बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

रांची। बिहार में जिस तरह से सियासी घटनाक्रम हुआ, उससे विपक्ष गदगद है और 2024 में बीजेपी को सत्ता से बेदखल करने के लिए नई-नई रणनीति बनाने के साथ नेता बयान भी दे रहे हैं। जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष लल्लन सिंह ने कहा कि, अगर हमसब ने मिलकर बिहार, झारखंड और बंगाल में बीजेपी की जीती हुई करीब 40 सीटों पर कब्जा कर लें तो नरेंद्र मोदी तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते। इसी आहट के चलते सत्ताधारी दल ने मिशन 2024 को लेकर बड़ा कदम उठाया है। केंद्रीय नेतृत्व के दिशा-निर्देश के बाद ं झारखंड बीजेपी चुनावी मोड में आ चुकी है। यूपी के प्रदेश सह संगठन मंत्री कर्मवीर सिंह रहे कर्मवीर सिंह को झारखंड की कमान सौंपी गई है। कर्मवीर, बीजेपी कार्यकर्ताओं को सियासी पढ़ाई से दक्ष करवाएंगे। इसके बाद पार्टी भाजपाईयों की परीक्षा लेगी। परीक्षा पास करने वाले कार्यकर्ता पदों में बैठाए जाएंगे।

14 में से 12 पर मिली थी बीजेपी को जीत
बीजेपी मिशन 2024 को फतह करने के लिए जुट गई है। इसी के चलते संसदीय बोर्ड में कई नेताओं को बाहर कर नए नेताओं को लिया गया है। यूपी में संगठन मंत्री रहे सुनील बंसल को बंगाल के अलावा अन्य राज्यों की जिम्मेदारी दी गई है तो वहीं झारखंड राज्य के संगठन महामंत्री धर्मपाल को यूपी भेजा गया है। यूपी के प्रदेश सह संगठन मंत्री कर्मवीर सिंह को झारखंड की कमान सौंपी गई है। कर्मवीर के सामने झारखंड में 2019 की सफलता को दोहराने की चुनौती है। तब बीजेपी ने लोकसभा की 14 में 12 सीटों पर सफलता दर्ज की थी।

27 से चलेगा तीन दिन तक प्रशिक्षण शिविर
सह संगठन मंत्री कर्मवीर सिंह ने राज्य में विपक्ष का सफाया करने के लिए बीजेपी का 27 अगस्त से तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर गिरिडीह जिले के पारसनाथ में लगाने जा रहे हैं। इसमें भाजपाई राजनीति की पढ़ाई पढ़ेंगे और परीक्षा भी देंगे। प्रशिक्षण शिविर में तीन सौ के करीब प्रतिनिधि भाग लेंगे। राजनीति, चुनावी राजनीति, बूथ मैनेजमेंट, भाजपा की विचारधारा से जुड़े 15 विषयों की पढ़ाई होगी। पढ़ाई के बाद प्रतिनिधि परीक्षा देंगे। झारखंड प्रदेश बीजेपी के प्रशिक्षण प्रमुख पलामू निवासी मनोज सिंह प्रशिक्षण की तैयारी में जुट गए हैं।

संगठन के पदाघिकारी-जनप्रतिनिधि भी रहेंगे मौजूद
मनोज सिंह ने बताया कि प्रदेश पदाधिकारी और कार्य समिति के सभी सदस्य प्रशिक्षण में भाग लेंगे। इसके साथ ही 24 जिलों के जिला अध्यक्ष और सातों मंच-मोर्चा के अध्यक्ष भाग लेंगे। इसमें झारखंड के सभी प्रमुख नेता बाबूलाल मरांडी, रघुवर दास और अर्जुन मुंडा के साथ ही सभी सांसद-विधायक भी भाग लेंगे। केंद्रीय नेता भी भाग लेंगे। हालांकि अभी नाम फाइनल नहीं हुआ है। मनोज सिंह ने बताया कि केंद्रीय कार्यालय को केंद्रीय नेताओं के नाम की सूची भेजी दी गई है। एक-दो दिनों में कार्यक्रम फाइनल हो जाएगा।

झारखंड को बीजेपी का मजबूत गढ़ माना जाता है
झारखंड बीजेपी का मजबूत गढ़ रहा है। अपवाद स्वरूप 2004 के लोकसभा चुनाव को छोड़ दें तो हर चुनाव में भाजपा को 14 में से 10 से ज्यादा सीटें मिलती रही हैं। 2004 के चुनाव में सिर्फ कोडरमा लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी प्रत्याशी बाबूलाल मरांडी को जीत मिली थी। 13 सीटों पर बीजेपी प्रत्याशी बुरी तरह हारे थे। 2019 के चुनाव में बीजेपी को 12 सीटें मिली थी। 2024 के चुनाव में भी बीजेपी सफलता को दोहराना चाहती है। इससे पहले झारखंड के भाजपाई राजनीति की पढ़ाई पढ़ने जा रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities