ब्रेकिंग
Panchang: आज का पंचांग 25 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 24 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 23 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयकानपुर हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन आया सामने, सर्विलांस पर लगे मोबाइलों से हुआ बड़ा खुलासाबाँदा में प्राधिकरण और निबंधन की मिलीभगत से प्लाटिंग के नाम पर हो रही है खुली डकैती ,आप भी हो जाइए सावधान!Panchang: आज का पंचांग 22 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयशिवसेना में लगातार बढ़ रही है बागी विधायकों की संख्या, अब तक 42 MLA ने ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोलाऑटो रिक्शा चलाने और रिवॉल्वर-पिस्टल रखने वाले इस नेता ने ठाकरे को दी चुनौती, महाराष्ट्र की महा विकास आघाडी सरकार गिरने की शुरू हुई उल्टी गिनतीएक ‘महिला मस्साब’ कैसे चुनीं गईं एनडीए के राष्ट्रपति की उम्मीदवार, पीएम नरेंद्र मोदी ने इन बड़े नामों के बजाए द्रौपदी पर क्यों लगाया दांवअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सीएम योगी का दिखा अनोखा अंदाज, तस्वीरों में देखें कैसे दिया स्वस्थ जीवन का संदेश

ज्ञानवापी को लेकर अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन जारी, बोले- जब विचाराधीन कैदी को भोजन-पानी पहुंचता है तो शिवलिंग को क्यों नहीं

रिपोर्ट- नितिन ठाकुर
वाराणसी में मुमुक्षु भवन के दंडी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन चौथे दिन भी जारी है। वो ज्ञानवापी परिसर में पूजा की मांग को लेकर शनिवार सुबह से श्री विद्या मठ में अनशन पर बैठे हुए हैं। आज भी उन्होंने अन्न और जल ग्रहण नहीं किया है।

उनका कहना है कि प्राणधारी देवता को तीन साल के बालक के समकक्ष समझा जाता है। ऐसे में ज्ञानवापी क्षेत्र में प्रकट हुए भगवान आदि विश्वेश्वर को भी अन्न जल पहुंचना चाहिए। उन्होंने सवाल उठाया कि जब हत्या के मामले में विचाराधीन कैदी को भी भोजन-पानी की व्यवस्था की जाती है तो भगवान विश्वेश्वर को अन्न जल क्यों नहीं दिया जा रहा। इससे उनका हृदय आहत है।

दूसरी तरफ डॉक्टरों का कहना है कि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद की तबीयत लगातार बिगड़ रही है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद का रूटीन चेक-अप करने के लिए सोमवार शाम को डॉक्टरों की टीम श्री विद्या मठ पहुंची थी। जांच के बाद डॉक्टरों ने बताया कि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद की सेहत तेजी से गिर रही है। वो अन्न और जल ग्रहण नहीं कर रहे हैं। इस भीषण गर्मी में अन्न- जल के बिना रहना सेहत के लिए हानिकारक है।

डॉक्टरों ने अविमुक्तेश्वरानंद से जब पानी पीने के लिए कहा तो उन्होंने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि जब तक आदि विश्वेश्वर की पूजा शुरू नहीं हो जाती है तब तक मैं अन्न और जल को हाथ तक नहीं लगाऊंगा।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities