बड़ी ख़बरें
जेम-टीटीपी के आतंकी को मिला था नूपुर को फिदायीन हमले से मारने का टॉस्क, सैफुल्ला ने इंटरनेट के जरिए वारदात को अंजाम देने की दी थी ट्रेनिंग, पढ़ें टेररिस्ट के कबूलनामें की ‘चार्जशीट’मध्य प्रदेश में नहीं रहेगा अनाथ शब्द, शिवराज सिंह ने तैयार किया खास प्लानजम्मू-कश्मीर की सरकार का आतंकियों के मददगारों पर बड़ा प्रहार, आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार को नौकरी से किया बर्खास्त, पैसे की व्यवस्था के साथ वैज्ञानिक चलाते थे आतंक की ‘पाठशाला’होर्ल्डिंग्स से हटाया सीएम का चेहरा, तिरंगे की शान में सड़क पर उतरे योगी, यूपी में 4.5 करोड़ राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्यबांदा में नाव पलटने की घटना में 6 और शव मिले, अब तक 9 की मौतपहले फतवा जारी और अब लाइव प्रोग्राम में सलमान रुश्दी पर चाकू से किए कई वार14 साल के बाद माफिया के गढ़ में दाखिल हुआ डॉन, भय से खौफजदा मुख्तार और बीकेडी ‘पहलवान’पुलिस के पास होते हैं ‘आन मिलो सजना’ ‘पैट्रोल मार’ ‘गुल्ली-डंडा’ और ‘हेलिकॉप्टर मार’ हथियार, इनका नाम सुनते ही लॉकप में तोते की तरह बोलने लगते हैं चोर-लुटेरे और खूंखार बदमाशखेत के नीचे लाश और ऊपर लहलहा रही थी बाजरे की फसल, पुलिस ने बेटों की खोली कुंडली तो जमीन से बाहर निकला बुजर्ग का कंकाल, दिल दहला देगी हड़ौली गांव की ये खौफनाक वारदातबीजेपी के चाणक्य को देश की इस पॉवरफुल महिला नेता ने सियासी अखाड़े में दी मात, पीएम मोदी से नीतीश कुमार की दोस्ती तुड़वा बिहार में बनवा दी विपक्ष की सरकार

सावन के पहले सोमवार के दिन सामने आया सनसनीखेज मामला, यूपी के इस जिले में भक्त ने भगवान पर दर्ज करवाया मुकदमा !

गोंडा। 2012 में बॉलीवुड में आई एक फिल्म ओह माय गॉड खासी चर्चा में रही थी, क्योंकि उसमें एक किरदार भगवान पर मुकदमा दर्ज कर आता है। यह कहानी तो थी रील लाइफ की, पर अब हम आपको असली रियल कहानी से रूबरू कराने जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के गोंडा जनपद में एक भक्त ने समाधान दिवस पर जाकर भगवान के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने को लेकर पुलिस को तहरीर दी है। भक्त का आरोप है कि इंद्रदेव के हठ के कारण सूबे में बारिश नहीं हो रही। ऐसे में फसन पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। साथ ही भीषण गर्मी से आमलोग बीमार पड़ रहे हैं।

समाधान दिवस पर दिया शिकायती पत्र
गोंडा जिले के कौड़िया थाने के झाला परगना में रहने वाले सुमित कुमार यादव समाधान दिवस के अवसर पर करनैलदंज तहसील परिसर में पहुंचे। सुमित कुमार यादव ने आलाधिकारियों को एक शिकायती पत्र सौंपा। भक्त ने अधिकारियों से कहा कि, मेरी तहरीर के आधार पर आप भगवान इंद्रदेव के खिलाफ मुकदमा दर्ज करें। भक्त ने आगे कहा कि, बारिश हो नहीं रही है, इंसान और जानवर परेशान हैं। खेती चौपट हो रही है, घर में रह रही औरतें और बच्चे भी परेशान हैं और इन सबकी वजह सिर्फ इंद्र भगवान हैं। इसलिये उन पर कार्रवाई की जाए।

जानिए क्या लिखा है शिकायतर पत्र में
सुमित यादव ने अपने शिकायती पत्र में लिखा महोदय सादर निवेदन है कि प्रार्थी ने अपनी शिकायत में महोदय को अवगत कराया है कि, विगत कई माह से पानी नहीं गिर रहा है जिससे जनमानस बहुत ही परेशान है और जीव जंतु व खेती पर भारी प्रभाव है। वह घर में रह रही महिलाएं वा छोटे बच्चे भी काफी ज्यादा परेशान हैं। अतः श्रीमान जी से निवेदन है कि प्रार्थी के ऊपर आवश्यक कार्रवाई करने की कृपा करें।

तहसीलदार ने कार्रवाई की लगाई मुंहर
इससे भी ज्यादा हैरानी की बात ये है कि तहसील के तहसीलदार नें इस पत्र पर कार्रवाई करने के लिये इसे अपनी मुहर के साथ आगे बढ़ा दिया है। गवाहों नें भी हां में हां मिलाते हुये अपने हस्ताक्षर कर दिए। इस मामले की रविवार को मुख्य राजस्व अधिकारी (सीआरओ) जयनाथ यादव, तहसीलदार नरसिंह नरायन वर्मा व सीओ मुन्ना उपाध्याय ने जांच की। इसके बाद कोतवाली में कटराबाजार के ग्राम झाला निवासी सुमित कुमार यादव के खिलाफ मामला दर्ज कराया।

हस्ताक्षर होने से इनकार किया
सीआरओ जयनाथ यादव ने बताया कि मामले की जांच के दौरान खुलासा हुआ कि सकरौरा नगर के पुनीत यादव ने मोबाइल फोन पर धमकी मिलने की शिकायत क्रमांक 684 पर की थी। इस सीओ ने संज्ञान लेकर कार्रवाई के लिए निर्देशित किया था। जबकि, इसी क्रमांक पर इंद्रदेव के खिलाफ शिकायत दिखाकर तहसीलदार की फर्जी मुहर और हस्ताक्षर से सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। इसी मामले में अधिवक्ता बरखण्डी गुप्ता से भी जब पूछताछ की गई तो उन्होंने भी शिकायती पत्र पर अपना हस्ताक्षर होने से इनकार किया।

युवक पर मुकदमा दर्ज
सीआरओ ने बताया कि संबंधित गांव के लेखपाल, प्रधान और कोटेदार ने सुमित कुमार यादव नाम के किसी व्यक्ति के गांव में होने से इनकार किया। सीओ मुन्ना उपाध्याय ने बताया कि मामला दर्ज कर कार्रवाई के निर्देश दे दिए गए हैं। कोतवाल सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि इंद्र देव के फर्जी वायरल शिकायती पत्र पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया गया है। रविवार को भी यह प्रकरण लोगों के बीच चर्चा का विषय बना रहा। तहसीलदार ने बताया कि वायरल प्रार्थनापत्र पूर्णतया फर्जी है, उस बने हस्ताक्षर भी फर्जी हैं।

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities