ब्रेकिंग
पश्चिम में मचा कोहराम, ध्रुवीकरण की सियासत में कौन किस पर भारी!Goa Election: बीजेपी ने छह प्रत्याशियों की लिस्ट की जारी, जानिए किसे-किसे मिला टिकटMouni Roy Haldi Ceremony: मौनी रॉय-सूरज नांबियार की हल्दी फोटोज-वीडियोज हुए वायरलरेल मंत्री अश्विनी वैष्णव की छात्रों से अपील, रेलवे आपकी संपत्ति हैं, इसे सुरक्षित रखेंRRB NTPC: धांधली के विरोध में छात्रों का लगातार तीसरे दिन प्रदर्शन जारी, ट्रेन में लगाई आगपति से बगावत स्वाति को पड़ा महंगा, कटा टिकट! क्या पति के खिलाफ लड़ेंगी चुनाव?Chhattisgarh: सीएम भूपेश बघेल ने कर्मचारियों को दी बड़ी सौगातराफेल विमान पायलट शिवांगी सिंह ने गणतंत्र दिवस परेड में लिया हिस्सायूपी में सरकारी दफ्तरों के कर्मचारियों के लिए नई गाइडलाइन जारीजम्मू-कश्मीर के लाल चौक पर पहली बार फहराया गया तिरंगा, लोगों में दिखा जोश

हिंदू और मुस्लिम एक ही वंश के हैं और भारत का प्रत्येक नागरिक एक हिंदू है: RSS

मुंबई में  पुणे स्थित ग्लोबल स्ट्रेटेजिक पॉलिसी फाउंडेशन की तरफ से हो रहे एक कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने कि कहा कि हिंदू और मुस्लिम एक ही वंशज के हैं और भारत का हर नागरिक एक हिंदू है। बुद्धिमान मुस्लिम नेताओं को हठधर्मियों के विरुद्ध मजबूती से खड़ा होना चाहिए। वहीं, उन्होंने मुस्लिम बुद्धिजीवियों से भी मुलाकात की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि भारतीय शब्द जन्मभूमि पूर्वजों और भारतीय संस्कृति के समान था। यह अन्य भावों का तिरस्कार नहीं है। हमें भारतीय प्रभुता प्राप्त करने के बारे में सोचना होगा, न कि मुस्लिम प्रभुत्व के बारे में। उन्होंने कहा कि इस्लाम आक्रमणकारियों के साथ भारत आया। यह वृत्तांत है और इसे ऐसे ही बताया जाना चाहिए। बुद्धिमान मुस्लिम नेताओं को व्यर्थ मसलों का प्रतिरोध करना चाहिए और कट्टरपंथियों के विरुद्ध मजबूती से खड़ा होना चाहिए। जितनी शीघ्र हम ऐसा करेंगे, हमारी संस्था को उतनी ही कम क्षति पहुंचेगी।

उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म के लोग कभी किसी से बैर नहीं रखते। वो सभी का कल्याण सोचते हैं। इसलिए दूसरे के मत का यहां अपमान नहीं हो सकता। जो ऐसा सोचता है, वह धर्म से चाहे कुछ भी हो, वह हिंदू है। भारत महाशक्ति बनेगा, लेकिन वो किसी को डराएगा नहीं। भारत विश्वगुरु के रूप में महाशक्ति बनेगा। संघ प्रमुख भागवत ने कहा कि जो लोग देश को तोड़ना चाहते हैं, वे यह कहने का प्रयास करते हैं कि ‘हम एक साथ नहीं हैं, हम अलग हैं’। ऐसे लोगों के भड़कावे में कभी नहीं आना चाहिए और किसी के जैसा नहीं बनना चाहिए। हम एक राष्ट्र हैं। हम एक राष्ट्र के रूप में संगठित रहेंगे। 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities