बड़ी ख़बरें
जेम-टीटीपी के आतंकी को मिला था नूपुर को फिदायीन हमले से मारने का टॉस्क, सैफुल्ला ने इंटरनेट के जरिए वारदात को अंजाम देने की दी थी ट्रेनिंग, पढ़ें टेररिस्ट के कबूलनामें की ‘चार्जशीट’मध्य प्रदेश में नहीं रहेगा अनाथ शब्द, शिवराज सिंह ने तैयार किया खास प्लानजम्मू-कश्मीर की सरकार का आतंकियों के मददगारों पर बड़ा प्रहार, आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार को नौकरी से किया बर्खास्त, पैसे की व्यवस्था के साथ वैज्ञानिक चलाते थे आतंक की ‘पाठशाला’होर्ल्डिंग्स से हटाया सीएम का चेहरा, तिरंगे की शान में सड़क पर उतरे योगी, यूपी में 4.5 करोड़ राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्यबांदा में नाव पलटने की घटना में 6 और शव मिले, अब तक 9 की मौतपहले फतवा जारी और अब लाइव प्रोग्राम में सलमान रुश्दी पर चाकू से किए कई वार14 साल के बाद माफिया के गढ़ में दाखिल हुआ डॉन, भय से खौफजदा मुख्तार और बीकेडी ‘पहलवान’पुलिस के पास होते हैं ‘आन मिलो सजना’ ‘पैट्रोल मार’ ‘गुल्ली-डंडा’ और ‘हेलिकॉप्टर मार’ हथियार, इनका नाम सुनते ही लॉकप में तोते की तरह बोलने लगते हैं चोर-लुटेरे और खूंखार बदमाशखेत के नीचे लाश और ऊपर लहलहा रही थी बाजरे की फसल, पुलिस ने बेटों की खोली कुंडली तो जमीन से बाहर निकला बुजर्ग का कंकाल, दिल दहला देगी हड़ौली गांव की ये खौफनाक वारदातबीजेपी के चाणक्य को देश की इस पॉवरफुल महिला नेता ने सियासी अखाड़े में दी मात, पीएम मोदी से नीतीश कुमार की दोस्ती तुड़वा बिहार में बनवा दी विपक्ष की सरकार

‘बड़े साहब’ की ‘नामुकिन को मुमकिन’ करने की सनक ने करा दी किरकिरी, पहली बारिश में खंड-खंड हुआ पीएम नरेंद्र मोदी का ’बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे’

उरई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 जुलाई को जालौन के कैथेरी गांव में बंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया था। सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में पीएम मोदी ने अपने हाथों से बटन दबाकर बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे आम जनता के लिए खोल दिया था। लेकिन बुधवार से लेकर शुक्रवार के दिन हुई बारिश ने सरकार की किरकिरी कराने के साथ एक्सप्रेसवे के गुणवत्ता की पोल खोल दी है। बारिश के कारण बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का हिस्सा कई स्थानों पर बैठ गया। सड़क पर कई जगहों पर 2 से 3 फुट गहरे कई गड्ढे हो गए हैं। जिसके कारण कई 4 गाड़ियों सहित एक बाइक दुर्घटनाग्रस्त हो गई है। साथ ही कई यात्री घायल भी हुए हैं। क्षतिग्रस्त बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का वीडियो अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया में वायरल कर गंभीर आरोप लगाए हैं।

महज 28 माह में बनकर तैयार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुंदेलखंड के लोगों को बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे समर्पित किया था। उन्हें एक्सप्रेस वे की सौगात दी थी। चित्रकूट के भरतकूप से 296 किलोमीटर लंबा बना बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इटावा के पास जाकर आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे से मिलता है। प्रोजेक्ट के निर्माण में 14,800 करोड़ की लागत आई है। इस एक्सप्रेस-वे को जितनी तेजी के साथ बनवाया गया वह अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उत्तर प्रदेश सरकार ने ठेकेदारों को तय समय से कम समय में इसे तैयार करने के लिए दबाव डाला। 36 महीने का पूरा समय इस एक्सप्रेस-वे को बनने के लिए मुकर्रर किया गया था, लेकिन दो-दो करोना की लहर होने के बावजूद इस एक्सप्रेस-वे को महज 28 माह में बनकर तैयार हो गया।

अधिकारियों में अफरातफरी मच गई
छिरिया सलेमपुर के पास इटावा से चित्रकूट लेन पर किलोमीटर 195 के पास दो फीट चौड़ा, छह फीट लंबा और एक फीट गहरा गड्ढा हो गया। इसकी वजह से बुधवार रात कई वाहन चालक दुर्घटनाग्रस्त भी हुए। एक कार सवार ने दुर्घटनाग्रस्त होने पर वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। एक्सप्रेसवे पर गड्ढा होने की सूचना पर उप्र एक्सप्रेसवेज इंडस्ट्रियल डेवलेपमेंट अथॉरिटी (यूपीडा) के अधिकारियों में अफरातफरी मच गई। सुबह होते-होते यूपीडा के अधिकारी मौके पर जेसीबी मशीन लेकर पहुंच गए। गड्ढे को समतल करने के लिए खोदाई के बाद मरम्मत का काम शुरू करवाया। अधिकारियों ने किलोमीटर 194 से 200 मीटर तक इटावा से चित्रकूट जाने वाली लेन पर यातायात बंद कर दिया। दोनों तरफ का यातायात एक ही लेन पर चलाया जा रहा है। पुलिस के अनुसार एक्सप्रेसवे में हुए गड्ढे की वजह से छत्तीसगढ़ निवासी परशुराम दयाल घायल हो गए थे। एक कार भी क्षतिग्रस्त हुई थी, लेकिन चालक को चोट नहीं आई थी।ष्

राजस्थान की गावर कंपनी ने करवाया निर्माण
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे छह पैकेज (हिस्सों) में बनाया गया है। इसमें पैकेज चार और पांच का निर्माण राजस्थान की गावर कंपनी ने किया है। गावर कंपनी ने दोनों पैकेज मिलाकर लगभग 101 किलोमीटर सड़क बनाई है। पैकेज चार में 51 किलोमीटर सड़क हमीरपुर के बरौली खरका से लेकर जालौन के सालाबाद तक सड़क बनाई गई है। पैकेज पांच में 50 किलोमीटर सड़क का जालौन के सालाबाद से औरैया जिले के बखरिया तक निर्माण किया गया है। एक्सप्रेसवे को लेकर यूपीडा के सीईओ अवनीश अवस्थी ने उच्च क्वालिटी का बताया था, लेकिन इसकी क्वालिटी की पोल जालौन-औरौया के बाद इटावा इलाके में हुई मूसलाधार बारिश ने खोलकर रख दी है। साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ को भी विपक्ष के वार झेलने पड़ रहे हैं।

ठेकेदारों पर डाला दबाव
ठेकेदारों ने दबी जुबान कहा कि जब समय दिए बगैर जबरन काम करवाया जाएगा, समय से पहले एक्सप्रेसवे तैयार करने के लिए दबाव डाला जाएगा, तब भला गुणवत्तापूर्ण कार कैसे हो पाएगा। ठेकेदरों ने खुलकर तो ज्यादा नहीं कहा, पर इशारों-इशारों में इस गड़बड़ के पीछे आलाधिकारियों को जिम्मेदार ठहरा दिया। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि, जिसके शुभारंभ प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने किया हो, उस एक्सप्रेसवे का ऐसा हाल हुआ, इसकी उन्हें तनिक भी उम्मीद नहीं थी। रामखेलावन कहते हैं, ‘गुरू’ बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में बड़ा घोटाला हुआ है। इसकी जांच करवाई जाए तो क्षतिग्रस्त एक्सप्रेसवे की पाई-पाई का हिसाब बाहर निकलकर आ जाएगा।

एक्सप्रेसवे में अभी बहुत काम बाकी है
महोबा निवासी रघुराज सिंह कहते हैं कि, एक्सप्रेस वे का लोकार्पण तो कर दिया गया इसे जनता के लिए खोल भी दिया गया, लेकिन इस एक्सप्रेसवे में अभी बहुत काम बाकी है। बताते हैं, इस एक्सप्रेस वे में न तो कनेक्टिंग रोड तैयार हुए हैं और न ही नाडोल तैयार । अभी सड़कों में मवेशियों को रोकने के लिए पूरी तरीके से बैरिकेडिंग नहीं लग पाई। बताते हैं, खन्ना के पास जहां से महोबा के लिए उतरकर जाया जाता है वहां मेन बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में जानवर टहल रहे हैं। वहीं महोबा के शिवबरन सिंह कहते हैं, अभी एक्सप्रेसवे पर बहुत काम बाकी है। इसका उद्घाटन जल्दबाजी में कराया गया है।

अखिलेश यादव ने भी किया ट्वीट
एक्सप्रेसवे की सड़क धंसने पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि यह है भाजपा के आधे-अधूरे विकास की गुणवत्ता का नमूना। उधर बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का बड़े लोगों ने उद्घाटन किया ही था कि इधर एक हफ्ते में ही इस पर भ्रष्टाचार के बड़े-बड़े गड्ढे निकल आए। अच्छा हुआ इस पर रनवे नहीं बना। दूसरी ओर, सड़क धंसने के बाद सोशल मीडिया पर वीडियो और फोटो वायरल हो गए। इसके बाद लोगों ने एक्सप्रेसवे की गुणवत्ता पर सवाल उठाने शुरू कर दिए। कई लोगों ने सरकार से जांच कराकर कार्रवाई करने की भी मांग की है।

16 जुलाई को प्रधानमंत्री ने किया था लोकार्पण
चित्रकूट के भरतकूप से इटावा के कुदरैल तक बने 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का लोकार्पण 16 जुलाई 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। इसके लिए जालौन के कैथेरी गांव में एक भव्य आयोजन किया गया था। 14, 800 करोड़ की लागत से बना बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे 36 महीने में पूरा होना था, लेकिन यूपीडा ने इसे 28 महीने में ही बनाकर तैयार कर दिया।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities