ब्रेकिंग
Siddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरूEtah: 100 प्रतिशत टीकाकरण करवा कर ग्रामीणों ने की मिसाल कायमMahoba: झाड़ियों में लावारिस पड़ा मिला नवजात शिशु, गांव में एक साल के अंदर यह दूसरी घटनाMahoba: सिंचाई विभाग का अजब कारनामा, मृतक किसानों के खिलाफ पुलिस को दी तहरीर

अयोध्या: संतो ने किया आह्वान, भारत हो हिंदू राष्ट

अनिल निषाद, अयोध्या

अयोध्या भूमि पर पहुंचे संतो ने देश के केद्रीय नेतृत्व को एक साफ संदेश दिया है कि अब वह समय आ गया है। जब भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए। संत सनातन में उपस्थित संतों का एक सुर में  कहना है कि जब मुसलमानों को पाकिस्तान और बांग्लादेश दे दिया गया। फिर उनका यहां पर नैतिक अधिकार खत्म हो जाता है और भारतीय नेतृत्व इस मसले को गंभीरता से लेते हुए जल्द से जल्द भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करें।

भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए तपस्वी छावनी में संत सनातन धर्म संसद आयोजित हुआ। इस संत सनातन धर्म संसद में तपस्वी छावनी के जगत गुरू परमहंस ने दावा किया कि शाम तक छावनी में संतो का भारी जमावड़ा होगा। इस आयोजन में हजारों की संख्या में संतो ने संत सनातन धर्म संसद में हिस्सा लिया हैं। धर्म संसद में संतों ने सरकार से की मांग। जब भारत का पार्टीशन धर्म के आधार पर हुआ और पाकिस्तान बांग्लादेश मुसलमानों को दे दिया गया वो चंद मुसलमानों के लिए नहीं भारत के सभी मुसलमानों के लिए किया गया पार्टीशन उसी आधार पर पाकिस्तान बांग्लादेश दिया गया है। हिंदुस्तान में जहा मुस्लिम ज्यादा हो गए हैं। वहां से हिंदू पलायन कर रहें है। हिंदुओं का धर्मांतरण कराया जा रहा है। यह दुखद है। ईसाई मिशनरियां लोभ, लालच देकर हिंदुओं का करवर्जन करा रही है। देश में इस्लामिक संगठनों के लाखों मौलाना जैसे मौलाना जहांगीर, मौलाना उमर अभी हाल में पकड़े गए हैं। अभी लाखों मौलाना ऐसे हैं जो हिंदुओं को मुसलमान बनाने में लगे हुए हैं।  इसलिए भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए। ईसाई और मुसलमानों की नेशनलिटी खत्म की जाए।  देश के पार्टीशन के समय उन्होंने कहा कि हम हिंदुओं के साथ नहीं रह सकते। तो, दो विपरीत विचारधारा के लोग एक साथ कैसे रहेंगे। भारत में जितने भी संत हैं। उनको एक लाख रूपए महाना सरकार दें। देश में संतो की संख्या कम हो रही है। कुछ संतो की हत्या तो, कुछ संत कर रहें हैं आत्महत्या। देश के सभी मठ मंदिरो का बिजली पानी माफ करें सरकार। सरकार गाय को राष्ट्रमाता, रामचरितमानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित करें। भारतीय संस्कृति बचाने के लिए सरकार प्रयास करें। जिस तरीके से भारतीय संस्कृति समाप्त हो रही है और जब तक हिंदू बहुसंख्यक में हैं। तभी तक है देश में  संविधान और लोकतंत्र जीवित है। जिस दिन मुस्लिमों की तादाद बड़ जाएगी। उस दिन लोकतंत्र संविधान अदालतें सब खत्म हो जाएंगा। देश के सभी तीर्थ स्थानों के चार किलो मीटर के परिधि में मांस मदिरा पर  प्रतिबंध लगाया जाएं। तभी देश के तीर्थों का तीर्थतत्व सुरक्षित रहेगा। संतों ने कहा, कि मुगल आक्रांतायों को महान ना बताया जाए, वीर शिवाजी, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, महाराणा प्रताप हमारे देश भक्तों को उन सभी पाठ्यक्रमों में पढ़ाया जाना चाहिए। जिससे आने वाली पीढीं इनके बारे में जानकार गर्व महसूस करें। मुगलों ने लगभग 40 लाख हमारे मंदिरों को तोड़ा था। अभी मथुरा काशी का विवाद चल रहा है। उसका भी पटाक्षेप होना चाहिए। एक तारीख को भारत के कोने-कोने से हिंदूवादी संगठन अयोध्या आएंगे । दो  तारीख को सरकार अगर कोई आश्वासन नहीं देती है। तो मैं जगत गुरू परमहंस सरजू जी में जल समाधि लूंगा। हो सकता है मेरे मरने के बाद मेरी श्रद्धांजलि पर केंद्र सरकार इस मुद्दे पर विचार करें।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities