बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

आठवीं पास हैं बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, क्रिकेट की पिच को छोड़कर सियासत में आए लालू के लाल पर दर्ज हैं सबसे ज्यादा मुकदमे, जानें कितने यादव-मुस्लिम विधायक बनाए गए मंत्री

पटना। बिहार में नीतीश कुमार की सरकार के 31 मंत्रियों ने मंगलवार को शपथ ली। जिसमें सबसे कम पढ़े लिखे लालू यादव के बेटे व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव हैं। वह आठवीं पास हैं। क्रिकेट की पिच को छोड़कर राजनीति में आए तेजस्वी यादव के खिलाफ सबसे ज्यादा करीब 11 मुकदमे दर्ज हैं। वहीं नई सरकार में यादव और मुस्लिम समाज के 12 विधायकों को मंत्री बनाया गया है।

क्रिकेट खेलते थे तेजस्वी
9 नवम्बर 1989 को गोपालगंज बिहार में जन्में तेजस्वी की पहली मोहब्बत तो क्रिकेट थी। 11 साल की उम्र में एमपी सिंह के क्लब में कोचिंग के लिए जाते थे। मीडिल ऑर्डर के बल्लेबाज तेजस्वी, मीडियम पेस बॉलिंग भी करते थे। तेजस्वी ने क्रिकेट करियर की शुरुआत साल 2009 में त्रिपुरा के खिलाफ टी-20 मैच से हुई। इसी साल उन्हें विदर्भ के खिलाफ रणजी मैच भी खेलने का मौका। 2008 से लेकर 2012 के बीच तेजस्वी चार सीजन दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) टीम का हिस्सा रहे। तेजस्वी दिल्ली की अंडर -17 और अंडर -19 क्रिकेट टीम में विराट कोहली के साथ भी खेल चुके हैं।

सबसे युवा मंत्री हैं तेजस्वी यादव
नई सरकार में 33 साल के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सबसे युवा मंत्री हैं। तेजस्वी ने चुनावी हलफनामे में खुद को क्रिकेटर बताया है। तेजस्वी नीतीश कैबिनेट के सबसे कम पढ़े-लिखें मंत्री हैं। बिहार के उप मुख्यमंत्री महज आठवीं पास हैं। वहीं नीतीश कैबिनेट में शामिल 15 मंत्री ऐसे हैं जिन्होंने चुनावी हलफनामे में खुद को किसान बताया है। वहीं, लघु जल संसाधन मंत्री जयंत राज ने खुद को समाज सेवी के साथ ही अपना डेयरी उद्योग होने की बात बताई है। गन्ना उद्योग मंत्री शमीम अहमद बीएएमएस डॉक्टर होने के साथ ही किसान भी हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हलफनामे में समाजसेवा को अपना पेशा बताया है।

सबसे कम पढ़े लिखे मंत्री हैं तेजस्वी यादव
नीतीश कुमार की कैबिनेट में सबसे कम पढ़े लिखे मंत्री उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव हैं। सात मंत्री ऐसे हैं जो सिर्फ 12वीं तक पढ़े हैं। इनमें चार जदयू कोटे से मंत्री बने हैं तो तीन राजद कोटे के हैं। 12वीं पास मंत्रियों में पर्यावरण मंत्री तेज प्रताप यादव, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री लेसी सिंह शामिल हैं। सबसे ज्यादा पढ़े लिखे मंत्रियों की बात करें तो तीन मंत्री ऐसे हैं जिन्होंने पीएचडी की हुई है। इनमें खान एवं भूतत्व मंत्री रामानन्द यादव, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी और अनुसूचित जाति, जनजाति कल्याण मंत्री संतोष कुमार सुमन शामिल हैं। 12 मंत्रियों के पास स्नातक की डिग्री है। इंजीनियर मंत्रियों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल हैं। 10 मंत्रियों के पास परास्नातक की डिग्री है।

24 मंत्रियों पर आपराधिक मुकदमे चल रहे
नीतीश कुमार की कैबिनेट में शामिल कुल 33 में से 24 मंत्रियों के पर आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं। नौ मंत्री ऐसे हैं जिनके ऊपर एक भी केस नहीं चल रहा है। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर सबसे ज्यादा 11 केस चल रहे हैं। तेजस्वी समेत चार मंत्री ऐसे हैं जिनके ऊपर पांच या पांच से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। इनमें तेजस्वी के भाई तेज प्रताप भी शामिल हैं। तेज प्रताप पर पांच मुकदमें चल रहे हैं। राजद कोटे से ही मंत्री बने सुरेंद्र यादव पर नौ तो राजद के ही जितेंद्र राय पर पांच केस चल रहे हैं।

मंत्रीमंडल में एमवाई फैक्टर
नीतीश की नई कैबिनेट में समाज के सभी वर्गों को शामिल करने की कोशिश की गई है। इसके साथ ही एमवाई समीकरण को फोकस किया गया है। नई कैबिनेट में यादव जाति से आने वाले सात विधायकों को मंत्री बनाया गया है। वहीं, मुस्लिम समाज से आने वाले पांच विधायक मंत्री बने हैं। नीतीश की पिछली एनडीए सरकार की कैबिनेट में भी चार मुस्लिम मंत्री थे। इसके साथ ही राजद ने अगड़ी जाति से आने वाले नेताओं को भी कैबिनेट में प्रतिनिधित्व देने का प्रयास किया है। राजद के कोटा से भूमिहार एमएलसी कार्तिकेय सिंह, राजपूत समाज से आने वाले सुधाकर सिंह को जगह मिली है। सुधाकर सिंह राजद के कद्दावर नेता जगदानंद सिंह के बेटे हैं। कांग्रेस के कोटे से दो मंत्री बने हैं। इनमें एक दलित समाज से आते हैं तो दूसरे मुस्लिम समाज से हैं।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities