बड़ी ख़बरें
10 साल की बेटियों ने लिखी गुमनाम नायिका पर किताब, सीएम शिवराज ने किया विमोचनजेम-टीटीपी के आतंकी को मिला था नूपुर को फिदायीन हमले से मारने का टॉस्क, सैफुल्ला ने इंटरनेट के जरिए वारदात को अंजाम देने की दी थी ट्रेनिंग, पढ़ें टेररिस्ट के कबूलनामें की ‘चार्जशीट’मध्य प्रदेश में नहीं रहेगा अनाथ शब्द, शिवराज सिंह ने तैयार किया खास प्लानजम्मू-कश्मीर की सरकार का आतंकियों के मददगारों पर बड़ा प्रहार, आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार को नौकरी से किया बर्खास्त, पैसे की व्यवस्था के साथ वैज्ञानिक चलाते थे आतंक की ‘पाठशाला’होर्ल्डिंग्स से हटाया सीएम का चेहरा, तिरंगे की शान में सड़क पर उतरे योगी, यूपी में 4.5 करोड़ राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्यबांदा में नाव पलटने की घटना में 6 और शव मिले, अब तक 9 की मौतपहले फतवा जारी और अब लाइव प्रोग्राम में सलमान रुश्दी पर चाकू से किए कई वार14 साल के बाद माफिया के गढ़ में दाखिल हुआ डॉन, भय से खौफजदा मुख्तार और बीकेडी ‘पहलवान’पुलिस के पास होते हैं ‘आन मिलो सजना’ ‘पैट्रोल मार’ ‘गुल्ली-डंडा’ और ‘हेलिकॉप्टर मार’ हथियार, इनका नाम सुनते ही लॉकप में तोते की तरह बोलने लगते हैं चोर-लुटेरे और खूंखार बदमाशखेत के नीचे लाश और ऊपर लहलहा रही थी बाजरे की फसल, पुलिस ने बेटों की खोली कुंडली तो जमीन से बाहर निकला बुजर्ग का कंकाल, दिल दहला देगी हड़ौली गांव की ये खौफनाक वारदात

हॉल का हाल देख राष्ट्रपति ने कानपुर के उद्योगपतियों से कह दी बड़ी बात, ‘कर्मस्थली’ की नींव कमजोर पर ‘जनाब’ आपकी कोठी बहुत मजबूत

अश्वनी निगम
कानपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने पैतृक गांव परौंख आए हुए थे। इस खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे। गांव से कार्यक्रम में भाग लेने के बाद राष्ट्रपति कानपुर स्थित बनें मर्चेंट चैंबर ऑफ उत्तर प्रदेश पहुंचे। मर्चेंट चैंबर से जुड़े सदस्यों ने देश के महामहिम का भव्य स्वागत किया। उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि, आपकी ‘कोठियां’ तो मजबूत हैं, पर कर्मस्थली यानि मर्चेंट चैंबर की बहुत कमजोर है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, औद्योगिक नजरिये से कानपुर का जो स्वर्णिम इतिहास पहले था, उद्यमी उसे वापस लाएं। पर्यावरण के अनुकूल उद्योग स्थापित करें।

छोटे से हॉल का हाल देख राष्ट्रपति ने की अपील
बीते 4 जून को मर्चेंट चैंबर ऑफ उत्तर प्रदेश के 90 वर्ष होने के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप में महामहिम राष्टृपति रामनाथ कोविंद को बुलाया गया था। राष्टृपति का स्वागत उद्योगपतियों ने पूरे जोश के साथ किया। मर्चेंट चैंबर के छोटे से हॉल का हाल देख राष्ट्रपति ने यहां के उद्योगपतियों से कहा कि, अगर आप चाहें तो शहर की इस इमारत की तस्वीर और तकदीर सवंर जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि, आप गांवों को गोद लेकर उन्हें बदलें। विकास यात्रा में पीछे छूटे लोगों का सहयोग करें। हमें जो मिला, उसे समाज को वापस भी करना चाहिए। समाज ने हमें जो दिया, उसे भूलना नहीं चाहिए।

आपके हुनर का डंका पूरे विश्व में बज रहा
राष्ट्रपति ने कहा कि, कानपुरः पूरी दुनिया में इस कानपुर की जो पहचान है, वो एक औद्योगिक नगरी की है। ये इसलिए औद्योगिक नगरी बनी, क्योंकि यहां के उद्यमियों ने हर परिस्थिति में बेहतर प्रदर्शन किया। उनके हुनर का डंका पूरे विश्व में बज रहा है.। उन्होंने कहा कि आप सभी उद्यमी मिलकर इस मर्चेंट चेबर सभागार को और भव्य बनाइए, जिससे इसकी क्षमता भी बढ़ सके और अधिक से अधिक उद्यमी यहां होने वाले आयोजनों में शामिल हो सकें। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि वे चैंबर से कुछ दूरी पर बने अपने स्कूल बीएनएसडी इंटर कॉलेज में पढ़ते थे। सालों पहले भी वे इन गलियों से गुजरे और मर्चेंट चेबर को देखते थे।

तुरंत मे कोई चीज नहीं बन जाती
उधर महामहिम द्वारा मर्चेंट चैंबर पर उद्योगपतियों की चुटकी लेने पर जब अस्तित्व न्यूज़ यहां के सेक्रेटरी महेंद्र मोदी से बात की तो उन्होंने कहा कि महामहिम ने जो कहा उसपर संस्था विचार कर रही है। मगर तुरंत मे कोई चीज नहीं बन जाती है, इसमें समय लगेगा। उन्होंने आगे कहा कि जल्द ही बैठक कर मर्चेंट चैंबर को सजाया और संवारा जाएगा। महेंद्र मोदी ने कहा कि, ये हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि राष्ट्रपति मर्चेंट चैंबर में आए और उनके विचार हमें सुनने को मिले। इस धरोहर का विस्तार और विकास किया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities