ब्रेकिंग
Panchang: आज का पंचांग 25 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 24 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 23 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयकानपुर हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन आया सामने, सर्विलांस पर लगे मोबाइलों से हुआ बड़ा खुलासाबाँदा में प्राधिकरण और निबंधन की मिलीभगत से प्लाटिंग के नाम पर हो रही है खुली डकैती ,आप भी हो जाइए सावधान!Panchang: आज का पंचांग 22 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयशिवसेना में लगातार बढ़ रही है बागी विधायकों की संख्या, अब तक 42 MLA ने ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोलाऑटो रिक्शा चलाने और रिवॉल्वर-पिस्टल रखने वाले इस नेता ने ठाकरे को दी चुनौती, महाराष्ट्र की महा विकास आघाडी सरकार गिरने की शुरू हुई उल्टी गिनतीएक ‘महिला मस्साब’ कैसे चुनीं गईं एनडीए के राष्ट्रपति की उम्मीदवार, पीएम नरेंद्र मोदी ने इन बड़े नामों के बजाए द्रौपदी पर क्यों लगाया दांवअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सीएम योगी का दिखा अनोखा अंदाज, तस्वीरों में देखें कैसे दिया स्वस्थ जीवन का संदेश

Panchang: आज का पंचांग 14 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

दिनांक- 14 जून 2022 का पंचांग
सौजन्य- आचार्य दीपान्त कुमार शर्मा

 

संवत:-2079(नल-संवत्सर), शाका:-1944.

रवि:-उत्तरायण/उत्तरगोल.
ऋतु:-ग्रीष्मऋतु। मास:-जेष्ठ !!

पक्ष:-शुक्लपक्ष!!
तिथि:-जेष्ठी पूर्णिमा/वटसावित्री व्रत/624वीं सन्त कबीर जयन्ती !!
वार:-मंगलवार !!
नक्षत्र:-जेष्ठा !!
योग:-साध्य/शुभ !!
करण:-विष्टि/बव !!
दिशाशूल:-उत्तरदिशा !!
पंचक-विचार:-पंचक आजकल नहीं हैं !!
गंडमूल-विचार:-गंडमूल कल 15 जून दोपहर 3:33 तक रहेंगे !!
राहुकाल:-अपरान्ह 3:00 से 4:30 तक {स्थूल } केवल दक्षिण भारत मे विचार्णिय !!
==================================
मंगल-बीजमंत्र:-ओम क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम:।
🌕भूमिपुत्रो महातेजा जगतोभयकृत्सदा। 🌕 🌕वृष्टिकृद्-वृष्टिहर्ता च पीड़ां दहतु मे कुज:।। 🌕
==================================
🛕……..||आजका-विचार अवश्य पढ़ें ||……..🛕

🛕🙏 हृदयस्पर्शी अनमोल वचन-830 🙏🛕

उस बददुआ से एक बार फिर भी बचा जा सकता है जो शब्दों से दी गई हो ! पर उस बददुआ से बचना नामुमकिन है जो खामोशी से दी गई हो !!

हो सकता है दूसरी तरफ की घास आपको हरी लगे। लेकिन अपनी घास को पानी देने का वक्त तो निकालिए, फिर यह भी हरी दिखेगी !!

अगर दुसरों को दुखी देखकर तुम्हे भी दुःख होता है तो समझ लो की उपर वाले ने तुम्हे इंसान बनाकर कोई गलती नहीं की है !!

बाल्यावस्था में हम विचार मुक्त होते हैं केवल उस पल को जीते हैं इसलिए प्रसन्न रहते हैं, विचारों से मुक्ति ही प्रसन्नता का द्वार है !!

जहाँ लगे सब खत्म हो गया, समझो वही तुम्हारा प्रारंभ है। डर कर कभी भी हार न जाना क्योंकि अंत हीं आरंभ है !!

आनंद तो छोटी छोटी बातो मे ही ढूढना चाहिए, क्योंकि बड़ी-बड़ी बातें तो जीवन मे कभी-कभी ही होती है !!
🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕
छोटी-छोटी खुशियां ही तो जीने का सहारा बनती है, ख्वाहिशो का क्या वो तो पल पल बदलती है !!🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕
आचार्य दीपान्त कुमार शर्मा
कर्मकाँड एवं फलित ज्योतिषाचार्य
जय श्री माँ बगलामुखी जी
(दतिया)
संपर्क सूत्र-9761027940

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities