ब्रेकिंग
Auraiya: पिछड़ों को मंत्री बनाना भाजपा की चाल- त्रिवेणी पालTEAM INDIA का नया कोच: मुख्य कोच पद के लिए द्रविड़ ने किया आवेदनप्रमोशन में रिजर्वेशन मामला: केंद्र और राज्य सरकारों की दलीलें पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसलाSiddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरू

औरेया: दरोगा ने पेश की इंसानियत की मिसाल, नहर से खुद निकाली गली-सड़ी लाश

औरेया: जहां एक ओर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए जाते हैं। तो, कुछ पुलिस वाले अपनी बहादुरी के लिए भी जाने जाते हैं। एक सड़ी गली लाश नहर में कई दिनों से पानी में पड़ी हो और उसको निकालने के लिए कोई तैयार न हो रहा हो। ऐसी स्थिति में एक जाँबाज़ सब इंस्पेक्टर ने यह काम किया। सब इंस्पेक्टर खुद ही अपनी जान की परवाह किए बगैर नहर में कूद पड़े और सड़ी गली लाश को बाहर निकाला। यह काम औरेया जिले के मलगवां चौकी इंचार्ज अरबिंद तरार ने किया। जब लोग दूर से तमाशा देख रहे थे। किसी ने हिम्मत नहीं जुटा पाया की उस लाश को नहर से बाहर निकाले।

ऐसे में औरेया पुलिस की बहादुरी कहे या मानवता नहर में बहते हुए शव की सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची। नहर पर गोताखोर की तलाश की गई मगर गोताखोर न मिलने पर अजीतमल कोतवाली के मलगवां चौकी इंचार्ज अरविंद तरार ने खुद ही कपड़े उतार कर नहर में घुस कर डेड बॉडी को निकाला। लेकिन किसी ने नहर में कूदने की हिम्मत नहीं जुटाई सब तमाशा देख रहें थे। मगर सब इंस्पेक्टर ने खुद की जान जोखिम में डाल कर बहते नहर से शव को बाहर निकाला। जब की शव पूरी तरह से सड़ चुकी थी।यह घटना अजीतमल कोतवाली के मलगवां चोकी के पास शाहपुर नहर की है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities