ब्रेकिंग
अयोध्या का किन्नर समाज गरीबों की सहायता करने में तत्परAuraiya: बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, अधेड़ हुआ घायलAuraiya: सवारियों से भरी बस खाई में गिरी, 20 यात्री हुए घायलAgra: बेटों ने नहीं दिया सम्मान तो पिता ने संपत्ति की डीएम के नामHamipur: हाईवे पर हुई दो दुर्घटनाएं, तीन लोग हुए घायलHamirpur: ट्रक ने बाइक सवार पिता-पुत्र को रौंदा, मौके पर हुई मौतHamirpur: विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु, जनपद को नौ जोन और 42 सेक्टर में बांटा गयामहोबा दौरे पर प्रियंका गांधी, प्रतिज्ञा रैली को करेंगी सम्बोधितHamirpur: शहर के बीच जेल तालाब में आग लगने से हड़कंप, बड़ा हादसा टलाJaunpur: पुलिस चौकी में घुसा ट्रक, हादसे में 1 की मौत, एक पुलिसकर्मी घायल

हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं मार्च 2022 के अंतिम सप्ताह में प्रस्तावित, छात्रों को देनी होंगी तीन बार प्रायोगिक परीक्षा

अजय सिंह, सीतापुर

हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं मार्च 2022 के अंतिम सप्ताह में प्रस्तावित हैं। यूपी बोर्ड सचिव दिव्य कांत शुक्ला की ओर से जारी शैक्षणिक कैलेंडर में स्पष्ट किया गया है कि 10वीं और 12वीं के छात्र- छात्राओं को तीन बार प्रायोगिक परीक्षा देनी होंगी। कोरोना काल में परिणाम तैयार करने में कोई कठिनाई को देखते हुए इस बार ग्रह परीक्षा और बोर्ड परीक्षा में कई तरह के अहम बदलाव हुए हैं। 10वीं और 12वीं के छात्रों को नवंबर के द्वितीय सप्ताह में अर्धवार्षिक परीक्षा की प्रयोगात्मक परीक्षा देनी होगी और 24 से 31 मार्च तक प्री बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं होंगी। जबकि फरवरी के चौथे सप्ताह में बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं प्रस्तावित हैं।

नवंबर के तीसरे सप्ताह में अर्धवार्षिक लिखित परीक्षा होगी जो कि मासिक शैक्षिक पंचांग में 15 नवंबर तक सभी विषयों के लिए निर्धारित पाठ्यक्रम के आधार पर होंगी। दिसंबर के दूसरे सप्ताह तक छात्र छात्राओं के प्रधान यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे। कक्षा 9 से 12 तक सभी कक्षाओं में ऑनलाइन हुआ ऑफलाइन शिक्षण कार्य पूरा किया जाएगा। प्री बोर्ड की लिखित परीक्षा और कक्षा 9 और 11 की वार्षिक ग्रह परीक्षा फरवरी के प्रथम सप्ताह में होगी। प्री बोर्ड और वार्षिक परीक्षा के प्राप्तांक फरवरी के तीसरे सप्ताह में वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे। 2022 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा 70% कोर्स के आधार पर ही कराने का प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है। इसे शीघ्र ही शासन को मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। पूरे 100 फ़ीसदी पाठ्यक्रम की बजाय 70% की ही परीक्षा लेने की तैयारी है। बोर्ड ने पिछले साल भी 20 जुलाई को 70% के आधार पर कोर्स जारी किया था उसके आधार पर परीक्षाएं होनी थी लेकिन कोरोना के कारण परीक्षाएं निरस्त करनी पड़ी। पिछले सत्र में जिले में हाई स्कूल में 52873 और इंटरमीडिएट में 51067 परीक्षार्थी थे। इस वर्ष विभाग की ओर से बताया जा रहा है कि बोर्ड परीक्षाओं की संख्या में इजाफा होने का अनुमान है। DIOS डॉक्टर विनोद राय ने बताया कि विभाग की ओर से बोर्ड परीक्षा मार्च में कराने का समय तय किया गया है। परीक्षा 70 फ़ीसदी पाठ्यक्रम के आधार पर ही होंगी और प्री बोर्ड की लिखित परीक्षा फरवरी के प्रथम सप्ताह में होगी। शासन से प्राप्त गाइडलाइन के अनुसार शैक्षणिक कार्य गतिमान है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities