बड़ी ख़बरें
Turkey-Syria Earthquake: तुर्की-सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप में 8000 से ज्यादा मौतें… मलबे में दबी लाशें… भारत से भेजी गई मददSid-Kiara wedding: सात जन्मों के बंधन में बंधे सिड-कियारा… कॉस्टयूम को लेकर हुआ खुलासाWorldwide Box Office: ‘पठान’ का 13वें दिन भी दुनियाभर में बज रहा डंका… वर्ल्डवाइड कलेक्शन जानकर रह जाएंगे हैरानPakistan 10 wickets: क्रिकेट के इतिहास में पाकिस्तान कभी नहीं भूलता है आज की तारीख… अनिल कुंबले की फिरकी ने पूरी टीम को पहुंचाया था पवेलियनEarthquake in Turkey: तुर्की-सीरिया में भूकंप से ताबही… जमींदोज इमारतों के मलबें दबीं लाशें… 4000 हजार से मौतें… भारत ने भेजी एनडीआरएफ की टीमKanpur Double Murder: प्रेमी ने की थी मां-बेटे की हत्या… रात में मां को गला घोट कर मारा… फिर सुबह बच्चे की हत्या कर फंदे से लटकाया था शवBox Office Collection: ‘पठान’ ने तोड़े कई रेकॉर्ड… 13वें दिन ही केजीएफ-2 को पछाड़ा… बॉक्स ऑफिस पर हो रही नोटों की बारिशSiddharth Kiara Wedding: स्टार कपल सिद्धार्थ मल्होत्रा-कियारा की पहली मुलाकात कहां हुई… कैसे दोनों की दोस्ती प्यार में बदली… 7 फरवरी को बनेंगी सिद्धार्थ की दुल्हनियाAsia Cup 2023: BCCI ने टीम को पाकिस्तान भेजने से किया इंकार… तो पाकिस्तान की पूर्व कप्तान भड़के… बोले ICC से इंडिया को बाहर करोMohan Bhagwat statement: आरएसएस प्रमुख बोले जाति पंडितों ने बनाई… वो गलत था

राजस्थान सरकार ने राजस्व मंडल के प्रस्ताव को दी सैद्धांतिक मजूरी, फाइल वित्त विभाग को भेजी

जमीन विवाद की सबसे बड़ी अदालत राजस्व मंडल को लेकर राजस्थान सरकार अब गंभीर हो गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्व मंडल अध्यक्ष से राजस्व अदालतों में लम्बित लाखों मुकदमों के त्वरित निस्तारण के लिए चर्चा करते हुए राजस्व मंडल अध्यक्ष के प्रस्ताव को सैद्धांतिक सहमति दे दी है। साथ ही इस पर कार्रवाई के लिए प्रस्ताव को वित्त विभाग के पास भेजा है। यहां बता दें कि पांच महीने पहले सीएम के निर्देश पर राजस्व मंडल के अध्यक्ष ने मंडल में लम्बित करीब 65 हजार मुकदमों और अधीनस्थ राजस्व अदालतों में लम्बित करीब 5 लाख मुकदमों के त्वरित निस्तारण के लिए एक्शन प्लान मांगा था। मगर, इसे बजट और अनुपूरक बजट में शामिल नहीं किया गया था। इसके लिए कोई अतिरिक्त बजट भी नहीं दिया गया था।
आपको बता दें कि राजस्व मंडल में स्वीकृत 20 सदस्यों पर केवल 11 सदस्य ही काम कर रहे हैं। जबकि सदस्यों के 9 पद खाली चल रहे हैं। इनमें आरएएस कोटे के 7 और आईएएस कोटे के 2 पद हैं। इससे मुकदमों की सुनवाई में दिक्कत हो रही है। साथ ही जिलो में लगने वाली सर्किट बेंचों पर भी इसका असर पड़ रहा है। सरकार जल्द ही आरएएस कोटे के चार सदस्यों को नियुक्ति देगी इसके लिए प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। सदस्यों के लिए सरकार ने आरएएस अधिकारियों से आवेदन मांगे थे। इनमें से चार नामों पर सहमति बन चुकी है।
एक्शन प्लान बनाने के लिए इसी साल जनवरी में सरकार के निर्देश पर उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, पंजाब और उत्तराखंड के रेवन्यू बोर्डों की कार्य प्रणाली का अध्य्यन किया गया था। जिसके बाद राजस्व मंडल ने एक्शन प्लान तैयार कर सरकार को भेजा था।

Related posts

1 comment

sakshi singh May 9, 2022 at 10:40 am

keep it up bhai true news and first new from other youtube channel

Reply

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities