ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के इस जज ने नूपुर शर्मा को सुनाई खरी-खरी, याचिका खरिज कर कहा टीवी में जाकर देश से मांगे माफी‘चायवाले’ ने पवार के ‘पॉवर’ और ठाकरे के ‘इमोशन’ का निकाला तोड़, ‘ऑटो चालक’ को इस वजह से बनाया महाराष्ट्र का चीफ मिनीस्टरउदयपुर घटना को लेकर कानपुर के मुस्लिम संगठन के साथ अन्य लोगों में उबाल, कन्हैयालाल के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलवाए ‘सरकार’महाराष्ट्र में फिर से बड़ा उलटफेर, शिंदे के साथ फडणवीस लेंगे शपथBIG BREAKING – देवेंद्र फडणवीस नहीं, एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, शाम को अकेले लेंगे शपथशिंदे बने मराठा राजनीति के ‘बाहुबली’ जानिए देवेंद्र भी ‘समंदर’ से क्यों कम नहींPanchang: आज का पंचांग 30 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयMonsoon Update: गाजियाबाद और आसपास के जिलों को करना होगा बारिश का इंतजार, पूर्वी यूपी में हल्की बारिश शुरूउदयपुर हिंसा का सायां यूपी तक पहुंचा, यूपी के मेरठ जोन में अलर्ट, सोशल मीडिया पर खाास नजरCorona Update: कोरोना ने बढ़ाई देश की टेंशन, एक ही दिन में बढ़ 25 फीसदी मरीज बढ़े, 30 लोगों की मौत

पीएसी के दाखिल होते ही कंघी मोहाल में पसर गया अंधेरा, आमिर पकड़ा गया जबकि नाजिर पुलिस की गिरफ्त से भागा

कानपुर। 3 जून को जुमे के बाद कानपुर में भड़की हिंसा के बाद पुलिस का एक्शन जारी है। 40 संदिग्धों की पोटो वाले पोस्टर चस्पा करने के बाद पुलिस के अधिकारी पीएसी के साथ कंधी मोहाल में दाखिल हुए। पीएसी को देख लोग घरों में दुबक गए और घरों की बिजली के साथ रोड लाइट भी बंद कर दी। कुछ ने तो ताले लटका दिए। बावजूद पुलिस ने दो दंगाईयों को दबोच लिया। इसबीच इलाके की महिलाएं व पुरूष बाहर आ गईं और एक आरोपित को छुड़ाने में कामयाब रहे।

पहले ही बंद कर दी बिजली
कानपुर में बीते शुक्रवार को उपद्रव तथा हिंसा के मामले में पुलिस पत्थरबाजी करने वालों पर शिकंजा कस रही है। नई सड़क पर तीन जून को हुए बवाल में एक आरोपित को पकड़ने के लिए गई पुलिस टीम पर बजरिया थाना क्षेत्र के कंघी मोहाल में दाखिल हुई। पीएसी के जवानों के साथ पुलिस ने दो आरोपितों को दबोच लिया। दबिश की जानकारी पर स्थानीय लोगों ने बिजली बंद कर दी थी। पूरे इलाके में अंधेरा था और इसी का फाएदा उठाते हुए महिला व पुरूषों ने मिलकर एक आरोपित को छुड़ा लिया।

आमिर का दोस्त भागने में कामयाब रहा
पुलिस को सूचना मिली कि बजरिया थाना क्षेत्र के कंघी मोहाल निवासी मन्ना का बेटा आमिर भी उपद्रवियों में शामिल था। इस सूचना पर पुलिस उसे पकड़ने के लिए पहुंची। नाजिर ढाल के पास पुलिस को आमिर और उसक साथी दिखाई पड़ा। पुलिस ने जैसे ही उसे पकड़ा, क्षेत्रीय लोग और महिलाओं ने विरोध में आ गए। देखते ही देखते भीड़ बढ़ गई। भीड़ के दबाव में आमिर का दोस्त पुलिस की हिरासत में से भाग निकला। घटना की जानकारी अधिकारियों को हुई तो आनन फानन भारी संख्या में फोर्स मौके पर भेजा गया।

 रोड लाइट भी बंद कर दी
पुलिस और पीएसी के पहुंचने पर लोग घरों में दुबक गए और घरों की बिजली के साथ रोड लाइट भी बंद कर दी। कुछ ने तो ताले लटका दिए। देर रात तक क्षेत्र में भारी तनाव बना हुआ था, हालांकि पुलिस ने इसके बाद किसी भी तरह का बल प्रयोग नहीं किया और अधिकारी लोगों को समझाते दिखाई दिए। बताया जा रहा है कि इस दौरान भीड़ ने पुलिस टीम पर पथराव भी किया। हालांकि पुलिस ने पथराव जैसी घटना से इनकार किया है। घटना के बाद क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है। क्षेत्र में जबरदस्त तनाव है।

नहीं हुआ पथराव
इस घटना के बाद पुलिस पर पथराव की खबर तेजी से वायरल हुई। इसके कुछ देर बाद संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने स्थिति स्पष्ट की। उन्होंने बताया कि कंघी मोहाल के संदर्भ में जो खबर चल रही है वह असत्य है। पुलिस टीम एक अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए गई थी जिसका उसके परिवार के द्वारा विरोध किया गया, परंतु पुलिस ने बल प्रयोग के साथ संयम बरतते हुए एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities