बड़ी ख़बरें
जेम-टीटीपी के आतंकी को मिला था नूपुर को फिदायीन हमले से मारने का टॉस्क, सैफुल्ला ने इंटरनेट के जरिए वारदात को अंजाम देने की दी थी ट्रेनिंग, पढ़ें टेररिस्ट के कबूलनामें की ‘चार्जशीट’मध्य प्रदेश में नहीं रहेगा अनाथ शब्द, शिवराज सिंह ने तैयार किया खास प्लानजम्मू-कश्मीर की सरकार का आतंकियों के मददगारों पर बड़ा प्रहार, आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार को नौकरी से किया बर्खास्त, पैसे की व्यवस्था के साथ वैज्ञानिक चलाते थे आतंक की ‘पाठशाला’होर्ल्डिंग्स से हटाया सीएम का चेहरा, तिरंगे की शान में सड़क पर उतरे योगी, यूपी में 4.5 करोड़ राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्यबांदा में नाव पलटने की घटना में 6 और शव मिले, अब तक 9 की मौतपहले फतवा जारी और अब लाइव प्रोग्राम में सलमान रुश्दी पर चाकू से किए कई वार14 साल के बाद माफिया के गढ़ में दाखिल हुआ डॉन, भय से खौफजदा मुख्तार और बीकेडी ‘पहलवान’पुलिस के पास होते हैं ‘आन मिलो सजना’ ‘पैट्रोल मार’ ‘गुल्ली-डंडा’ और ‘हेलिकॉप्टर मार’ हथियार, इनका नाम सुनते ही लॉकप में तोते की तरह बोलने लगते हैं चोर-लुटेरे और खूंखार बदमाशखेत के नीचे लाश और ऊपर लहलहा रही थी बाजरे की फसल, पुलिस ने बेटों की खोली कुंडली तो जमीन से बाहर निकला बुजर्ग का कंकाल, दिल दहला देगी हड़ौली गांव की ये खौफनाक वारदातबीजेपी के चाणक्य को देश की इस पॉवरफुल महिला नेता ने सियासी अखाड़े में दी मात, पीएम मोदी से नीतीश कुमार की दोस्ती तुड़वा बिहार में बनवा दी विपक्ष की सरकार

KANPUR NEWS – अखिलेश की लायन सफारी की तर्ज पर यूपी के इस जिले में बनने जा रही योगी की ‘काऊ सफारी’

उरई। विधानसभा चुनाव 2022 के वक्त विपक्ष ने आवारा मवेशियों को लेकर सरकार को घेरा और बड़ा मुद्दा बनाया। सूबे में दूसरी बार सरकार के गठन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गौ संरक्षण को लेकर कई कदम उठा रहे हैं। जिलों में गौशालाओं की नींव रखी जा रही थी तो वहीं उरई जनपद में इटावा की लायन सफारी की तरह काऊ सफारी (गाय सफारी)का निर्माण कार्य करवाया जाएगा। जिला प्रशासन ने इस बड़ी पहल के लिए करीब दो करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार किया है। क्षेत्र पंचायत निधि से कराए जाने वाले इस कार्य की शुरुआत मई के अंत तक होगी। प्रशासन का कहना है कि बाद में अन्य मदों से धनराशि बढ़ाई जाएगी।

150 हेक्टेयर भूमि पर बनेंगी गाय सफारी
जिला प्रशासन ने उरई के डकोर ब्लाक की दो ग्राम पंचायतों में वन विभाग की 150 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया है। जिसमें गायों को रखा जाएगा। इसे पर्यटन स्थल का रूप दिया जाएगा। यहां आने वाले लोग हरियाली का आनंद ले सकेंगे, गायों की सेवा का भी मौका मिलेगा। प्रशासन से जुड़े अघिकारियों की मानें तो यहां गायों का रखा जाएगा। उन्नति किस्म की गायों लाई जाएंगी और किसानों को भी दी जाएंगी। किसानों को गाय पालने के गुर सिखाए जाएंगे।

मालवा की तर्ज पर उरई में काऊ सफारी
जिला प्रशासन यह प्रयोग मध्य प्रदेश में आगर मालवा जिले में निर्मित काऊ सफारी की तर्ज पर कर रहा है। जनपद की एक टीम मालवा जिले का दौरा करने के लिए गई थी। जहां पर गायों के संरक्षण और सफारी के बारे में वहां के अधिकारियों से कई अहम जानकारियां ली थीं। इस प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल अभी दो करोड़ रुपये क्षेत्र पंचायत निधि के जरिए मिले हैं। जैसे-जैसे कार्य आगे बढ़ेगा, वैसे-वैसे धनराशि की अन्स मदों के जरिए व्यवस्था की जाएगी। काऊ सफारी का निर्माण इसी माह शुरू हो जाएगा।

इन सुविधाओं से लैस होगी सफारी
डकोर ब्लाक में बनने जा रही गाय सफारी के गायों को बेहतर पानी की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा अत्याधुनिक टीन शेड का निर्माण करवाया जाएगा। साथ ही पर्यटकों के लिए पिकनिक स्पाट जैसे व्यवस्थाएं होंगी। सफारी में गोबर उत्पाद केंद्र भी बनेंगा। इस अद्भुत सफारी में हरियाली की व्यवस्था की जाएगी। पेड़ लगाए जाएंगे। बता दें, जिले में बेसहारा गोवंशी की कुल संख्या 22 हजार है। जबकि यहां 7 कान्हा गोशालाएं हैं। कान्हा गोशाला पर खर्च करीब 14 करोड़ 19 लाख रुपये हर वर्ष आता है।

बेसहारा गोवंशी के संरक्षण में बड़ी मदद मिलेगी
मीडिया से बातचीत के दौरान डीएम जालौन प्रियंका निरंजन, ने बताया कि, काऊ सफारी बनाने के लिए जमीन को अधिगृहीत किया जा चुका है। पैमाइश कराई जा रही है। मई के अंत तक प्रोजेक्ट को प्रारंभ कराया जाएगा। इस प्रोजेक्ट से बेसहारा गोवंशी के संरक्षण में बड़ी मदद मिलेगी। उनके विचरण के लिए पर्याप्त जगह होगी। यह प्रयोग पूरे प्रदेश में माडल के तौर पर होगा। डीएम ने कहा कि यहां पर्यटक आएं, इसके लिए सफारी का सुंदर तरीके से सजाया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities