बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

नीतीश-तेजस्वी की काट का अमित शाह ने तैयार ने किया प्लान, 2024 में इस तरह 37 सीटों पर खिलाएंगे ‘कमल का फूल’

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी से अलग होकर तेजस्वी यादव के साथ महागठबंधन की सरकार बना ली है। ऐसे में बीजेपी मिशन 2024 को लेकर मंगलवार को नई दिल्ली स्थित बिहार से जुड़े पार्टी के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह भी शामिल हुए। बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह ने जीत का रोडमैप नेताओं को बताया। साथ ही 40 में से 37 सीटों पर कमल का फूल खिलाने का प्लान भी समझाया।

पोल-खोल अभियान चलाएगी बीजेपी
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में बिहार से आए पार्टी के नेताओं के साथ दिल्ली में बैठक हुई। जिसमें पदाघिकारियों को बताया है कि, हर हाल में राज्य की 40 में से 37 सीटों पर जीत दर्ज करनी है। ऐसे में सीएम नीतीश कुमार के खिला। पोल-खोल अभियान पार्टी चलाएगी। अमित शाह और नड्डा रैली भी करेंगे। इसमें बढ़ते अपराध के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया जाएगा। इसके अलावा आरजेडी के करप्ट मंत्रियों के बारे में घर-घर जाकर लोगों को कार्यकर्ता बताएंगे।

बीजेपी का बूथों पर फोकस
बीजेपी चुनाव से पहले बिहार में अपने संगठन को और तेज धार देगी। पन्ना प्रमुख से लेकर बूथ लेबल तक कार्यकर्ताओं की नियुक्ति की जाएगी। सूत्र बताते हैं कि, बीजेपी यूपी की तर्ज पर बिहार में चुनाव लड़ने की रणनीति बनाई है। पार्टी का फोकस शहरों के साथ-साथ गांवों में रहेगा। 2019 के लोकसभा चुनाव में जो सीटें बीजेपी हारी थी, उन-उन सीटों पर जीत के लिए युवाओं की टोली लगाई जाएगी। पार्टी की रणनीति जेडीयू और आरजेडी को सियासी अखाड़े में घेरकर चित करनी की है।

चाचा-भतीजे का होगा मिलन
बीजेपी टूटी हुई लोजपा को फिर से जोड़ने पर काम करेगी। चाचा पशुपति पारस और भतीजा चिराग पासवान को फिर से एक छत के नीचे लाया जाएगा। बीजेपी संगठन और सदन में नए चेहरे को लाने की तैयारी में है, जिससे नीतीश कुमार से सीधी लड़ाई लड़ी जाए। पार्टी अपरकास्ट पर विशेष फोकस केरगी। बैठक में पूर्व केंद्ररय मंत्री रविशंकर प्रसाद, मंत्री गिरिराज सिंह, शहनवाज के अलावा कई अन्य नेता मौजूद रहे। सबने जीत की रणनीति को लेकर अपनी-अपनी बात रखी।

आरसीपी सिंह पर भी बीजेपी की नजर
नीतीश के सहयोगी रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह पर भी बीजेपी की नजर है। सियासी गलियारों की चर्चा के मुताबिक सिंह 2024 में नीतीश के गृह क्षेत्र नालंदा से चुनाव लड़ सकते हैं। हाल ही में उन्होंने जेडीय से इस्तीफा दिया था। पार्टी पूरी ताकत के साथ आरसीपी सिंह के साथ खड़ी होगी। सूत्र बताते हैं कि जेडीयू के इस नेता के जरिए बीजेपी आने वाले दिनों में नीतीश कुमार को लेकर कई सनसनीखेज खुलासे कर सकती है।

इस वजह से बिहार पर है नजर
बता दें, बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं। साथ ही उत्तर प्रदेश, झारखंड और बंगाल बॉर्डर जुड़े होने की वजह से 10 और सीटों को यहां के मतदाता प्रभावित करते हैं। इसलिए बिहार को लेकर पॉलिटिकल पार्टियों का विशेष फोकस रहता है। खुद जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा था कि, यदि महागठबंधन बीजेपी को 40 सीटों पर हरा दे तो 2024 में नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री नहीं बन सकते।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities