ब्रेकिंग
Kanpur: डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने परियोजनाओं का किया लोकार्पण, सरकार की गिनाई उपलब्धियांBadaun: एनएचएम संविदा कर्मचारियों की हड़ताल, मांगों को लेकर प्रदर्शनBadaun: पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, तीन शातिर लुटेरे गिरफ्तारSiddharthnagar: आनंदी बेन पटेल ने आंगनवाडी केंद्र का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देशकानपुर पहुंचे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, विपक्षियों पर कसा तंजहमीरपुर पहुचीं उमा भारती, स्वामी ब्रह्मानंद जी के जन्मोत्सव में हुईं शामिलAgra: दारू के लिए पैसे ना देने पर दोस्तों ने की दोस्त की पिटाईआगरा पुलिस ने संवेदनशील और अतिसंवेदनशील बूथों का किया निरीक्षणAgra: रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के गड्ढे बने मुसीबत, हादसे को दावत दे रहे हैं दावतदिशा पाटनी ग्लैमरस तस्वीरों में दिखी बोल्ड, सोशल मीडिया पर छाया हॉट लुक

Chitrakoot: एसटीएफ के हाथ लगी बड़ी सफलता, इनामी डकैत गौरी यादव हुआ ढेर

चित्रकूट जनपद के पाठा के बीहड़ का इनामी डकैत गौरी यादव को यूपी एसटीएफ ने ढेर कर दिया। यह मुठभेड़ बहिलपुरवा थाना क्षेत्र के माडौ बांध के पास हुई। इस बात की जानकारी एसपी एसटीएफ हेमराज मीणा ने दी है। सूत्रों के अनुसार, इनामी डकैत गौरी यादव के पास से 47 राइफल, अन्य असलहे और कारतूस बरामद हुए हैं। आपको बता दें कि गौरी यादव पर 5.5 लाख रुपये का इनाम घोषित था। एसटीएफ ने 31 मार्च को 25 हजार के इनामी भालचंद को भी माडौ बांध के पास मुठभेड़ में मार गिराया था।

विधानसभा चुनाव 2022 से पहले यूपी एसटीएफ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इनामी डकैत गौरी यादव को मार गिराया। यूपी और एमपी सरकार ने इस डकैत पर इनाम घोषित कर रखा था। गौरी यादव बीहड़ का इकलौता डकैत था। जिस पर 5.50 रुपये का इनाम घोषित था। गौरी यादव ददुआ, ठोकिया और रागिया के बराबर का डकैत था। एसटीएफ और पुलिस की कई टीमें गौरी यादव की तलाश में काफी समय से जंगलों की छानबीन रहीं थीं। गौरी यादव के यूपी में छिपे होने की सूचना एसटीएफ को हुई थी। जिसके बाद से एसटीएफ और पुलिस की टीम ने कार्रवाई करते हुए माडौ बॉध के पास मार गिराया। एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश ने जानकारी दी है कि गौरी यादव की बहुत दिनों से तलाश जारी थी। उसके पास से एके 47 राइफल, अन्य असलहे और कारतूस बरामद किए गए हैं। चार महीने पहले इसने चित्रकूट के जंगलों में फायरिंग कर दहशत फैला दी थी। गौरी यादव पर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में विभिन्न थानों में हत्या, अपहरण और फिरौती के 50 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। गौरी यादव चित्रकूट के बहिलपुरवा थाना क्षेत्र के गांव बेलहरी का रहने वाला था। लगभग 20 साल पहले उसने अपराध की दुनिया में कदम रखा था। उसने अपना अलग गैंग भी बना लिया था। यूपी एसटीएफ ने गौरी यादव को वर्ष 2008 में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। दो साल जेल में रहने के बाद वह फिर से लूटपाट की घटना को अंजाम देने लगा था। दिल्ली पुलिस साल 2013 में बिलहरी गांव में दबिश देने गई थी। इसी दौरान गौरी यादव ने दिल्ली पुलिस के एक दारोगा जयभगवान शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी थी। यही नहीं वह दारोगा की सरकारी रिवाल्वर लूटकर फरार हो गया था। तब से लगातार पुलिस को छकाता रहा लगातार जिला पुलिस व एसटीएफ गौरी की खोज मे जगंल की खाक छानती रही लेकिन परछाई भी नही छू सकी वही बताया जाता है कि गौरी यादव तेंदू पत्ता तोड़ान में भी चौथ वसूली करता था। पाठा के बीहडो का बेताज बादशाह रहे डकैत गौरी के मारे जाने के बाद से जहां यूपी एमपी बार्डर के ग्रामीणों में खुशी देखने को मिली वहीं लम्बे अरसे बाद चित्रकूट दस्यु मुक्त हो गया वहीं यूपी के चित्रकूट जिला के मारकुंडी, बहिलपुरवा, मानिकपुर, भरतकूप और बॉदा जिला के फतेहगंज नरैनी कालींजर सतना के धारकुंडी सभापुर, मझगवा और बरौधा थानों की पुलिस के चेहरों पर खबर सुनते ही सुकून नजर आया।

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities