ब्रेकिंग
अयोध्या का किन्नर समाज गरीबों की सहायता करने में तत्परAuraiya: बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, अधेड़ हुआ घायलAuraiya: सवारियों से भरी बस खाई में गिरी, 20 यात्री हुए घायलAgra: बेटों ने नहीं दिया सम्मान तो पिता ने संपत्ति की डीएम के नामHamipur: हाईवे पर हुई दो दुर्घटनाएं, तीन लोग हुए घायलHamirpur: ट्रक ने बाइक सवार पिता-पुत्र को रौंदा, मौके पर हुई मौतHamirpur: विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु, जनपद को नौ जोन और 42 सेक्टर में बांटा गयामहोबा दौरे पर प्रियंका गांधी, प्रतिज्ञा रैली को करेंगी सम्बोधितHamirpur: शहर के बीच जेल तालाब में आग लगने से हड़कंप, बड़ा हादसा टलाJaunpur: पुलिस चौकी में घुसा ट्रक, हादसे में 1 की मौत, एक पुलिसकर्मी घायल

Etah: सरकारी भर्ती में धांधली का आरोप, शासनादेश और नियमों की हुई अनदेखी

विकास दुबे, एटा

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर सरकारी भर्ती में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. ये भर्ती एटा में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद से जुड़ी हैं. यहां शासनादेश के खिलाफ जाकर पंचायत सहायक की भर्ती कर दी गई. दरअसल, उत्तर प्रदेश की सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत सहायक की भर्ती निकाली गई थीं, जिनपर भर्ती मैरिट के आधार पर होनी थीं. इन भर्तियों में कोरोना महामारी में मरने वालों को वरीयता दी जानी थी. शासन की तरफ से निष्पक्ष भर्ती करने के निर्देश भी जारी किए गए थे. लेकिन जनपद एटा में मुख्यमंत्री के निर्देशों और शासनादेश को ताक पर रख कर भर्ती कर डाली गई. जिसकी शिकायत पात्र आवेदन कर्ता ने जिले के आलाधिकारियों से की. ग्राम नगला उम्मेद के मजरा नगला केसरी की रहने वाली प्रीति ने अलीगंज में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद के लिए आवेदन किया था. भर्ती के दौरान आवेदिका के पक्ष में ही प्रस्ताव भी लिखा गया. लेकिन संबंधित अधिकारियों ने धांधली करके किसी और का चयन कर दिया. आवेदिका का आरोप है कि उसकी मां का निधन कोविड के चलते हुआ था. उनकी मृत्यु के प्रमाण भी आवेदिका ने जमा कराए थे. लेकिन भर्ती में धांधली कर उसकी जगह किसी और का चयन कर लिया गया. इस मामले के सामने आते ही भर्ती प्रक्रिया पर सवाल उठने लगे हैं.

शिकायत करने वालीस प्रीति ने भर्ती में धांधली की शिकायत जिले के आलाधिकारियों से की है. मामला सामने आते ही अधिकारी जांच कराए जाने की बात कह रहे हैं. मगर, प्रीति का कहना है कि अगर मामले में इंसाफ नहीं होता तो वो इसकी शिकायत शासन स्तर पर करेगी. अब देखना होगा कि जिले के अधिकारी इस मामले को कितना गंभीरता से लेते हैं.

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities