बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

जिस IAS अफसर को आजम खान ने दी थी जूते साफ करवाने की धमकी, उसी कलेक्टर ने ‘नेता जी’ की सियासत पर लगा दिया ‘ग्रहण’ जानें रामपुर से सपा विधायक की किस तरह से तैयार हुई क्राइम की ‘चार्जशीट’

रामपुर। कभी यूपी में पूर्व मंत्री व समाजवादी पार्टी से विधायक आजम खान की तूती बोलती थी। रामपुर के अलावा आसपास के कई जनपदों में सपा नेता का खासा असर रहा। आजम खान का रूतबा समाजवादी पार्टी में बहुत बड़ा रहा है और मुलायम सिंह यादव से लेकर अखिलेश यादव तक उनकी हर बात मानने पर मजबूर रहते हैं। पर एक आईएएस अफसर ने नेता जी की सियासत पर ‘गृहण’ लगा दिया। . 2019 लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान आजम खां ने आईएएस आन्जनेय सिंह से अपने जूते साफ कराने की बात कही थी। आन्जनेय तब रामपुर के कलेक्टर थे। आजम ने कहा था कि ‘कलेक्टर-फलेक्टर से मत डरियो, ये तनखैय्ये हैं, अल्लाह ने चाहा तो चुनाव बाद इन्हीं से जूते साफ कराऊंगा।

मुकदमों की आ गई बाढ़
ये बात बोलते समय आजम खां ने कभी सोचा भी नहीं होगा, कि जिस अफसर के लिए वो ये बात बोल रहे हैं वो ही अफसर उनको इतनी बुरी तरह बर्बाद कर देगा। इसी कलेक्टर की वजह से सपा विधायक मोहम्मद आजम खां कई महिने जेल में रहे। उनके बेटे अब्दुल्ला आजम की विधायकी चली गई। पत्नी डॉक्टर तंजीन फातिमा को जेल जाना पड़ा। बेटा 23 महीने बाद जेल से जमानत पर छूटा। जौहर यूनिवर्सिटी की चारदीवारी में कैद 172 एकड़ सरकारी जमीन भी आजम से छिन गई। 98 से ज्यादा मुकदमे आजम खान के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किए। हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्धारा दी गई जमानत पर आजम खान जेल से बाहर आ सके।

कौन हैं आंजनेय कुमार सिंह
आंजनेय कुमार सिंह सिक्किम कैडर के 2005 बैच के आईएएस अफसर हैं। उत्तर प्रदेश में जब अखिलेश यादव की सरकार थी, तब 16 फरवरी 2015 को वह प्रतिनियुक्ति पर उत्तर प्रदेश आए। बाद में सूबे में योगी की सरकार आई और फरवरी 2019 में आंजनेय को रामपुर का कलेक्टर बना दिया गया। मूल रूप से यूपी के आजमगढ़ के रहने वाले आन्जनेय कुमार सिंह रामपुर के जिलाधिकारी बनाए जाने से पहले बुलंदशहर, फतेहपुर के भी कलेक्टर रह चुके हैं। शांत रहने वाले आन्जनेय कुमार को पहचान एक तेज-तर्राक आईएएस अफसर की है। इन्हें सीएम योगी आदित्यनाथ का भरोसमंद अधिकारी बताया जाता है। जब रामपुर के कलेक्टर रहे, तब तक आजम खान के अपराधों की कुंडली को खेलते रहे।

2019 के लोकसभा चुनाव में आजम ने दिया था बयान
रामपुर में आने के बाद आंजनेय कुमार सिंह 2019 के लोकसभा चुनाव के वक्त चर्चा में आए। एक तरफ उन्होंने चुनाव अचार संहिता का कड़ाई से पालन करवाया, तो दूसरी तरफ इसका उल्लंघन करने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई भी की। जिसमें आजम खान के तमाम करीबी भी शामिल थे। इसी पर सपा के पूर्व मंत्री आजम खान ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ”कलेक्टर-फलेक्टर से मत डरियो, ये तनखैय्ये हैं। अल्लाह ने चाहा तो चुनाव बाद इन्हीं से जूते साफ कराऊंगा। इस बयान के बाद आजम खान का वक्त ही पलट गया। आजम खान के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू हो गई।

आजम खान और उनकी पत्नी व बेटा पहुंचे थे सलाखों के पीछे
रामपुर जनपद के 27 किसानों ने तत्कालीन डीएम से मिलकर शिकायत की और कहा कि जौहर विश्वविद्यालय के लिए आजम खां ने उनकी जमीनों पर कब्जा कर लिया है। आंजनेय सिंह ने इस मामले की जांच एसडीएम से करवाई और शिकायत सही पाए जाने पर सभी मामलों में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दे दिया। साथ ही सरकारी जमीन को आजम खान के कब्जे से छीन कर उसे मुक्त कराई गई। इसके साथ ही आजम खान के बेटे और पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस ने दोनों को कोर्ट में पेश किया, जहां जज ने उन्हें जेल भेल दिया था। तंजीन और अब्दुल्ला जमानत लेकर जेल से बाहर हैं, लेकिन आजम खां को कई माह जेल में गुजारने पड़े। जेल में रहने के दौरान आजम खान कोविड के शिकार हुए थे।

बेटे अब्दुल्लाह गई थी विधायकी
आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह आजम ने स्वार टांडा सीट से 2017 में विधानसभा चुनाव लड़ा था औऱ जीत हासिल की थी। लेकिन बीएसपी के टिकट से चुनाव लड़े नवाब काजिम अली खान ने चुनाव आयोग से शिकायत की कि अब्दुल्लाह आजम ने फर्जी जन्म प्रमाण पत्र लगाकर अपनी उम्र 25 वर्ष दिखाई थी और नामांकन किया था जबकि नॉमिनेशन के वक्त उनकी उम्र 25 साल नहीं थी। इसलिए उनका निर्वाचन रद्द होना चाहिए। चुनाव आयोग ने इस मामले की जांच तत्कालीन रामपुर डीएम आंजनेय कुमार सिंह को दी। आंजनेय कुमार सिंह की रिपोर्ट के आधार पर ही चुनाव आयोग ने अब्दुल्लाह आजम की सदस्यता रद्द कर दी थी।

आजम खान को भू-माफिया भी घोषित कर दिया था
बता दें जब आजम खान के खिलाफ कार्रवाई शुरू हुई तो रामपुर के लोगों को लगा कि कोई ईमानदार अधिकारी आया है तो उनके खिलाफ शिकायतों की फाइलें भी बढ़ने लगीं और उनके खिलाफ 98 से अधिक मुकदमे दर्ज हो गए। इतना ही नहीं, आंजनेय कुमार सिंह ने आजम खान को भू-माफिया भी घोषित कर दिया था। इसके बाद में आंजनेय कुमार सिंह को प्रमोट कर मुरादाबाद मंडल का कमिश्नर बना दिया गया। रामपुर भी इसी मंडल में है। रामपुर में तैनाती के दौरान आंजनेय की लोकप्रियता का आलम यह था कि जब उनका ट्रांसफर हुआ तो लोगों ने बग्घी में बैठाकर फूलों की बारिश करते हुए उन्हें विदाई दी थी। पिछले साल ही केंद्र सरकार ने आंजनेय कुमार सिंह की प्रतिनियुक्ति यूपी में दो साल के लिए बढ़ा दी। अब उन्हें यूपी में 2023 तक प्रतिनियुक्ति मिल गई है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities