ब्रेकिंग
केरल सरकार ने सबरीमाला मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को दी बड़ी छूटअयोध्या का किन्नर समाज गरीबों की सहायता करने में तत्परAuraiya: बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, अधेड़ हुआ घायलAuraiya: सवारियों से भरी बस खाई में गिरी, 20 यात्री हुए घायलAgra: बेटों ने नहीं दिया सम्मान तो पिता ने संपत्ति की डीएम के नामHamipur: हाईवे पर हुई दो दुर्घटनाएं, तीन लोग हुए घायलHamirpur: ट्रक ने बाइक सवार पिता-पुत्र को रौंदा, मौके पर हुई मौतHamirpur: विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु, जनपद को नौ जोन और 42 सेक्टर में बांटा गयामहोबा दौरे पर प्रियंका गांधी, प्रतिज्ञा रैली को करेंगी सम्बोधितHamirpur: शहर के बीच जेल तालाब में आग लगने से हड़कंप, बड़ा हादसा टला

पाकिस्तान को लगा झटका, OIC सदस्य देशों ने कश्मीर मसले में हस्ताक्षेप से किया इंनकार

कश्मीर मसले पर पाकिस्तान को मुस्लिम देशों का साथ मिलता नहीं दिखाई दे रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के कई बार अपील करने के बाद भी ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) ने कश्मीर मुद्दे पर कोई पुख्ता बयानबाजी नहीं की है। उन्हें इस मुद्दे पर UAE, बांग्लादेश सहित ज्यादातर मुस्लिम देशों का साथ नहीं मिल रहा है। अब दुबई ने भारत के पक्ष में एक फैसला लेकर पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया है। आर्टिकल-370 हटने के करीब 2 साल बाद दुबई ने कश्मीर में निवेश करने का फैसला कर लिया है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन और दुबई के बीच डेवलपमेंट निर्माण को लेकर कई समझौते हुए हैं। करार के तहत दुबई कश्मीर में आई टी टावर, औद्योगिक पार्क और लॉजिस्टिक टावर के साथ ही मेडिकल कॉलेज और अस्पताल भी बनाएगा। हालांकि अभी इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि दुबई कश्मीर में कितना निवेश करेगा।

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि कश्मीर के विकास के लिए दुनिया हमारे साथ आ रही है। यह करार बताता है कि भारत ग्लोबल पावर के तौर पर सामने आ रहा है। भारत की बढ़ती ताकत से OIC के सदस्य देशों में फुट पड़ चुकी है। 

दुबई और जम्मू-कश्मीर प्रशासन के बीच हुए इस समझौते को पाकिस्तान के पूर्व राजदूत अब्दुल बासित ने पाकिस्तान के लिए डिप्लोमेटिक हार बताया है। बासित ने पाकिस्तान सरकार पर भड़कते हुए कहा, ‘ये समझौता भारत के लिए बड़ी कामयाबी है। पहले ही OIC ने कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान का खुलकर समर्थन नहीं किया है।

अलग-थलग पड़ चुका है पाकिस्तान

पाकिस्तान लगातार कोशिश कर रहा है कि कश्मीर के मुद्दे पर उसे ज्यादा से ज्यादा देशों का समर्थन मिल जाए, लेकिन तुर्की और चीन के अलावा किसी भी देश ने कश्मीर मसले पर अब तक भारत के खिलाफ बयान नहीं दिया है। पाकिस्तान की लाख कोशिशों के बाद भी सऊदी अरब और ईरान ने इस मुद्दे पर चुप्पी साध रखी है। जिससे पाकिस्तान की हताशा बढ़ती जा रही है, आलम ये है कि इमरान सरकार की छवि उसके अपने ही देश में फीकी पड़ चुकी है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities