ब्रेकिंग
Auraiya: पिछड़ों को मंत्री बनाना भाजपा की चाल- त्रिवेणी पालTEAM INDIA का नया कोच: मुख्य कोच पद के लिए द्रविड़ ने किया आवेदनप्रमोशन में रिजर्वेशन मामला: केंद्र और राज्य सरकारों की दलीलें पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसलाSiddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरू

Ayodhya: जगद्गुरु परमहंस आचार्य ने वेद मन्त्रों से किया कफन पूजन

अनिल निषाद, अयोध्या

अयोध्या में तपस्वी छावनी क्षेत्र आश्रम में चलाए जा रहे धर्म संसद में महंत जगद्गुरु स्वामी परमहंस दास ने केंद्र और राज्य सरकार को आगाह किया है कि यदि 2 अक्टूबर तक भारत देश को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया तो, वह शरीर सहित जल समाधि ले लेंगे। जिसका उत्तरदायित्व केंद्र सरकार का होगा। इस धर्म संसद में देश के कोने-कोने से संत शामिल हुए। सनातन धर्म संसद में एक सुर से यह ऐलान किया गया कि अब मात्र हिंदुस्तान ही हिंदुओं का ठिकाना है और कोई स्थान नहीं रह गया है। हम ईरान, इराक और अफगानिस्तान जैसे राष्ट्र जो पहले हिंदू था। लेकिन आज समाप्ति की ओर है। अब मात्र भारत भूमि ही बची है। जहां पर हम सुरक्षित हैं। अब चार बीबी, 40 बच्चे पैदा करने वालों को यहां से बाहर करना ही होगा। हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं। कि अनुच्छेद 368 में संशोधन करके भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करें। यदि ऐसा नहीं हुआ तो हमारा अंत निश्चित है और हम अभी खत्म होने के लिए तैयार नहीं हैं। यहां से ईसाइयों और मुसलमानों को जाना ही होगा। स्वामी परमहंस दास ने कहा कि देश के मठ और मंदिर 1 सुर से यह मांग करते हैं। कि हमारे देश को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाये। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और मुख्यमंत्री को हमने पत्र के द्वारा यह सूचित कर दिया है। कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने का बिल पास करें।

आपको बता दें कि स्वामी परमहंस दास इससे पहले 16 दिन का आमरण अनशन कर चुके हैं। जिन के अनशन को गृह मंत्री अमित शाह के आश्वासन पर तोड़ा गया था। उन्होंने एक बार पुनः अपनी मांग को दोहराते हुए कहा कि यहां से ईसाइयों और मुसलमानों की नागरिकता समाप्त कर भारत को हिंदू राष्ट्र बनाया जाए। यदि ऐसा नहीं हुआ तो हम सरयू जी में जल समाधि लेंगे।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities