बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

जानिए कौन है यूपी का ये ‘पॉवरफुल’ विधायक, जो योगी की पुलिस को दे रहा खुली चुनौती, 45 दिन में 12 टीमों ने 135 ठिकानों पर की रेड पर हाथ नहीं लगा ‘छोटा बाहुबली’

मऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस ने जनपद के माफिया मुख्तार अंसारी पर शिकंजा कसते हुए उसे सलाखों के पीछे पहुंचाने के साथ उसके गुर्गों पर कार्रवाई करने के अलावा गैंग की कमर तोड़कर रख दी है। पर मुख्तार का बेटा अब्बास अंसारी पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है। पिछले 45 दिन से पुलिस की 12 से ज्यादा टीमें 135 ठिकानों पर छापा मार चुकी हैं, लेकिन मऊ सदर सीट से विधायक अब्बास अंसारी हाथ नहीं लगा। सूत्रों की माने तो अब्बास ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर कर दी है। पुलिस के लिए बृहस्पतिवार तक की मोहलत है। इसके बाद पुलिस कोर्ट में फिर से अर्जी डालेगी।

25 अगस्त तक विधायक को करना था गिरफ्तार
बांदा जेल में बंद माफिया व पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी की तलाश में पुलिस का लगातार ऑपरेशन जारी है। बुधवार को पुलिस की टीमों ने अब्बास अंसारी के कई ठिकानों में छापेमारी की। पर विधायक पुलिस के हत्थे नहीं लगा। इसके पहले अब्बास को भगोड़ा घोषित करने के लिए पुलिस ने 11 अगस्त को कोर्ट में अर्जी दी थी। इसे कोर्ट ने खारिज करते हुए 25 अगस्त तक गिरफ्तार करने का समय दिया था। इसके बाद 12 अगस्त से पुलिस ने लखनऊ में ताबड़तोड़ छापे मारने शुरू किए। मेट्रो सिटी स्थित विधायक के फ्लैट, चचेरे विधायक भाई मन्नू अंसारी के फ्लैट और दारुलशफा स्थित सरकारी आवास पर छापा मारा था, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा। बताया जा रहा है कि पुलिस की एक टीम कानपुर भी आई थी।

अब्बास अंसारी पर इन धराओं में दर्ज हैं मुकदमे
महानगर थाने में 2019 में विधायक अब्बास अंसारी के खिलाफ शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग का मुकदमा दर्ज किया गया था। पेशी से गायब रहने पर कोर्ट ने गैरजमानती वारंट जारी किया था। पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए सात टीमें बनाई थीं। गिरफ्तारी के लिए दबिश दी, पर विधायक हाथ नहीं लगा। अब्बास अंसारी पर अब कुल सात मुकदमे दर्ज हैं। अपराध संख्या 431/ 19, 419,420,467,468, 471, 30 आर्म एक्ट, लखनऊ महानगर, अपराध संख्या 236/ 20, 120 बी, 420, 467,468,471, लोकसंपति निवारण अधिनियम हजरतगंज, लखनऊ, मुकदमा अपराध संख्या 689/20, 120 बी, 420, 323, 356, 467, 468,471,474,417 आईपीसी गाजीपुर, अपराध संख्या 27/22, 171 जी, 188 आईपीसी, 133 लोकप्रतिनिधि अधिनियम दक्षिणटोला, मऊ, अपराध संख्या 95/22, 188, 171 च आईपीसी शहर कोतवाली मऊ, अपराध संख्या 97/ 22, 506, 171 एफ, 153 एवन, 186, 189, 120 बी आईपीसी शहर कोतवाली मऊ, अपराध संख्या 106/ 22, 171 एच, 188, 341, आईपीसी, शहर कोतवाली मऊ प्रमुख हैं।

मऊ से चुना गया था विधायक
मुख्तार अंसारी की परंपरागत सीट मऊ सदर से सपा गठबंधन की सहयोगी सुभासपा ने अब्बास अंसारी चुनाव के मैदान में उतरा था। अब्बास ने बीजेपी उम्मीदवार को हराकर 2022 के चुनाव में जीत दर्ज की थी। विधानसभा चुनाव के वक्त अब्बास ने अखिलेश यादव का नाम लेकर कहा था कि भैया से बात हो गई है। सपा की सरकार बनने पर यहां के अधिकारियों का छह महीने तक ट्रांसफर नहीं होगा। पहले सभी का हिसाब-किताब होगा। अब्बास का बयान तेजी से वायरल हुआ तो उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। चुनाव आयोग ने भी अब्बास के बयान को गंभीर माना और उनके प्रचार करने पर रोक लगा दी थी।

कई राज्यों में पुलिस ने डारा ढेरा
डीसीपी उत्तरी कासिम आब्दी के मुताबिक, पुलिस टीमें मऊ, वाराणसी, गाजीपुर, पंजाब और दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। कई जगह दबिश भी दी है। इसके अलावा राजस्थान, पश्चिम बंगाल, हैदराबाद, उत्तराखंड, पंजाब व छत्तीसगढ़ में भी अब्बास की तलाश की जा रही है। बृहस्पतिवार तक का समय कोर्ट से मिला है। इसके बाद भगोड़ा घोषित करने की अर्जी कोर्ट में डाली जाएगी। कानूनी औपचारिकता पूरी होते ही संपत्ति भी कुर्क की जाएगी। बावजूद यदि विधायक गिरफ्तार नहीं होता तो उस पर इनाम भी घोषित किया जाएगा। डीसीपी के मुताबिक, पुलिस के अलावा एसटीएफ को भी अब्बास की गिरफ्तारी के लिए लगाया जाएगा। साथ ही सर्विलांस के जरिए भी उसकी लोकेशन को ट्रे किया जा रहा है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities