ब्रेकिंग
Auraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरूEtah: 100 प्रतिशत टीकाकरण करवा कर ग्रामीणों ने की मिसाल कायमMahoba: झाड़ियों में लावारिस पड़ा मिला नवजात शिशु, गांव में एक साल के अंदर यह दूसरी घटनाMahoba: सिंचाई विभाग का अजब कारनामा, मृतक किसानों के खिलाफ पुलिस को दी तहरीरएटा को मिली बड़ी सौगात, पीएम मोदी ने किया मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण

पीएम मोदी ने जारी किया 125 रुपये का सिक्का

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की 125 वीं जयंती के अवसर पर 125 रुपये का एक स्मारक सिक्का, Commemorative Coin जारी किया है. इस सिक्के को उन्होंने International Society for Krishna Consciousness – ISKCON) के संस्थापक श्री भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की 125वीं जयंती पर जारी किया है. आपको बता दें कि इस्कॉन को को “हरे कृष्ण आन्दोलन” के नाम से भी जाना जाता है. श्रीकृष्णकृपा श्रीमूर्ति श्री अभयचरणारविन्द भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपादजी ने 1966 में इस संस्थान की स्थापना न्यूयॉर्क में की थी।

पीएम मोदी ने यह स्मारक सिक्का वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जारी किया है. जिसके बाद Prime minister ने Swami Prabhupada को एक पारलौकिक कृष्णभक्त बताया और कहा कि वह एक विशाल देश भक्त भी थे.

स्वामी प्रभुपाद कौन है जानें
1 सितंबर 1896 को स्वामी प्रभुपाद का जन्म कोलकता में हुआ था. उन्होंने भगवान श्री कृष्ण के संदेश को पहुंचाने को लेकर इस्कॉन की स्थापना की. ISKON को International Society For Krishna Consciouness और अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ भी कहा जाता है. देश-विदेश के लोग पूरे भक्ति से इस मंदिर के भजन हरे रामा हरे कृष्णा को गुनगुनाते हैं. इस्कॉन ने वैदिक साहित्यों और भगवत गीता का 89 भाषाओं में अनुवाद किया है.

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities