बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का नाम हो गया लीक, जानें कौन हो सकता हैं पंजे का खेवनहार, 2024 से पहले राहुल गांधी के इस दांव से बीजेपी के अंदर मचा हड़कंप

नई दिल्ली। कांग्रेस में अगला अध्यक्ष कौन होगा इसे लेकर अभी भी कशमकश बरकरार है। अभी तक यह तय नहीं हो पाया कि अध्यक्ष पद के कौन-कौन प्रत्याशी होंगे। 17 अक्टूबर को कांग्रेस के अध्यक्ष का चुनाव होगा यूं तो इस चुनाव में कई नाम चर्चाओं में है लेकिन अभी तक किसी नाम पर मुहर नहीं लग पाई। मुकाबला अशोक गहलोत और शशि थरूर के बीच माना जा रहा है, लेकिन इस बीच राहुल गांधी के दोबारा अध्यक्ष पद संभालने की चर्चाएं तेज हो गई हैं। इन चर्चाओं को बल किसी और ने नहीं खुद राहुल गांधी की एक फेसबुक पोस्ट ने दिया है।

ना रुकेंगे ना झुकेंगे भारत जोड़ेंगे, राहुल गांधी की फेसबुक से हुई यह पोस्ट कई महत्वपूर्ण संकेत देती है। कई आशंकाओं को और गहरा देती है कई सवालों को और बड़ा कर देती है कि क्या राहुल पार्टी की पतवार एक बार फिर अपने हाथ में लेने जा रहे हैं। यूं तो राहुल गांधी ने यह फेसबुक पोस्ट उस वक्त किया जब राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा लेकर केरल पहुंचे और केरल में राहुल ने एक स्थानीय नौका प्रतियोगिता में भाग लिया।

इस प्रतियोगिता में राहुल ने भी पतवार अपने हाथों में ली और नाविकों के साथ पतवार चलाते नजर आए उसके बाद जीतने के बाद उन्होंने फेसबुक पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने पतवार अपने हाथ में लेने की बात कही। इसके बाद तमाम राजनीतिक पंडित ये कयास लगाने लगे हैं कि क्या राहुल गांधी दोबारा अध्यक्ष पद संभालने के लिए तैयार हो गए हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी चुनाव लड़ेंगे या नहीं अभी इस पर कुछ भी साफ नहीं है लेकिन उनकी दावेदारी सबसे ज्यादा मजबूत है इसमें कोई शक नहीं है। 7 राज्यों की कांग्रेस कमेटियों ने राहुल को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव दिया है। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह अशोक गहलोत जैसे तमाम नेता लगातार इन कोशिशों में जुटे हैं। राहुल गांधी की अध्यक्ष का पद संभाले अशोक गहलोत तो लगातार राहुल को मनाने की कोशिशों में जुटे हैं। जिस तरह से कांग्रेस लगातार टूट रही है एक के बाद एक बड़े नेता कांग्रेस का दामन छोड़ रहे हैं। बीजेपी में जा रहे हैं और तो और जी 23 के जरिए गांधी परिवार पर पुराने कांग्रेसी कटाक्ष कर रहे हैं। उस वक्त राहुल का यह पोस्ट कई इशारे कर देता है।

12 राज्यों की 3570 किलोमीटर की यात्रा में निकले राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के जरिए कांग्रेस के पक्ष में देश का माहौल बना रहे हैं। भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी को बड़ा समर्थन भी हासिल हो रहा है इसके बाद राहुल गदगद है। पार्टी का एक बड़ा धड़ा यह मानता है कि राहुल गांधी में वो काबिलियत है कि पार्टी को दोबारा खड़ा कर सकते हैं और केवल गांधी परिवार का कोई सदस्य ही ऐसा कर सकता है। क्योंकि गांधी परिवार से अलग कोई भी पार्टी के गरबोडोर संभालता है तो पार्टी का टूटना निश्चित है जो कि एक पक्ष जहां सत्ता में आएगा दूसरा पक्ष पार्टी से बाहर जाएगा। यही वजह है कि राहुल गांधी अध्यक्ष पद के लिए तैयार हो सकते हैं इस बात की संभावनाएं अब बनने लगी।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities