ब्रेकिंग
Auraiya: पिछड़ों को मंत्री बनाना भाजपा की चाल- त्रिवेणी पालTEAM INDIA का नया कोच: मुख्य कोच पद के लिए द्रविड़ ने किया आवेदनप्रमोशन में रिजर्वेशन मामला: केंद्र और राज्य सरकारों की दलीलें पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसलाSiddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरू

नरेंद्र गिरि का शव फांसी पर था तो कैसे चलता रहा पंखा? चौंकाने वाला वीडियो आया सामने

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष की संदिग्ध मौत के मामले में एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आया है… सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा ये वीडियो घटना के ठीक बाद पुलिस के पहुंचने के दौरान का है… सबसे खास बात ये है कि इसमें फर्श पर महंत का शव लेता हुआ दिखाई दे रहा है और कमरे का पंखा चल रहा है… वीडियो में आईजी केपी सिंह इस बाबत मठ में रहने वाले शिष्यों से पूछताछ करते भी दिख रहे हैं.
1.45 सेकेंड का यह वीडियो उस कमरे का है… जिसमें महंत का शव फंदे पर लटका मिला… वीडियो शुरू होते ही महंत नरेंद्र गिरि का शव फर्श पर पड़ा नजर आता है और बगल में ही महंत के कथित सुसाइड नोट में उत्तराधिकारी बताए गए बलबीर गिरि खड़े नजर आ रहे हैं… वीडियो के अगले फ्रेम में एक फोटोग्राफर और एक दरोगा नजर आते हैं… इसके बाद कैमरा कमरे में पड़े बिस्तर और वहां सजाई गईं तस्वीरों और सर्टिफिकेट की ओर घूमता है… कुछ ही देर बाद आईजी केपी सिंह कमरे के दरवाजे पर खड़े महंत के शिष्यों से यह पूछताछ करते नजर आते हैं कि पंखा चल रहा था या इसे किसी ने चलाया। इस पर सुमित नाम का शिष्य पहले यह कहता है कि पंखा उसने चलाया। लेकिन जब आईजी उससे इस बारे में दोबारा पूछते हैं तो वो इसका जवाब न देकर बात को घुमा जाता है.

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities