ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के इस जज ने नूपुर शर्मा को सुनाई खरी-खरी, याचिका खरिज कर कहा टीवी में जाकर देश से मांगे माफी‘चायवाले’ ने पवार के ‘पॉवर’ और ठाकरे के ‘इमोशन’ का निकाला तोड़, ‘ऑटो चालक’ को इस वजह से बनाया महाराष्ट्र का चीफ मिनीस्टरउदयपुर घटना को लेकर कानपुर के मुस्लिम संगठन के साथ अन्य लोगों में उबाल, कन्हैयालाल के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलवाए ‘सरकार’महाराष्ट्र में फिर से बड़ा उलटफेर, शिंदे के साथ फडणवीस लेंगे शपथBIG BREAKING – देवेंद्र फडणवीस नहीं, एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, शाम को अकेले लेंगे शपथशिंदे बने मराठा राजनीति के ‘बाहुबली’ जानिए देवेंद्र भी ‘समंदर’ से क्यों कम नहींPanchang: आज का पंचांग 30 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयMonsoon Update: गाजियाबाद और आसपास के जिलों को करना होगा बारिश का इंतजार, पूर्वी यूपी में हल्की बारिश शुरूउदयपुर हिंसा का सायां यूपी तक पहुंचा, यूपी के मेरठ जोन में अलर्ट, सोशल मीडिया पर खाास नजरCorona Update: कोरोना ने बढ़ाई देश की टेंशन, एक ही दिन में बढ़ 25 फीसदी मरीज बढ़े, 30 लोगों की मौत

Shahjahanpur: कानून के राज में कानून व्यवस्था ध्वस्त, बदमाशों ने कोर्ट में निपटाया वकील

अजय सिंह, शाहजहांपुर

Shahjahanpur: एक तरफ योगी सरकार बड़े-बड़े दावे करती है कि अपराधी या तो प्रदेश छोड़ दें। या जेल जाने को तैयार रहें। लेकिन दूसरी तरफ इस चुनावी माहौल में भी कानून व्यवस्था एकदम ध्वस्त है। प्रत्येक दिन कहीं न कहीं संगीन अपराध हो रहा है। यहां तक की कोर्ट भी अब सुरक्षित नहीं है। आज की घटना शाहजहांपुर में अधिवक्ता भूपेंद्र कुमार सिंह को जिस तरीके से कोर्ट परिसर में गोली मारी गई उससे यह साबित हो गया योगी जी लाख दावे करें कि अपराधी अब यहां रहते हुए डरते हैं, जबकि ऐसा कहीं भी मंजर नजर नहीं आ रहा है। बल्कि अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वह सड़क और घर को छोड़ कोर्ट परिसर में भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सरेआम वकील को गोली मारकर हत्या कर देते हैं और प्रयुक्त हुआ असलहा भी वहीं छोड़कर चलें जाते हैं। सवाल उठता है कि इतनी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में भी अपराधी असलहे के साथ कोर्ट परिसर में प्रवेश कर जाते हैं और अपराध करके सरेआम भाग जाते हैं।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिला अदालत के भीतर एक वकील की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि शाहजहांपुर (Shahjahanpur) में कचहरी के अंदर कोर्ट की तीसरी मंजिल पर वकील की गोली मारकर हत्या की गई है। इस घटना के बाद कोर्ट में अफरातफरी मच गई। मृतक वकील की पहचान जलालाबाद निवासी भूपेंद्र प्रताप सिंह (Advocate Bhupendra Pratap Singh) के रूप में हुई है। फिलहाल इस घटना से वकीलों में जबरदस्त आक्रोश बना हुआ है। मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है और आगे की कार्रवाई में जुटी है।

बताया जा रहा है कि एडवोकेट भूपेंद्र प्रताप सिंह सोमवार को कोर्ट पहुंचने के बाद किसी काम से रिकॉर्ड रूम में जा रहे थे। इसी दौरान उन्हें गोली मार दी गई, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। शुरुआती रिपोर्ट्स के अनुसार, वकील भूपेंद्र प्रताप कोर्ट परिसर में किसी शख्स से बात कर रहे थे, तभी एक तेज आवाज हुई और वह जमीन पर गिर पड़े। वकील भूपेंद्र प्रताप का शव तीसरे फ्लोर पर पड़ा हुआ मिला। बताया जा रहा है कि वकील के शव के पास एक देसी पिस्टल भी मिली है। घटना पर शाहजहांपुर के एसपी एस आनंद ने बताया कि प्रथम दृष्ट्या जांच में पता चला है कि वकील भूपेंद्र प्रताप वहां अकेले खड़े हुए थे। उनके आसपास कोई नहीं था। गोली लगने से उनकी मौत हुई है और पास में एक देसी कट्टा मिला है। एसपी एस आनंद ने बताया कि फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया गया है। मामले में जांच के आधार पर आगे की आगे की कार्रवाई की जाएगी।

सरकार के खिलाफ विपक्ष हुआ हमलावर

दूसरी तरफ  कोर्ट में वकील की हत्या के बाद विपक्षी दलों ने हमला बोलना शुरू कर दिया है। कांग्रेस नेता श्रीनिवास ने ट्वीट के जरिए सरकार पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा, ‘उप्र के शाहजहांपुर में अदालत के अंदर ही अधिवक्ता भूपेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या। यूनिफॉर्म में खून से सनी वकील की लाश और बगल में पड़ा तमंचा, उप्र की कानून व्यवस्था का हाल बयां कर रहा है।’

यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी इस घटना को लेकर कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं। मायावती ने ट्वीट किया, ‘यूपी के जिला शाहजहांपुर के कोर्ट परिसर में वकील की आज दिन दहाड़े हुई हत्या अति-दुखद व शर्मनाक, जो यहां की भाजपा सरकार में कानून-व्यवस्था की स्थिति व इस संबंध में सरकारी दावों की पोल खोलती है। अब अंततः यही सवाल उठता है कि यूपी में आखिर सुरक्षित कौन? सरकार इस ओर समुचित ध्यान दे।’

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities