ब्रेकिंग
Auraiya: पिछड़ों को मंत्री बनाना भाजपा की चाल- त्रिवेणी पालTEAM INDIA का नया कोच: मुख्य कोच पद के लिए द्रविड़ ने किया आवेदनप्रमोशन में रिजर्वेशन मामला: केंद्र और राज्य सरकारों की दलीलें पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसलाSiddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरू

नोएडा-दिल्ली एयरपोर्ट से सस्ता होगा हवाई सफर करना

नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा यात्री किराये में आइजीआइ एयरपोर्ट दिल्ली को कड़ी स्पर्धा दे सकता है। प्रदेश में विकासकर्ता कंपनी यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट ने सत्तारूढ़ योगी आदित्यनाथ सरकार से Mega Investment Policy  के अंतर्गत विमानन परियोजना के लिए मिलने वाली छूटों की मांग की है।

आपको बता दें कि, यदि प्रदेश सरकार इसे अंगीकार  कर लेती है तो Noida International Airport से उड़ान भरने वाले विमानों के यात्री किराये आइजीआइ एयरपोर्ट दिल्ली के मुकाबले में कम हो सकते हैं।

सरकार ने उत्तर प्रदेश में बड़े औद्योगिक निवेश को आकर्षित करने के लिए Mega Investment Policy  लागू कर रखी है। इसके अंतर्गत प्रदेश में निवेश करने पर सरकार की तरफ से कई छूट मिलती है। प्रदेश सरकार ने एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी के साथ हुए राज्य समर्थन समझौता में नियम के अनुसार मिलने वाली सारी सुविधाएं और रियायत देने का समझौता किया था। इन रियायतों को यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ने लेने के लिए प्रदेश सरकार में आवेदन किया है। सूत्रों के अनुसार,  मान्य होने पर विकासकर्ता को बिजली शुल्क, ब्याज में सब्सिडी, जीएसटी में रियायत, कर्मचारियों के पीएफ की अदायगी, पानी के शुल्क में रियायत आदि मिल सकती हैं। इससे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, आइजीआइ एयरपोर्ट से किराये में प्रतिस्पर्धा करते हुए यात्रियों को लुभाने में सफल हो सकता है।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उत्थान कार्यो की उन्नति की समीक्षा की गई। वहीं, नियाल व विकासकर्ता कंपनी के अधिकारियों ने जमीन की नपाई और अंकन जमीन के एकीकरण की समीक्षा की। इसी के साथ ही यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट लि. की पहली AGM हुई। 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities