीमारियों का अब बहुत जल्द पता चल सकेगा। इस दौरान उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी ने इसके लिए 2.63 करोड़ से जर्मनी की अल्ट्रामाइक्रोटॉम टेस्टिंग मशीन बनाई है। प्रदेश में इस प्रकार की यह पहली आधुनिकतम मशीन है। सब्जियां, फूल,फल, सेब और अन्य पौध के अतिरिक्त गेहूं और मक्का की फसलों में लगने वाली बीमारियों का यह मशीन एक घंटे में पता लगा देगी। बागवान- किसान अपने उत्पादों का खराब होने से पहले इसका इलाज कर पाएंगे। 

प्रदेश में किसान अनेक तरह के फल और सब्जियां उगाते हैं। नई तकनीक के अभाव में पहले फल-सब्जियों की बीमारी का बहुत दिनों के बाद पता चलता था। इससे किसानों को बहुत नुकसान होता था। इस परेशानी से निपटने के लिए विश्व बैंक पोषित हिमाचल प्रदेश बागवानी विकास परियोजना के तहत नौणी विवि में अल्ट्रामाइक्रोटॉम मशीन जर्मनी से 2.63 करोड़ रुपये में खरीदी है। इसे विवि के प्लांट पैथोलॉजी विभाग में स्थित किया गया है। यह मशीन फाइटोप्लाज्म जैसे रोगजनकों के फ्लोरोसेंट माइक्रोस्कोपी में अन्वेषण के लिए बहुत महत्व रखती है। इस मशीन में सेब में भी पैथोजन से फैलने वाले बीमारियों को जांचा जाएगा।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities