Notice: Undefined property: AIOSEO\Plugin\Common\Models\Post::$options in /home/customer/www/astitvanews.com/public_html/wp-content/plugins/all-in-one-seo-pack/app/Common/Models/Post.php on line 104
dir="ltr" lang="en-US" prefix="og: https://ogp.me/ns#" > Panchang: आज का पंचांग 21 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय - Astitva News
बड़ी ख़बरें
Mainpuri Exit Poll : शिवपाल यादव के ‘खेला’ से बदल गई एक्जिट पोल की तस्वीर, मैनपुरी लोकसभा सीट पर नेता जी के चेले से आगे निकलीं ‘डिप्पल बहू’कौन है वो Nukush Fatima जिसकी एक गुहार में Cm Yogi ने प्रशासन की लगा दी क्लास और 24 घंटे में वो कर दिया जो 20 सालों में नही हो पाया !अब फातिमा का परिवार Yogi को दे रहा है दुआएं !आज पूरा देश #RohiniAcharyaको कर रहा है सलाम,Lalu की बेटी ने अपनी किडनी देकर पिता को दी नई जान !Gujrat के बेटे ने बदल दी सियासी बाजी ,सातवीं बार फिर गुजरात में खिलेगा कमल Congress के बयानवीरों ने फिर डुबोई कांग्रेस की लुटिया !Irfan Solanki News : कानून के शिकंजे से घबराए इरफान सोलंकी ने भाई समेत किया सरेंडर, पुलिस कमिश्नर आवास के बाहर फूट-फूट कर रहे विधायक, जानें किन धाराओं में दर्ज है FIRPM Modi Roadshow : गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रचंड मतदान के बाद पीएम नरेंद्र मोदी का मेगा रोड शो, 3 घंटे में 50 किमी से अधिक की दूरी के साथ ‘नमो’ का विपक्ष पर ‘हल्लाबोल’‘बाहुबली’ पायल भाटी ने ‘बदलापुर’ के लिए रची हैरतअंगेज कहानी, हेमा का कत्ल करने के बाद पुलिस से इस तरह बचती रही बडपुरा गांव की ‘किलर लेडी’Gujarat Assembly Election 2022 : गुजरात में है आजाद भारत का ऐसा पोलिंग बूथ, जहां सिर्फ एक वोटर जो 500 शेरों के बीच करता वोट, लोकतंत्र के त्योहार की बड़ी दिलचस्प है स्टोरीगुजरात में किस दल की बनेगी ‘सरकार’ को लेकर जारी है मदतान, रवींद्र जडेजा की पत्नी समेत इन 10 दिग्गज चेहरों के साथ मोरबी हादसे में नायक बनकर उभरे इस नेता पर सबकी नजरGujarat Assembly Election : गुजरात में भी है मिनी अफ्रीका, जहां पहली बार मतदान कर रहे मतदाता, बड़ी दिलचस्प है यहां की गाथा

Panchang: आज का पंचांग 21 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

दिनांक- 21 जून 2022 का पंचांग
सौजन्य- आचार्य दीपान्त कुमार शर्मा

संवत:-2079(नल-संवत्सर), शाका:-1944.

रवि:-उत्तरायण/उत्तरगोल/दक्षिणायन प्रारंभ !!

ऋतु:-ग्रीष्मऋतु/वर्षाऋतु प्रारंभ। मास:-आषाढ़ !!
पक्ष:-कृष्णपक्ष!!
तिथि:-अष्टमी !!
वार:-मंगलवार !!
नक्षत्र:-उत्तराभाद्रपद !!
योग:-आयुष्मान/सौभाग्य !!
करण:-बालव/कौलव !!
दिशाशूल:-उत्तरदिशा !!
पंचक-विचार:-पंचक 23 जून प्रात: 6:14 तक रहेंगे !!
गंडमूल-विचार:-गंडमूल 22 जून प्रात: 5:03 से 24 जून प्रात: 8:04 तक रहेंगे !!
राहुकाल:-अपरान्ह 3:00 से 4:30 तक {स्थूल } केवल द. भा. मे विचार्णिय !!
==================================
मंगल-बीजमंत्र:-ओम क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम:।
🌕भूमिपुत्रो महातेजा जगतोभयकृत्सदा। 🌕 🌕वृष्टिकृद्-वृष्टिहर्ता च पीड़ां दहतु मे कुज:।। 🌕
==================================
🛕……..||आजका-विचार अवश्य पढ़ें ||……..🛕

🛕🛕🛕 अन्तर्राष्ट्रीय योग-दिवस 🛕🛕🛕

संसार में सबसे बड़ा दु:ख शरीर का होता है। अगर इंसान का शरीर स्वस्थ है तो उसे सारी दुनिया आनंदमय लगती है। लेकिन अगर इंसान का शरीर स्वस्थ नहीं है, बीमार है, शरीर में कोई तकलीफ है, कोई रोग है तो उसे यह पूरी दुनिया, उसकी अपने ही शरीर से कमाई धन-दौलत सब बेकार लगती है !!

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नित्यप्रति योग करें !!

योग का अभ्यास एक बेहतर इंसान बनने के लिए मन-मष्तिष्क से खुरापात साफ कर, एक निरोग शरीर मे स्वच्छ मन-मष्तिष्क और एक सुकून भरे जीवन को पाने के तरीकों में से एक है।

भारतीय ऋषि-मुनियों की प्राचीन पद्धति चिरंजीवी-भव:। आरोगमस्तु। सर्वेजना: सुखेन जीवन यापनमस्तु। सर्वे जना:आरोग्य शरद्-शतमस्तु।

इस अद्भुत दीर्घजीवी जीवन-शैली को एक नया प्रारुप देते हुए परम्-पुज्य “योग-शतक” बाबा रामदेव ने भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्रीनरेन्द्र मोदीजी के माध्यम से 2015 में समस्त “मानव-जगत” के कल्याणार्थ प्राय: तुप्त होती इस अनमोल “सनातन-धरोहर” को पुनर्जीवित कर एक नवीन “योग-जीवन-दान” दिया है।

जिसे लगभग विश्व के सभी देशों के शिक्षित-वर्ग ने सहर्ष स्वीकार किया है।

योग हमारे जीवन में इस प्राचीन भारतीय कला को अनमोल करने के महत्व पर बल देने का एक महान प्रयास है। अपने लिए करें योग । रहें निरोग !!
~~~~~~~~~
सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्व सन्तु निरामयाः।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चित भागभवेत।।
~~~~~~~~~
सभी सुखी होवें, सभी रोग मुक्त रहें, सभी मंगलमय के साक्षी बने और किसी को भी दु:ख का भागी ना बनना पड़े। इन्हीं मंगलमय कामनाओं के साथ आपका जीवन मंगलमय हो। बद्री प्रसाद गैरोला !!
🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕
दानवता मिटाने का एक मात्र उपाय मानवता है। योग से सारी दानवता मानवता मे बदल जाती है !!
🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕
आचार्य दीपान्त कुमार शर्मा
कर्मकांड एवं फ़लित ज्योतिषाचार्य
जय श्री माँ बगलामुखी जी
(दतिया)
संपर्क सूत्र-9761027940

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities