ब्रेकिंग
Auraiya: पिछड़ों को मंत्री बनाना भाजपा की चाल- त्रिवेणी पालTEAM INDIA का नया कोच: मुख्य कोच पद के लिए द्रविड़ ने किया आवेदनप्रमोशन में रिजर्वेशन मामला: केंद्र और राज्य सरकारों की दलीलें पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसलाSiddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरू

Ghaziabad: लाइन पार क्षेत्र में फैला डेगूं, कई मरीज अस्पताल में भर्ती, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम ने नहीं ली सुध

दिनेश सिंह, गाजियाबाद

नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते गाजियाबाद में डेंगू जैसी घातक बीमारी ने पैर पसार लिए हैं। शहर में चारों ओर कूड़ा ही कूड़ा नजर आ रहा है। जिसके कारण महामारी फैलती जा रही है। ऐसे कई मरीज विजयनगर क्षेत्र में मिले हैं। जिनमें सिद्धार्थ विहार के ब्रह्मपुत्र एंक्लेव, विजयनगर और प्रताप विहार की अन्य सोसाइटी में डेंगू के मरीज मिले हैं और वह अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।आपको बता दें कि प्रताप विहार के बगल मलिट्री जमीन में अवैध रूप से भैंस डेरी संचालित है। जिससे निकला गोबर एवं बर्बाद चारे से गंदगी की भरमार है। रामलीला ग्राऊंड में फैले कूड़े की अवैध डंपिंग, जबकि पार्षद महोदय कहते हैं कि हमारे पास पर्याप्त सफाई कर्मचारी है। फिर ये फैली गंदगी से संक्रामक रोगों की जिम्मेदारी कोई तो ले। यदि विकास का बखान भाजपा पार्षद के जिम्मे तो विनाश की भी जिम्मेदारी ले।

जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग मलेरिया विभाग नगर निगम कोई ध्यान नहीं दे रहा है। सिद्धार्थ में बने कूड़ा घर से महामारी फैलती जा रही है। जानकारी के अनुसार, पिछले करीब 2 साल से सिद्धार्थ विहार में नगर निगम द्वारा कूड़ा घर बनाया गया है। जिस पर ट्रकों से कूड़े का ढेर लगाया जाता है। कूड़े की बदबू के कारण सिद्धार्थ विहार, कैलाश नगर, गऊपुरी, माधोपुर, कैलाखेडा, प्रताप विहार के लोगों का जीना दूभर हो गया है। बदबू और गंदगी के कारण महामारी फैल गई है। लोगों द्वारा कई बार शिकायत करने के बावजूद नगर निगम और आवास विकास के अधिकारियों ने खानापूर्ति कर अपना पल्ला झाड़ लिया। इस महामारी से कई कॉलोनियों में डेंगू ने पैर पसार लिए

ब्रह्मपुत्र एनक्लेव सेक्टर 10 और सेक्टर 9 प्रेम धाम, गोकुल धाम, इस डब्ल्यू एस कालोनी काशीराम कालोनी में डेंगू के मरीज मिले हैं। जो जिला हास्पिटल सहित अन्य अस्पतालों में भर्ती हैं और अपना इलाज करा रहे हैं। डेंगू के मरीज मिलते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया और मलेरिया विभाग के कुछ कर्मचारियों को डीपी शुक्ला और रामऔतार नामक व्यक्ति इन सोसाइटी में सर्वे करने पहुंचे। लेकिन उन्होंने ना तो सर्वे किया और न ही दवा का छिड़काव किया। बिना खानापूर्ति करे चले गए। जिससे लोगों में भारी रोष व्याप्त है। सभी लोग स्थानीय भाजपा पार्षद द्वारा बरती जा रही लापरवाही और असहयोग के विरुद्ध जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी और नगरायुक्त से कार्रवाई करने और मच्छरों के लिए फागिंग कराने की मांग की है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities