ब्रेकिंग
इस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरूEtah: 100 प्रतिशत टीकाकरण करवा कर ग्रामीणों ने की मिसाल कायमMahoba: झाड़ियों में लावारिस पड़ा मिला नवजात शिशु, गांव में एक साल के अंदर यह दूसरी घटनाMahoba: सिंचाई विभाग का अजब कारनामा, मृतक किसानों के खिलाफ पुलिस को दी तहरीरएटा को मिली बड़ी सौगात, पीएम मोदी ने किया मेडिकल कॉलेज का लोकार्पणAgra: नए एसएससी सुधीर कुमार सिंह ने संभाला चार्ज, कहा अपराधियों पर कसेगा शिकंजा

Ayodhya Ram Mandir: श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य में दिखी तेजी, जल्द पूरा होगा नींव का काम

अनिल निषाद, अयोध्या

रामनगरी में बहुप्रतीक्षित राम मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है। नींव निर्माण महज दो दिन में पूरा हो जाएगा। ऐसे में देश के करोड़ों राम भक्तों में उत्सुकता है. कि उनके आराध्य प्रभु राम का मंदिर कैसे और किस तरह बन रहा है। इसके लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने बीते एक साल में पहली बार मीडिया की स्पॉट विजिटिंग कराई। नींव का काम लगभग पूरा हो गया है। दो दिन काम और  बचा है। वहीं, आज बारिश के बीच भी नींव का काम जारी है। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि राम मंदिर निर्माण कार्य का पहला चरण लगभग पूरा हो गया हैं। 98 प्रतिशत घनत्व की ढाली गई चट्टान मंदिर को मजबूत आधार देगी। 11 हजार घन मीटर के क्षेत्रफल में कंकरीट की 47 लेयर बनकर तैयार हैं। मंदिर के क्षेत्रफल से लगभग डेढ़ गुनी एरिया में कंकरीट की लेयर ढाली गई। अब तक मंदिर के गर्भगृह के स्थान पर जमीन के नीचे 14 क्यूबिक मीटर और शेष स्थान पर 12 क्यूबिक मीटर चट्टान की ढलाई हुई। भारी बारिश के कारण नींव 48 वीं लेयर का कार्य प्रभावित है। पिछले 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश के चलते निर्माण कार्य प्रभावित हैं। इसलिये मंदिर के नींव की 48 लेयर बाकी मंदिर निर्माण के अगले चरण में तेजी से कार्य एजेंसिंया करेगी। वहीं, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र महासचिव ने दावा किया हैं। कि मंदिर निर्माण का दूसरा चरण 2 महीने में पूरा हो जाएगा। तीसरे चरण में तीन से चार महीने का समय लग सकता है। तो वहीं, लार्सन एंड टुब्रो के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मेहता ने बताया कि 40 फिट नीचे तक खुदाई कर मलबा हटाया गया हैं। गिट्टी हल्का सा सीमेंट और कम पानी के मिक्सर इंजीनियरिंग फील्ड मैटेरियल से नींव भराई किया गया। 48 लेयर बनाते हुए ऊपर आ रहे है। जिसमें 1 फुट की एक लेयर है। उसको वाइब्रेटर रोलर से रोल कर 250 एमएम बनाया जाता है। उन्होंने बताया 47 लेयर पूरी 48 वी लेयर बनाई जा रही है। उंसके बाद 1.5 मीटर की राफ्ट ढाला जाएगा। राफ्ट के ऊपर 6 से 7 मीटर तक ऊपर मिर्जापुर के पत्थर से प्लिंथ बनेगी।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities