ब्रेकिंग
Panchang: आज का पंचांग 25 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 24 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयPanchang: आज का पंचांग 23 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयकानपुर हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन आया सामने, सर्विलांस पर लगे मोबाइलों से हुआ बड़ा खुलासाबाँदा में प्राधिकरण और निबंधन की मिलीभगत से प्लाटिंग के नाम पर हो रही है खुली डकैती ,आप भी हो जाइए सावधान!Panchang: आज का पंचांग 22 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयशिवसेना में लगातार बढ़ रही है बागी विधायकों की संख्या, अब तक 42 MLA ने ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोलाऑटो रिक्शा चलाने और रिवॉल्वर-पिस्टल रखने वाले इस नेता ने ठाकरे को दी चुनौती, महाराष्ट्र की महा विकास आघाडी सरकार गिरने की शुरू हुई उल्टी गिनतीएक ‘महिला मस्साब’ कैसे चुनीं गईं एनडीए के राष्ट्रपति की उम्मीदवार, पीएम नरेंद्र मोदी ने इन बड़े नामों के बजाए द्रौपदी पर क्यों लगाया दांवअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सीएम योगी का दिखा अनोखा अंदाज, तस्वीरों में देखें कैसे दिया स्वस्थ जीवन का संदेश

Panchang: आज का पंचांग 22 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

दिनांक- 22 जून 2022 का पंचांग
सौजन्य- आचार्य दीपान्त कुमार शर्मा

संवत:-2079(नल-संवत्सर), शाका:-1944.
रवि:-दक्षिणायन/उत्तरगोल !! ऋतु:-वर्षाऋतु !!
मास:-आषाढ़ !!
पक्ष:-कृष्णपक्ष !!
तिथि:-नवमी !!
वार:-बुधवार !!
नक्षत्र:-रेवती !!
योग:-सौभाग्य/शोभन !!
करण:-तैतिल/गर !!
दिशाशूल:-नैऋतदिशा !!
पंचक-विचार:-पंचक 23 जून प्रात: 6:14 तक रहेंगे !!
गंडमूल-विचार:-गंडमूल आज प्रात: 5:03 से 24 जून प्रात: 8:04 तक रहेंगे !!
राहुकाल:-दोपहर 12:00 से 1:30 तक (स्थूल/केवल द.भा. मे विचार्णिय) !!
=================================
बुध-बीजमंत्र:-ओम ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:।
🪴 उत्पातरूपी जगतां चंद्रपुत्रो महाद्युति:। 🪴🪴सूर्यप्रियकरो विद्वान् पीड़ां दहतु मे बुध:।। 🪴
==================================
🙏……..|| आजका विचार अवश्य पढ़ें ||…….🙏

🛕🙏 हृदयस्पर्शी अनमोल वचन-838 🙏🛕

हमारे ऋषि मुनि कह गए हैं “पहला सुख निरोगी काया ! दूसरा सुख जेब में हो माया” !!

यदि काया अर्थात शरीर रोगी है तो आप धन कैसे कमाएंगे और यदि पहले से ही अपार धन है तो वह किसी काम का नहीं धन से कोई रोग नहीं मिटता !!

शरीर माध्यम् खलु धर्म साधनं। संसार के जितने भी सुख-दु:ख सम्बंध हैं, सब शरीर के हैं। इसलिए सबसे पहले सुबह उठते ही सांसारिक-कार्यो मे उलझने से पहले अपने शरीर की आरोग्यता के लिए योग-प्राणायाम करें।

योग एकदम विशुद्ध एवं नि:शुल्क आयुष्यवृद्धि की अनमोल औषधि है। इसे अपने जीवन के कार्यों की प्रथम सूची मे रखें। प्रभात की मधुरवेला में योग-प्राणायाम नित्यप्रति करें।

नियमित योगाभ्यास स्वस्थ मानव जीवन के लिए आवश्यक है, यह हमारी मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक ऊर्जा को बढ़ाता है।
~~~~~~~~~
योग अपनाइए खुद को स्वस्थ और निरोग बनाइए।
~~~~~~~~~
आदमी “साधनों” से नहीं “साधना” से श्रेष्ठ बनता है। आदमी “भवनों” से नहीं “भावना” से श्रेष्ठ बनता है। आदमी उच्चारण से नहीं उच्च-आचरण से श्रेष्ठ बनता है।
🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕
भोजन को आधा करो, पानी को करो दुगना !
कसरत को तीन गुना करो, हसना करो चौगुना !!
🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕
आचार्य दीपान्त कुमार शर्मा
कर्मकांड एवं फ़लित ज्योतिषाचार्य
जय श्री माँ बगलामुखी जी
(दतिया)
संपर्क सूत्र-9761027940

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities