ब्रेकिंग
Panchang: आज का पंचांग 25 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 24 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 23 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयकानपुर हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन आया सामने, सर्विलांस पर लगे मोबाइलों से हुआ बड़ा खुलासाबाँदा में प्राधिकरण और निबंधन की मिलीभगत से प्लाटिंग के नाम पर हो रही है खुली डकैती ,आप भी हो जाइए सावधान!Panchang: आज का पंचांग 22 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयशिवसेना में लगातार बढ़ रही है बागी विधायकों की संख्या, अब तक 42 MLA ने ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोलाऑटो रिक्शा चलाने और रिवॉल्वर-पिस्टल रखने वाले इस नेता ने ठाकरे को दी चुनौती, महाराष्ट्र की महा विकास आघाडी सरकार गिरने की शुरू हुई उल्टी गिनतीएक ‘महिला मस्साब’ कैसे चुनीं गईं एनडीए के राष्ट्रपति की उम्मीदवार, पीएम नरेंद्र मोदी ने इन बड़े नामों के बजाए द्रौपदी पर क्यों लगाया दांवअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सीएम योगी का दिखा अनोखा अंदाज, तस्वीरों में देखें कैसे दिया स्वस्थ जीवन का संदेश

ATS के ADG ने एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के साथ परखी हिंसा की साजिश, जांच-पडतल के अलावा सात और उपद्रवियों को किया गिरफ्तार

कानपुर। जुमे की नमाज के बाद कानपुर में भड़की हिंसा के बाद पुलिस, यूपी एसटीएफ के साथ ही अब यूपी एटीएस ने भी शहर में डेरा जमा लिया है। दंगे में ं पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की भूमिका मिली है। मुख्य आरोपी हयात जफर हाशमी के इस संगठन से जुड़े होने के साक्ष्य पुलिस ने कब्जे में लिए हैं। हयात के घर से पीएफआई से जुड़ी 4 संस्थाओं के फंडिंग से जुड़े दस्तावेज बरामद किए गए हैं। अब टेरर फंडिंग की जांच के लिए यूपी एटीएस के एडीजी नवीन अरोड़ा ने घटना की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

बैंक अकाउंट की डिटेल की बारीकी से छानबीन
यूपी एटीएस के एडीजी नवीन अरोड़ा हिंसा के बाद कानपुर पहुंचे। सबसे पहले उन्होंने आईपीएस अजय पाल के साथ बैंक अकाउंट की डिटेल की बारीकी से छानबीन की। इसके बाद एडीजी का काफिला कमांडों के साथ हिंसा वाले इलाकों में पहुंचा। मौके पर कई साक्ष्य एकत्र करने के साथ ही आरोपियों के घर पर भी गए। फिलहाल, ये पता लगाया जा रहा है कि संस्था की फंडिंग के सोर्स क्या थे। एडीएस पीएफआई के अलावा आंतकी साजिश की भी पड़ताल कर रही है। एटीएस की रडार में कई संदिग्ध चढ़े हैं। जिनकी कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है।

स्लीपिंग मॉड्यूल भी कानपुर से पकड़े जा चुके है
कानपुर के आतंकी सैफुल्ला का लखनऊ में एनकाउंटर और कानपुर से आतंकी डॉक्टर बम उर्फ जलीस अंसारी को गिरफ्तार किया गया था। इसके साथ ही एयरपोर्ट के पास से आतंकी कमरुज्जमा और स्लीपिंग मॉड्यूल भी कानपुर से पकड़े जा चुके हैं। अचानक एटीएस मूवमेंट बढ़ने से आशंका जताई जा रही है कि जल्द बड़ी साजिश से पर्दा हट सकता है। एटीएस की मदद के लिए आईपीएस शर्मा को लगाया गया है। एनकाउंटर स्पेशलिस्ट आईपीएस लगातार हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं।

उपद्रवियों को लगेंगे पोस्टर
5 घंटे की हिंसा के बाद पुलिस ने 3 एफआईआर दर्ज करके 1040 लोगों को आरोपी बनाया। पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीना के मुताबिक लखनऊ में एक यूट्यूब चैनल के दफ्तर से हयात समेत 4 मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, अब तक 36 उपद्रवियों की पहचान हो चुकी है। तैयारी है कि उनके पोस्टर कानपुर के बाजारों में लगाए जाएंगे। ताकि, लोग जान सकें कि माहौल को खराब करने के पीछे किनका हाथ रहा।

सात और उपद्रवी गिरफ्तार
संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया शनिवार तक 22 लोग गिरफ्तार किए गए थे। रविवार दोपहर तक सात और उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है। उनकी पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई है। अबतक 29 उपद्रवियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। उन्होंने बताया कि प्रकरण में केरल के पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के शामिल होने के संकेत मिल रहे हैं। पीएफआई से हयात का कनेक्शन की जांच की जा रही है, जल्दी अन्य उपद्रवियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities