ब्रेकिंग
नवाबगंज पुलिस ने नहीं सुनी शिकायत तो पिता ने बेटे की खुद शुरू की पड़ताल, सीसीटीवी फुटेज देकर थाना प्रभारी से ‘घर के चिराग’ को बचाने की लगाई फरियाद, पर लाश मिली ‘सरकार’गोकश और पुलिस के बीच फायरिंग की तड़तड़ाहट से थर्राया घाटमपुर, गोली लगने से इंस्पेक्टर समेत दो घायल’अग्निपरीक्षा’ में पास हुए एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र की नवनियुक्त सरकार ने जीता विश्वास मत, जानें कांग्रेस-एनसीपी के आठ विधायक वोटिंग से क्यों रहे दूरदोस्ती पर भारी पड़ गया ‘नफरत’ वाला खंजर’, गला काटने के बाद अंतिम संस्कार में शामिल हुआ ‘जल्लाद’…हैलो मैं अल कायदा का सदस्य बोल रहा हूं, ‘महामंडलेश्वर आपके साथ गृहमंत्री अमित शाह और सीएम योगी को बम से उड़ा दूंगा’राजीव नगर में अतिक्रमण हटाने पहुंचे नगर निगम के दस्ते पर हमला, एसपी समेत कई पुलिसकर्मी घायल, 17 जेसीबी के साथ दो हजार जवानों ने 70 घरों को ढहायाSpecial story on anniversary of bikru case – ऐसा था विकास दुबे कानपुर वाला, 2 जूलाई को बहाया ‘खाकी के खून का दरिया’उदयपुर केस में सामने आई सनसनीखेज साजिश, दरिंदों ने 2013 में खरीदी ‘2611’ वाली तारीखISIS स्टाइल में उदयपुर के बाद अमरावती में हत्या, दरिंदों ने चाकू से दवा कारोबारी का गला काटाउदयपुर के कन्हैया हत्याकांड में शामिल थे 5 आतंकी, अपने साथियों को बचाने के लिए दुकान के पास खड़े थे दो आतंकी

Bulli Baiapp के जरिए मुस्लिम महिलाओं की नीलामी गैंग का हुआ खुलासा, सरगना महिला देहरादून से गिरफ्तार।

Bulli Bai app के जरिए मुस्लिम महिलाओं की ऑन लाइन नीलामी करने और उनके खिलाफ अपमानजनक कैंपेन चलाने की मास्टरमाइंड उत्तराखंड के देहरादून की एक महिला निकली। मुंबई पुलिस के साइबर सेल की टीम ने देहरादून से उस महिला को गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें कि मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ चलाए जा रहे नफरत भरे कैंपेन और उनकी ऑनलाइन नीलामी की साजिश उत्तराखंड की एक महिला ने अपने एक दोस्त के साथ मिलकर रची थी। Bulli Bai app के जरिए सोशल मीडिया पर दमदार तरीके से अपनी बात रखने वाली 100 जानी-मानी मुस्लिम महिलाओं को इसके लिए टारगेट किया गया था। उनकी तस्वीरों को आपत्तिजनक कंटेंट के साथ पोस्ट किया जा रहा था। इस्मत आरा नाम की दिल्ली की एक पत्रकार ने दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी।

पहले आपको बताते हैं कि आखिर क्या है Bulli Bai ऐप

इसे GITHUB पर बनाया गया है। यह एक होस्टिंग प्लेटफार्म है। जहां पर बहुत सारे ओपन सोर्स कोड मौजूद है।
इससे पहले 2020 में इसी GITHUB प्लेटफॉर्म पर SULLI DEALS APP आया था और तब भी उसके जरिए भी ऐसे ही किया जा रहा था। तब 2020 में दिल्ली और यूपी पुलिस कि साइबर सेल ने एक केस दर्ज किया था और दिल्ली पुलिस ने अमेरिका की GITHUB कंपनी से SULLI APP बनाने वाले का नाम पूछा था। लेकिन GITHUB तरफ से कोई जवाब नही आया। उसके बाद भी आज तक दिल्ली पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई जिसके बाद आप नए ऐप के जरिए मुस्लिम महिलाओं को निशाने पर लिया जा रहा है।

दरअसल, महिला और उसके दोस्त ने Bulli Bai app के माध्यम से उन महिलाओं को लेकर अपमानजनक और अभद्र बातें लिखी और उनकी बोली लगाने जैसा घिनौना काम किया। उसके बाद मुंबई पुलिस हरकत में आई और शातिर महिला के साथी को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए इस शख्स का नाम विशाल कुमार है। वो 21 साल का एक इंजीनियरिंग छात्र है। विशाल इस साजिश की मुख्य आरोपी महिला का दोस्त है। उत्तराखंड की रहने वाली मुख्य आरोपी महिला और विशाल कुमार दोनों एक दूसरे को पहले से जानते हैं। उस शातिर को महिला को हिरासत में लिया गया है। मुंबई पुलिस साजिशकर्ता महिला को ट्रांजिट रिमांड पर लेने के लिए उत्तराखंड की अदालत में पेश करेगी। पुलिस के मुताबिक, दोनों एक-दूसरे को जानते हैं। वे दोनों फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दोस्त हैं। इसलिए आसानी से दोनों लिंक होने की पुष्टि भी जांच में हो गई। इस शर्मनाक कांड की मुख्य आरोपी महिला Bulli Bai app से जुड़े तीन खाते संचालित कर रही थी। जबकि उसका शातिर दोस्त विशाल कुमार ने खालसा सुप्रीमिस्ट के नाम से खाता खोला था। ताकि लोगों को गलत फहमी हो और वो खालसा से मतलब ये निकालें कि इस साजिश के पीछे कोई सिख व्यक्ति है। लेकिन दोनों आरोपियों की साजिश को मुंबई पुलिस ने नाकाम कर दिया। 100 मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ ये साजिश बेहद शातिराना तरीके से रची गई थी। जिसके पीछे इन दोनों की नफरत और गंदी सोच थी। उत्तराखंड से पकड़ी गई उस शातिर महिला को मुंबई लाया जा रहा है।

 

Bulli Bai app को लेकर दिल्ली पुलिस भी एक्शन में आ गई है। दिल्ली पुलिस ने ट्विटर से Bulli Bai से संबंधित कंटेंट हटाने को कहा है। इतना ही नहीं, दिल्ली पुलिस ने ट्विटर से उस अकाउंट के बारे में जानकारी मांगी है। जिसने सबसे पहले ‘बुल्ली बाई’ को लेकर ट्वीट किया था। दिल्ली पुलिस ने गिटहब (GITHUB) से बुल्लीबाई बनाने वाले के बारे में भी जानकारी मांगी है। यह केस अब दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की साइबर यूनिट को ट्रांसफर किया गया है।

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities