ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के इस जज ने नूपुर शर्मा को सुनाई खरी-खरी, याचिका खरिज कर कहा टीवी में जाकर देश से मांगे माफी‘चायवाले’ ने पवार के ‘पॉवर’ और ठाकरे के ‘इमोशन’ का निकाला तोड़, ‘ऑटो चालक’ को इस वजह से बनाया महाराष्ट्र का चीफ मिनीस्टरउदयपुर घटना को लेकर कानपुर के मुस्लिम संगठन के साथ अन्य लोगों में उबाल, कन्हैयालाल के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलवाए ‘सरकार’महाराष्ट्र में फिर से बड़ा उलटफेर, शिंदे के साथ फडणवीस लेंगे शपथBIG BREAKING – देवेंद्र फडणवीस नहीं, एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, शाम को अकेले लेंगे शपथशिंदे बने मराठा राजनीति के ‘बाहुबली’ जानिए देवेंद्र भी ‘समंदर’ से क्यों कम नहींPanchang: आज का पंचांग 30 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयMonsoon Update: गाजियाबाद और आसपास के जिलों को करना होगा बारिश का इंतजार, पूर्वी यूपी में हल्की बारिश शुरूउदयपुर हिंसा का सायां यूपी तक पहुंचा, यूपी के मेरठ जोन में अलर्ट, सोशल मीडिया पर खाास नजरCorona Update: कोरोना ने बढ़ाई देश की टेंशन, एक ही दिन में बढ़ 25 फीसदी मरीज बढ़े, 30 लोगों की मौत

हार्दिक पटेल ने कांग्रेस छोड़ने का बहुत पहले कर लिया था फैसला, 8 से 10 दिन के अंदर इस दल की ले सकते हैं सदस्यता

अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया। पाटीदार नेता ने कांग्रेस छोड़ने का फैसला बहुत पहले कर लिया था। इसका खुलासा खुद उन्होंने एक न्यूज चैनल के साथ खास बातचीत के दौरान किया था। हार्दिक ने कहा था कि कांग्रेस के नेता दिल्ली में बैठे आलाकमान को खुश करने में व्यस्त रहते हैं। जनता से उनका जुड़ाव नहीं है। इसी के कारण कांग्रेस सबसे बुरे दौर से गुजर रही है। आने वाले आठ-दिन के अंदर वह किस दल में जाएंगे, उसके बारे में जानकारी देंगे।

अगली पार्टी को लेकर उन्होंने कहा, ’रास्ता तय हो चुका है और सभी को जल्दी पता लग जाएगा। हर व्यक्ति समाज का हित, राष्ट्र का हित, राज्य का हित समेत चार मुद्दों के सात अपने राजनीतिक जीवन में आगे बढ़ता है।’ उन्होंने कहा, ’आगे जागर, मैं सब कुछ हासिल करूंगा, जो कांग्रेस के साथ रहते नहीं कर सका। मैं गुजरात के लोगों के रास्ते पर चलूंगा और उनकी भलाई के लिए काम करूंगा।

हार्दिक पटेल ने न्यूज चैनल के साथ बातचीत के दौरान कहा कि, ’मुझे नहीं लगता कि जिन मुद्दों का मैंने जिक्र किया है, उनपर काम करने के लिए कांग्रेस तैयार है।’ बीजेपी में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह अगले 10 दिनों में फैसले का ऐलान करेंगे। पटेल ने कहा कि, वह गुजरात के लोगों के लिए काम करने के लिए राजनीति में आए हैं। जनसेवा करना ही मेरी जिंदगी का मकसद है। उन्होंने आगे कहा कि, ’मैं गुजरात में राजनीति में बीते साल सालों से हूं। कांग्रेस कई सालों से सत्ता में नहीं है। गुजरात के लोग कांग्रेस पार्टी को नहीं चाहते और उसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं।

हार्दिक पटेल ने कहा कि, गुजरात के लोगों का झुकाव भारतीय जनता पार्टी को स्वीकार करने की ओर ज्यादा है। मैंने जिन 4 मुद्दों पर बात की वह सत्तारूढ़ पार्टी के साथ ज्यादा मेल खाते हैं। मेरा फैसला अगले 10 दिनों में सभी के सामने होगा।’ उन्होंने आगे कहा कि, मेरी विचारधारा केवल जनहित है। कांग्रेस किसके लिए काम करती है? अगर आप यह कह रहे हैं कि जनहित के लिए काम करने से अगर मेरी विचारधारा बदल गई है, तो मैं कहूंगा हां मैंने विचारधारा बदल ली है। चाहे बात सामाजिक हित, राज्य के हित या राष्ट्र हित की हो, मैंने विचारधारा बदली है।

बतादें, गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने तकरीबन तीन साल तक कांग्रेस में रहने के बाद कांग्रेस को छोड़ दिया है। उन्होंने बीते दिनों एक लंबा-चौड़ा इस्तीफा पत्र लिखकर कांग्रेस को आईना दिखाने का काम किया है। साथ ही उन्होंने पार्टी के भीतर अंतर्कलह का मुद्दा भी उठाया। हार्दिक ने खुलकर अपने पत्र में लिखा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में गंभीरता नहीं है। पार्टी के भीतर मेरा तिरस्कार किया गया जिसकी वजह से मैंने कांग्रेस पार्टी को छोड़ दिया। दरअसल, हार्दिक आगामी चुनाव में अपनी स्थिति को मजबूत बनाना चाहते हैं और उन्हें कांग्रेस आगामी चुनाव में मजबूत विकल्प के तौर पर नहीं दिख रही है, यही वजह है कि उन्होंने खुलकर कांग्रेस के खिलाफ बोला है।

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities