ब्रेकिंग
Auraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरूEtah: 100 प्रतिशत टीकाकरण करवा कर ग्रामीणों ने की मिसाल कायमMahoba: झाड़ियों में लावारिस पड़ा मिला नवजात शिशु, गांव में एक साल के अंदर यह दूसरी घटनाMahoba: सिंचाई विभाग का अजब कारनामा, मृतक किसानों के खिलाफ पुलिस को दी तहरीरएटा को मिली बड़ी सौगात, पीएम मोदी ने किया मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण

Siddharthnagar: डायरिया से हुई 5 लोगों की मौत, दर्जन भर लोग पीड़ित

चंदन श्रीवास्तव, सिद्धार्थनगर

Siddharthnagar: पिछले 1 हफ्ते से सिद्धार्थनगर जिले के एक गांव में डायरिया से 5 लोगों की मौत हो गई और दर्जन भर लोग अब भी पीड़ित हैं। पीड़ितों का इलाज पी एच सी बढ़नी अन्य प्राइवेट अस्पतालों में हो रहा है। वहीं, डाक्टरों की टीम गांव में कैंप कर लोगों को दवाइयां दे रही है। 5 मौतों को लेकर डॉक्टर का कहना है कि सिर्फ दो मौतें डायरिया से हुई जबकि अन्य मौतें दूसरे कारणों से हुई है।

आपको बता दें कि सिद्धार्थनगर जिले के बढ़नी ब्लॉक का यह रेडवरिया गांव है। इस गांव में डायरिया ने पाँव पसार दिया है। ग्रामीणों की मानें तो पिछले 1 हफ्ते से डायरिया से 5 लोगों की मौत हो चुकी है। ग्रामीणों के अनुसार 31 अगस्त से 4 अगस्त के बीच 60 वर्षीय खैरुन्निसा, 8 वर्षीय रुखसाना, 45 वर्षीय शमीमा, 9 माह की नुसरत और 55 वर्षीय धर्मराज की मौत डायरिया से हो गई है। अभी भी करीब दर्जन भर लोग इससे पीड़ित हैं। वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि गांव में आज भी मेडिकल सुविधाओं का अभाव है डॉक्टरों की टीम गांव में आती है लेकिन 2 घंटे रुक कर चली जाती है। अचानक तबीयत खराब होने पर उन्हें एंबुलेंस भी नहीं मिल पाता। उन्हें अपने संसाधनों से मरीजों को अस्पताल पहुंचाना पड़ता है। सरकारी अस्पताल में समुचित व्यवस्था नहीं मिलने पर वे लोग प्राइवेट अस्पतालों का रुख कर रहे हैं।

वहीं, रेडवरिया गांव में पीएचसी बढ़नी के डॉक्टर कैंप लगाकर लोगों को दवाइयां वितरित कर रहे हैं। गांव में मौजूद बढ़नी पी एच सी के डॉक्टर धीरेंद्र चौधरी ने बताया कि गांव में कई लोग लूज मोशन से पीड़ित है। उनकी सहायता और उपचार के लिए वे यहां कैंप लगा रहे हैं और जरूरत के अनुसार मरीजों को सी एच सी, पी एच सी या जिला चिकित्सालय भेजा जा रहा है। गांव में अब तक हुई 5 मौतों को लेकर उन्होंने कहा कि डायरिया से दो की जबकि अन्य मौतें दूसरे कारणों से हुई है। डायरिया फैलने की वजह के बारे में उन्होंने बताया कि खुली नालियां, गांव में गंदगी, खाने पीने में साफ-सफाई ना होना इसका प्रमुख कारण है। हालांकि डायरिया फैलने के बाद गांव में साफ सफाई के साथ नालियों और जलजमाव के पास छिड़काव करवा दिया गया है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities