बड़ी ख़बरें
जीरा में रंगदारी और गोलीबारी की घटना में एक नाबालिग सहित तीन गिरफ्तारथर्मल ड्रोन से कोरबा में रात में भी हो सकेगी हाथियों की ट्रैकिंग, समझिए कैसे काम करती है तकनीक?69 सीटों को लेकर रायपुर में शाह-नड्‌डा ने की 7 घंटे की मैराथन बैठक, जानिए किन नामों पर बनी सहमति?Weather Update: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में हल्की बारिश के आसार, 2 दिन बाद बढ़ेगी मानसून की सक्रियताबुलेट मोटरसाइकिल दहेज की मांग को लेकर पति पत्नी में विवाद, पति ने बाल पकड़कर पत्नी को गली में घसीटाआप ने हरियाणा के शिक्षा मंत्री को चुनौती दी: “दिल्ली के स्कूलों का दौरा करें, फिर बोलें”राजस्थान में जेजेपी-बीजेपी गठबंधन की संभावना, दुष्यंत की दिल्ली में बातचीत; मध्यस्थ के रूप में अनुराग ठाकुरबीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह 2023 चुनावों की रणनीति बनाने रायपुर पहुंचेChhattisgarh: भ्रष्टाचार मामलों की समीक्षा के लिए सीबीआई निदेशक प्रवीण सूद रायपुर पहुंचेChhattisgarh Election 2023: शहरी क्षेत्र कम मतदान से जूझ रहे हैं, ग्रामीण क्षेत्र आगे हैं

पंजाब में बाढ़ की वजह से जान गंवाने वाले लोगों के आश्रितों को 20 जुलाई और क्षतिग्रस्त घरों के मालिकों 24 जुलाई तक हर हाल में मुआवजा राशि की जाएगी जारी

सोमवार को सरदूलगढ़ के गांव झंडा खुर्द व रोड़की के बीच घग्गर दरिया में फिर से करीब 50 फुट की दरार पड़ने से कई गांवों में 1500 एकड़ फसल पानी में डूब गई। बाढ़ का पानी निकालने के लिए गांव चहलावाली व झुनीर के लोगों में ईंट-पत्थर भी चले। पुलिस ने दखलंदाजी कर मामले को शांत करवाया..

पंजाब में बाढ़ की वजह से जान गंवाने वाले लोगों के आश्रितों को 20 जुलाई और क्षतिग्रस्त घरों के मालिकों 24 जुलाई तक हर हाल में मुआवजा राशि जारी की जाएगी। यह आदेश सोमवार को राज्य के मुख्य सचिव अनुराग वर्मा ने सभी जिलों के डीसी को दिया है। इसके साथ ही फसलों के नुकसान का जायजा लेने का भी निर्देश दिया है। वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बाढ़ से प्रभावित इलाकों में मौजूदा स्थिति व चल रहे बचाव कार्यों का जायजा अधिकारियों से मीटिंग ले रहे थे।

दूसरी ओर राज्य में बाढ़ का खतरा बरकरार है, क्योंकि मौसम विभाग ने मंगलवार को भी यलो अलर्ट जारी किया है। विभाग ने बुधवार को छोड़कर 20 व 21 जुलाई के लिए भी येलो अलर्ट जारी किया है। इसके अनुसार कई जिलों में भारी बारिश हो सकती है। बैठक के दौरान अधिकारियों ने बताया कि मानसा और संगरूर में एनडीआरएफ की टीमें तैनात हैं। राज्य के 18 जिलों के 1422 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। इन जिलों में कुल 168 राहत कैंप स्थापित किए गए हैं। राज्य में अभी तक 26250 लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

बाढ़ प्रभावित जिलों को 62, स्कूलों को 27 करोड़

सरकार ने अलग-अलग जिलों को 62.70 करोड़ रुपए के फंड जारी किया है। राजस्व, पुनर्वास और आपदा प्रबंधन मंत्री ब्रह्म शंकर जिंप ने बताया कि यह राशि जल सप्लाई स्कीमों की मरम्मत, बाढ़ के कारण प्रभावित सड़कों और पुलों की मरम्मत, लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने, पीने वाले पानी के प्रबंध के लिए, बेजुबान पशुओं की संभाल और उनके चारे का प्रबंध करने के लिए दी गई है।

मुख्य सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आपदा फंड में से 10 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। पेयजल को दूषित होने से बचाया जाए और इस बारे में अधिकारी दो दिनों में यह सर्टिफिकेट दें कि कहीं भी पानी की पाइप लाइन में कोई कमी नहीं है और पीने वाला पानी पूरी तरह साफ है। वहीं, शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस ने बताया कि बाढ़ से प्रभावित स्कूलों के लिए 27.77 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है। प्रत्येक स्कूल को जरूरत के हिसाब से 5 से 30 हजार रुपये तक की राशि जारी की जाएगी। सेहत विभाग को क्लोरीन दवाओं के लिए 50 लाख, जबकि पशुपालन विभाग की तरफ से जिलों को 40 लाख रुपये जारी किए हैं।

मानसा में बांध तोड़ने पर चले ईंट-पत्थर

सोमवार को सरदूलगढ़ के गांव झंडा खुर्द व रोड़की के बीच घग्गर दरिया में फिर से करीब 50 फुट की दरार पड़ने से कई गांवों में 1500 एकड़ फसल पानी में डूब गई। बाढ़ का पानी निकालने के लिए गांव चहलावाली व झुनीर के लोगों में ईंट-पत्थर भी चले। पुलिस ने दखलंदाजी कर मामले को शांत करवाया।

पौंग बांध ने 13898, शाह नहर से 17948 क्यूसिक पानी छोड़ा

पौंग बांध से सुबह 13898 क्यूसेक पानी शाह नहर बैराज में छोड़ा गया। वहीं, शाह नहर बैराज से 17948 क्यूसेक पानी को ब्यास दरिया में छोड़ना पड़ा। इससे निचले क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा बरकरार है।

 

 

 

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities