बड़ी ख़बरें
जेम-टीटीपी के आतंकी को मिला था नूपुर को फिदायीन हमले से मारने का टॉस्क, सैफुल्ला ने इंटरनेट के जरिए वारदात को अंजाम देने की दी थी ट्रेनिंग, पढ़ें टेररिस्ट के कबूलनामें की ‘चार्जशीट’मध्य प्रदेश में नहीं रहेगा अनाथ शब्द, शिवराज सिंह ने तैयार किया खास प्लानजम्मू-कश्मीर की सरकार का आतंकियों के मददगारों पर बड़ा प्रहार, आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार को नौकरी से किया बर्खास्त, पैसे की व्यवस्था के साथ वैज्ञानिक चलाते थे आतंक की ‘पाठशाला’होर्ल्डिंग्स से हटाया सीएम का चेहरा, तिरंगे की शान में सड़क पर उतरे योगी, यूपी में 4.5 करोड़ राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्यबांदा में नाव पलटने की घटना में 6 और शव मिले, अब तक 9 की मौतपहले फतवा जारी और अब लाइव प्रोग्राम में सलमान रुश्दी पर चाकू से किए कई वार14 साल के बाद माफिया के गढ़ में दाखिल हुआ डॉन, भय से खौफजदा मुख्तार और बीकेडी ‘पहलवान’पुलिस के पास होते हैं ‘आन मिलो सजना’ ‘पैट्रोल मार’ ‘गुल्ली-डंडा’ और ‘हेलिकॉप्टर मार’ हथियार, इनका नाम सुनते ही लॉकप में तोते की तरह बोलने लगते हैं चोर-लुटेरे और खूंखार बदमाशखेत के नीचे लाश और ऊपर लहलहा रही थी बाजरे की फसल, पुलिस ने बेटों की खोली कुंडली तो जमीन से बाहर निकला बुजर्ग का कंकाल, दिल दहला देगी हड़ौली गांव की ये खौफनाक वारदातबीजेपी के चाणक्य को देश की इस पॉवरफुल महिला नेता ने सियासी अखाड़े में दी मात, पीएम मोदी से नीतीश कुमार की दोस्ती तुड़वा बिहार में बनवा दी विपक्ष की सरकार

’आतंकी मिशन 2047’ का पुलिस ने किया पर्दाफाश, ये ‘26 खुराफाती’ भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने के प्लान में शामिल

पटना। पटना पुलिस ने एक बड़ी साजिश का पर्दाफाश करते हुए रिटायर्ड दरोगा समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पूरे खेल में कुल 26 लोग शामिल हैं, जिसमें शहर के 10 बड़े बिजनेसमैन भी शामिल हैं। इनका मिशन भारत को 2047 तक इस्लामिक राष्ट्र बनाने का था। फुलवारी शरीफ में मार्शल आर्ट और शारीरिक प्रशिक्षण के नाम पर आरोपी आतंकी ट्रेनिंग कैंप चला रहे थे, जिसमें केरल के अलावा देश के अन्य राज्यों के युवाओं को ट्रेंड किया जा रहा था।

आईबी की इनपुट पर छापा
आईबी, दिल्ली से इनपुट मिलने के बाद सोमवार को एएसपी मनीष के नेतृत्व में चार थानों की फोर्स के साथ पुलिस ने शरीफ नया टोला स्थित एसडीआइपी (सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इंडिया) और पीएफआई (पापुलर फ्रंट आफ इंडिया) के कार्यालय में छापा मारा। आरोपी मार्शल आर्ट और शारीरिक प्रशिक्षण देने की आड़ में बड़ी साजिश पर काम कर रहे थे। मौके से मिले दस्तावेज में आरोपी भारत को 2047 तक भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की मुहिम में जुटे थे। इसके तार पाकिस्तान, बांग्लादेश सहित अन्य देशों से भी जुड़े होने के साक्ष्य मिले हैं।

तीन को पुलिस ने किया गिरफ्तार
पुलिस की कार्रवाई के दौरान मकान मालिक जलालुदीन खान और अतहर परवेज समेत तीन को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि जलालुद्दीन झारखंड में दारोगा था और सेवानिवृत्त हो चुका है। अतहर एसडीएफआई नाम का संगठन बनाकर इसकी आड़ में सिमी के पुराने सदस्यों को एकजुट कर उनको गोपनीय रूप से प्रशिक्षण देता था। इसमें हथियार चलाने से लेकर देश में उन्माद पैदा करने की रणनीति बताई जाती थी। ये लोग विजन 2047 पर काम कर रहे थे, जिसमें भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने के मिशन के तहत देश में सांप्रदायिक तनाव पैदा करने के प्रयासों पर बल देना था। उनके पास से बरामद बुकलेट, दस्तावेज आदि से इसके प्रमाण मिले हैं।

कई राज्य से बुलाए जाते थे युवा
एनआईए और एटीएस के अधिकारियों ने दोनों से पूछताछ के बाद आइबी से मिली जानकारी का मिलान कराया। जांच में यह भी पता चला है कि फुलवारीशरीफ स्थित कार्यालय में केरल, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु सहित कई राज्य से युवा प्रशिक्षण के लिए आ रहे थे। अतहर ने फुलवारीशरीफ में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इंडिया का कार्यालय खोल रखा था। उसने एनजीओ के नाम पर किराए पर मकान लिया था। यह कार्यालय करीब दो माह से चल रहा था, पर बाहर से कुछ पता नहीं चलता था।

इन्हें विदेश से फंडिंग की जा रही थी
एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि अतहर परवेज एसडीएफआई नाम का एक संगठन बना कर इसकी आड़ में सिमी के पुराने सदस्यों को एकजुट कर उनको प्रशिक्षण देता था। छापेमारी के दौरान इनके कार्यालय से विजन 2047 का बुकलेट, पीएफआई का झंडा, पंपलेट सहित कई सनसनीखेज दस्तावेज बरामद किए गए हैं।
इन लोगों के विरुद्ध कई ऐसी जानकारी मिली है, जिससे पता चलता है कि वे देश को कमजोर करने एवं शांति व्यवस्था को भंग कर यहां की बदनामी कराने में शामिल हैं। इन्हें विदेश से भी फंडिंग की जा रही थी।

26 लोगों पर एफआईआर
फुलवारी शरीफ थाना में एफआईआर नंबर 827/22 को थानेदार एकरार अहमद के बयान पर दर्ज किया गया है। एफआईआर में जिन देश विरोधी गतिविधियों की ट्रेनिंग देने में शामिल होने के आरोप में जिन 26 लोगों को नामजद किया गया है, उनमें सबसे अधिक 10 लोग पटना के रहने वाले हैं। इनमें से कुछ बड़े बिजनेसमैन भी हैं। एक शख्स का तो पटना के एग्जीबिशन रोड में मशीन टूल्स का कारोबार है। इस शख्स का नाम महबूब आलम है। जो पटना के सुल्तानगंज थाना के तहत शरीफ कॉलोनी का रहने वाला है। फिलहाल इसकी गिरफ्तारी अभी नहीं हुई है।

एफआईआर में दर्ज किए गए हैं ये 26 नाम
1. अतहर परवेज, झारखंड पुलिस से रिटायर्ड दरोगा और गुलिस्तान मुहल्ला, फुलवारीशरीफ पटना के निवासी।
2. मो. जलालुद्दीन (मकान मालिक), नया टोला, फुलवारी शरीफ, पटना।
3. शमीम अख्तर, खासगंज, सोहसराय, नालंदा।
4. रियाज मॉरिफ उर्फ बब्लू, कुआंवा, चकिया, पूर्वी चम्पारण।
5. सनाउल्लाह उर्फ आकिब, शकरपुर भरवाड़ा, सिंगवारा, दरभंगा।
6. तौसिफ आलम, मकिया, बेनीपट्टी, मधुबनी।
7. महबूब आलम उर्फ महबूब नदवी, रामपुर बंशीबारी, हसनगंज, कटिहार।
8. एहसान परवेज उर्फ एहसान इंजीनियर, अरतीया, जोकीहाट, अररिया।
9. मो. सलमान, वर्तमान पता पटना में सब्जीबाग स्थित पीएफआई का ऑफिस, मूल निवासी मधुबनी का।
10. मो. रसलान, च्थ्प् का राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति का सदस्य सह बिहार-बंगाल क्षेत्रिय समिति का सचिव।
11. महबुबूर रहमान, न्यू अजिमाबाद कॉलोनी, सुल्तानगंज, पटना।
12. इम्तियाज दाउदी, मिल्लत कॉलोनी, फुलवारी शरीफ, पटना।
13. महबूब आलम, नूर मस्जिद शरीफ कॉलोनी, सुल्तानगंज और स्वामी पटना मशीन टूल्स, एग्जीविशन रोड, पटना।
14. खलीकुर जमा, गोनपुरा, फुलवारी शरीफ, पटना।
15. मो. अमीन आलम, फुलवारी शरीफ के गोनपुरा में स्थित टीचर ट्रेनिंग कॉलेज के कर्मचारी हैं।
16. जिशान अहमद, मिल्लत कॉलोनी, फुलवारी शरीफ, पटना।
17. रियाज अहमद, छोटकी छपरा, कटहरा, वैशाली।
18. मंजर परवेज, गुलिस्ता, फुलवारी शरीफ, पटना।
19. नुरुद्दीन जंगी उर्फ एडवोकेट नुरुद्दीन, उर्दू बाजार, शेर मोहम्मद गली, दरभंगा।
20. मो. रियाज उर्फ रियाज उर्फ रियाज फरंगीपेट, पीएफआई के राष्ट्रीय स्तर के नेता हैं और एसडीपीआई के बिहार प्रभारी हैं।, दक्षिण कन्नड़, बनतवाल।
21. मो. अंसारूल हक उर्फ अंसार, मिथलांचल यूनिट का प्रभारी निदेशक और मधुबनी के लदनियां का रहने वाला।
22. मो. मुश्तिकिन, सकरपुर, सिंघवारा, दरभंगा।
23. मंजहरूल इस्लाम उर्फ मंजहर इमाम, गौरीहार खलीक नगर, मुजफ्फरपुर।
24. अब्दुर रहमान, कठोतियां जगदीशपुर, कटिहार (शरीफगंज में याह्या पब्लिक स्कूल के संचालक हैं)।
25. अरमान मलिक, अलबा कॉलोनी, फुलवारी शरीफ, पटना।
26. परवेज आलम उर्फ अरशद अली, रूदलपुर जलालपुर, सारण

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities