ब्रेकिंग
Kanpur: डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने परियोजनाओं का किया लोकार्पण, सरकार की गिनाई उपलब्धियांBadaun: एनएचएम संविदा कर्मचारियों की हड़ताल, मांगों को लेकर प्रदर्शनBadaun: पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, तीन शातिर लुटेरे गिरफ्तारSiddharthnagar: आनंदी बेन पटेल ने आंगनवाडी केंद्र का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देशकानपुर पहुंचे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, विपक्षियों पर कसा तंजहमीरपुर पहुचीं उमा भारती, स्वामी ब्रह्मानंद जी के जन्मोत्सव में हुईं शामिलAgra: दारू के लिए पैसे ना देने पर दोस्तों ने की दोस्त की पिटाईआगरा पुलिस ने संवेदनशील और अतिसंवेदनशील बूथों का किया निरीक्षणAgra: रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के गड्ढे बने मुसीबत, हादसे को दावत दे रहे हैं दावतदिशा पाटनी ग्लैमरस तस्वीरों में दिखी बोल्ड, सोशल मीडिया पर छाया हॉट लुक

Ghaziabad: स्वास्थ्य सेवायों की बेहतरी के लिए प्रशासन ने कसी कमर

उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देश पर आगामी 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक जनपद गाजियाबाद में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान संचालित होने जा रहा है। गाजियाबाद में सरकार के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम को पूर्ण रूप से सफल बनाने एवं गांव-गांव, शहर-शहर के मौहल्लों में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित करते हुए मच्छर जनित बीमारियों से नागरिकों को सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से डीएम राकेश कुमार सिंह के निर्देश पर आज मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल ने महात्मा गांधी कलेक्ट्रेट सभागार में स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ गहन मंथन करते हुए सरकार के इस कार्यक्रम को सफल बनाने के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह कार्यक्रम मात्र स्वास्थ्य विभाग से संबंधित नहीं है। इस कार्यक्रम से जिन विभागों को जोड़ा गया है सभी संबंधित विभागीय अधिकारी गण अपनी-अपनी कार्ययोजना तैयार करते हुए आगामी 11 अक्टूबर तक स्वास्थ्य विभाग को प्रस्तुत करने की कार्यवाही करें। ताकि उसके अनुरूप जनपद में इस कार्यक्रम को पूर्ण रूप से सफल बनाया जा सके। मुख्य विकास अधिकारी ने विगत में संचालित किए गए संचारी रोग नियंत्रण अभियान की गहन समीक्षा करते हुए पाया कि जनपद में यह कार्यक्रम अच्छी प्रकार से संचालित होने के फल स्वरुप पूरे जनपद में मच्छर जनित बीमारियों में कमी आई है। जनपद में 27000 मलेरिया को लेकर जांच की गई है। जिसमें कुल 16 केस मलेरिया के मिले हैं। चिकनगुनिया का कोई भी केस जनपद में नहीं है। वर्तमान तक 356 व्यक्ति डेंगू के चिन्हित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। शहरी क्षेत्रों में 50 टीम बनाई गई हैं तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 20 टीम संचालित हैं। उन्होंने कहा कि सभी टीम को पूर्ण रूप से सक्रिय करते हुए संचारी रोग नियंत्रण अभियान के संबंध में विस्तार परक रूप से प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाए और इस संबंध में नागरिकों को विशेष स्तर पर जागरूक करने की कार्यवाही संबंधित टीम के सदस्यों द्वारा सुनिश्चित की जाएं। मुख्य विकास अधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि संचालित होने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान में स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभाग, पशुपालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, कृषि विभाग, सिंचाई विभाग, सूचना विभाग, दिव्यांगजन विभाग आदि विभाग के अधिकारियों को इस कार्यक्रम से मुख्य रूप से जोड़ा गया है। सभी अधिकारी गण संचालित होने वाले अभियान में अपने-अपने विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करते हुए जनपद वासियों को मच्छर जनित बीमारियों से सुरक्षित बनाने की विशेष कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायत एवं पंचायत विभाग के द्वारा इस दौरान विशेष स्वच्छता अभियान संचालित करते हुए गली-गली एवं मौहल्लों में नालियों की विशेष सफाई पर फोकस किया जाए तथा जल भराव पर अंकुश लगाते हुए निरंतर स्तर पर फागिंग एवं एंटी लारवा का छिड़काव सुनिश्चित किया जाए। अन्य विभागीय अधिकारियों के द्वारा भी इस कार्यक्रम का विशेष प्रचार प्रसार सुनिश्चित करते हुए अपने अपने स्तर पर कार्यवाही की जाएगी। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में आशा एवं एएनएम की बहुत ही मेहती भूमिका है।  विभागीय अधिकारियों के द्वारा इस कार्यक्रम से इन्हें सक्रियता के साथ जोड़ते हुए विशेष अभियान को सफल बनाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। पंचायती राज विभाग के अधिकारी गण पूरे जनपद में स्वच्छता का विशेष प्लान तैयार करते हुए उसे अंतिम रूप प्रदान किया जाए। ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित किया जा सके। वहीं, दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर इसके संबंध में प्रचार-प्रसार करने की दिशा में भी अधिकारियों के द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएं ताकि सभी ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता पर विशेष फोकस हो सके और सभी ग्रामीणवासियों को मच्छर जनित बीमारियों से सुरक्षित बनाया जा सके। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी भवतोष शंखधर परियोजना निदेशक पी एन दीक्षित, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी आरके यादव, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश सिंह, अन्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गण अन्य विभागीय अधिकारी गण, डब्ल्यूएचओ से डॉक्टर अभिषेक उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities