ब्रेकिंग
Kanpur: डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने परियोजनाओं का किया लोकार्पण, सरकार की गिनाई उपलब्धियांBadaun: एनएचएम संविदा कर्मचारियों की हड़ताल, मांगों को लेकर प्रदर्शनBadaun: पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, तीन शातिर लुटेरे गिरफ्तारSiddharthnagar: आनंदी बेन पटेल ने आंगनवाडी केंद्र का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देशकानपुर पहुंचे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, विपक्षियों पर कसा तंजहमीरपुर पहुचीं उमा भारती, स्वामी ब्रह्मानंद जी के जन्मोत्सव में हुईं शामिलAgra: दारू के लिए पैसे ना देने पर दोस्तों ने की दोस्त की पिटाईआगरा पुलिस ने संवेदनशील और अतिसंवेदनशील बूथों का किया निरीक्षणAgra: रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के गड्ढे बने मुसीबत, हादसे को दावत दे रहे हैं दावतदिशा पाटनी ग्लैमरस तस्वीरों में दिखी बोल्ड, सोशल मीडिया पर छाया हॉट लुक

Gaziabad: पूर्व बसपा जिलाध्यक्ष विनोद जाटव ने पत्नी सहित की घर वापसी

दिनेश सिंह, गाजियाबाद

गाजियाबाद: कहावत है कि राजनीति में ऊंट किस करवट बैठेगा कहना आसान नहीं। देखिए राजनीति के पुराने मझे खिलाड़ी विनोद जाटव ने हवा का रुख भांपते हुए आखिर बसपा में घर वापसी कर ही ली। बसपा की रीतियों-नीतियों से सरोबार विनोद जाटव पत्नी सहित आखिरकार बसपा में पुनः वापस आ ही गए। बसपा प्रमुख मायावती ने उन्हें पार्टी में वापसी कराया। 

इस मौके पर पूर्व जिलाध्यक्ष विनोद जाटव ने कहा कि कुछ लोगों ने पार्टी के अंदर गुटबाजी करते हुए बहन कुमारी मायावती जी को मेरे बारे में गलत संदेश पहुंचाया। जिससे हमारा तात्कालिक नुकसान हुआ। लेकिन बहन जी को वस्तुस्थिति की सच्चाई पता होने पर पुनः उन्होंने हमें पार्टी में शामिल किया। उन्होंने कहा कि मैं पार्टी की बेहतरी के लिए हर संभव प्रयास करता रहूंगा। पार्टी जिस भी दायित्व को देगी। उसे सहर्ष स्वीकार कर पार्टी की नीतियों को आगे बढ़ाते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सत्ता वापसी की कोशिश में जी जान से काम करूंगा। श्री जाटव ने कहा कि हम हमेशा बचपन से समर्पित कार्यकर्ता रहे हैं।  यदि पार्टी पूरे प्रदेश में जहां कहीं से भी मुझे विधानसभा प्रत्याशी के रूप में काबिल समझेगी उसके लिए भी हम सतत तैयार हैं। और पार्टी को आशातीत सफलता दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका  निभाएंगे। एक प्रश्न के उत्तर में विनोद यादव ने कहा कि भाजपा का जादू लोगों के दिलों दिमाग से उतर चुका है। इस बार भाजपा को अपनी कथनी करनी का नकारात्मक परिणाम हासिल  होगा। क्योंकि प्रदेश की जनता, सपा और भाजपा के कुशासन को भुला नहीं पाई है। अबकी बार बसपा  उत्तर प्रदेश में आगामी चुनाव में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी। 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities