बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

माईब्रांच के कानपुर में कदम रखते ही बोले बीजेपी सांसद सत्यदेव पचौरी, योगी के राज में उत्तम प्रदेश बन रहा यूपी, छोटे-बड़े बिजनेसमैन को कम कीमत पर ऑफिस मुहैया कराएगी कंपनी

कानपुर। माईब्रांच के कानपुर में कदम रखने पर बीजेपी के सांसद सत्यदेव पचौरी खासे गदगद हैं। उन्होंने कहा कि, जिस तरह से परमठ स्थित आनंदेश्वर मंदिर में कॉरीडोर का निर्माण हो रहा है तो वहीं दूसरी तरह माईब्रांच, एशिया के मैनचेस्टर में आने से छोटे-बड़े बिजनेसमैन के अलावा अन्य लोगों को ऑफिस की समस्या से अब नहीं जूझना पड़ेगा। कंपनी कम दामों पर ऑफिस मुहैया कराएगी। बीजेपी सांसद ने कहा कि, कानपुर में लेदर के अलावा होजारी की सैकड़ों फैक्ट्रियां हैं। यहां हजारों लोग जॉब करते हैं। फैक्ट्रियों के पास ऑफिस नहीं होने से उन्हें कई समस्याओं से जूझना पड़ता है। ऐसे में माईब्रांच इनके लिए मील का पत्थर साबित होगी।

एशिया के मैनचेस्टर को लग रहे विकास के पंख
कानपुर की आर्य नगर स्थित माईब्रांच के 50 वें सह-कार्यस्थल का उद्घाटन करते हुए बीजेपी सांसद सत्यदेव पचौरी सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में देश और उत्तर प्रदेश, उत्तम प्रदेश बनने की ओर अग्रसर है। बीजेपी सांसद ने कहा कि यहां सैकड़ों छोटे-बड़े कारखाने हैं, जहां हजारों की संख्या में लोग काम करते हैं। फैक्ट्री के मालिकों को ऑफिस की समस्या रहती है। ऐसे में माईब्रांच ने इनलोगों की समस्या का समाधान कर दिया है। कंपनी ने कानपुर में अपना 50वीं ब्रांच शुरू कर दी है। जो भी व्यक्ति रोजगार के लिए ऑफिस चाहेगा, उसे कंपनी कम कीमत पर उपलब्ध करवाएगी।

माईब्रांच इस क्रांति में सबसे आगे
माईब्रांच के सह-संस्थापक, कुशल भार्गव ने कहा हमारी यात्रा की शुरुआत के बाद से हमारा लक्ष्य उन क्षेत्रों में प्रवेश करना है, जहां सह-कार्य अभी तक नहीं पहुंचा है। हमने कई स्थानों पर सांझा कार्यालय खोले हैं। हम अपने ग्राहकों के साथ बढ़ना चाहते हैं, और साथ ही साथ उनकी व्यावसायिक जरूरतों को पूरा करते हुए उन्हें स्थायी समाधान प्रदान करना चाहते हैं। अपने व्यापार दर्शन को ध्यान में रखते हुए, हमने और केन्द्र खोले हैं। कुशल भार्गव ने कहा कि, शहरी अंतरिक्ष और बुनियादी ढांचे की बढ़ती मांग के साथ, साझा स्थान के उपयोग ने पारंपरिक स्व-निहित कार्यालयों की जगह ले ली है। माईब्रांच इस क्रांति में सबसे आगे रहा है।

कानपुर में इस तरह से तैयार किए गए ऑफिस
कुशल भार्गव ने बताया कि, कानपुर केंद्र 2143 वर्ग फुट क्षेत्र पर कब्जा करेगा और इसमें 45 सीटें, दो चार सीट बैठक कक्ष और एक आठ सीट सम्मेलन कक्ष शामिल होंगे। सभी माईब्रांच केंद्र बैठकों, सीसीटीवी निगरानी, जलपान और बहुत अच्छी नेटवर्क कनेक्टिविटी के लिए सुविधाओं के साथ अच्छी तरह से नियुक्त हैं। ग्राहकों को उनके निर्दिष्ट क्षेत्रों में अपने बैनर और साइनेज प्रदर्शित करने का विकल्प दिया जाता है। स्पेस को यूजर्स की जरूरत के हिसाब से डिजाइन किया जा सकता है। सह-कार्यस्थल की पेशकश 700 वर्ग फुट से लेकर 10000 वर्ग फुट तक है।

650 से अधिक सह-कार्य केंद्र
माईब्रांच के सह-संस्थापक, कुशल भार्गव ने बताया कि, हाल ही में जबलपुर, नागपुर, रायपुर, अमृतसर, सेलम, गोरखपुर, आदि शहरों में कंपनी ने ऑफिस बनाए हैं। उन्होंने कहा कि, कोविड 19 की दूसरी लहर के बाद, टियर और टियर शहरों में मांग बढ़ने के साथ कर्षण प्राप्त किया। कई नियोक्ता अब अपने कर्मचारियों को कहीं से भी काम करने की अनुमति देते हैं। हाइब्रिड मॉडल के प्रचलन में होने के कारण, अधिक से अधिक व्यवसाय लचीले कार्यस्थलों का चयन कर रहे हैं। को-वर्किंग स्पेस उद्योग के 2023 के अंत तक और 50 मिलियन वर्ग फुट बढ़ने की उम्मीद है। वर्तमान में, टियर शहरों में 650 से अधिक सह-कार्य केंद्र हैं।

कानपुर में बड़ी संख्या में लघु उद्योग

माईब्रांच के सह-संस्थापक, कुशल भार्गव ने कहा कि, कानपुर अपने संपन्न चमड़े और कपड़ा व्यवसायों के लिए जाना जाता है। कई अन्य उद्योगों ने भी यहां जड़ें जमा ली हैं। कानपुर में बड़ी संख्या में लघु उद्योग स्थित हैं और पूरे क्षेत्र के विकास में योगदान करते हैं। औद्योगिक विकास में वृद्धि के साथ, कार्यालय स्थान अब एक प्रीमियम पर आता है। कानपुर में माईब्रांच को-वर्किंग लोकेशन का खुलना इस शहर की क्षमता का प्रमाण है। कुशल भार्गव ने कहा कि कंपनी कम पैसे में अपने ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराएगी। जिन्हें ऑफिस चाहिए तो वह आर्यनगर स्थित कार्यालय में सपंर्क कर सकते हैं।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities