ब्रेकिंग
केरल सरकार ने सबरीमाला मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को दी बड़ी छूटअयोध्या का किन्नर समाज गरीबों की सहायता करने में तत्परAuraiya: बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, अधेड़ हुआ घायलAuraiya: सवारियों से भरी बस खाई में गिरी, 20 यात्री हुए घायलAgra: बेटों ने नहीं दिया सम्मान तो पिता ने संपत्ति की डीएम के नामHamipur: हाईवे पर हुई दो दुर्घटनाएं, तीन लोग हुए घायलHamirpur: ट्रक ने बाइक सवार पिता-पुत्र को रौंदा, मौके पर हुई मौतHamirpur: विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु, जनपद को नौ जोन और 42 सेक्टर में बांटा गयामहोबा दौरे पर प्रियंका गांधी, प्रतिज्ञा रैली को करेंगी सम्बोधितHamirpur: शहर के बीच जेल तालाब में आग लगने से हड़कंप, बड़ा हादसा टला

Siddharthnagar: खाद के लिए ठोकरें खा रहे हैं किसान, प्रशासन मौन

चंदन श्रीवास्तव, सिद्धार्थनगर

सिद्धार्थनगर जिले में डीएपी खाद को लेकर हाहाकार की स्थिति पैदा हो गई है. सरकार के दावों के बावजूद किसानों को जरूरी मात्रा में खाद नहीं मिल पा रहा है. ज्यादातर खाद गोदामों पर खाद नहीं है, जहां है वहां किसानों को रात से ही लाइन लगानी पड़ रही है। लेकिन स्थानीय प्रशासन खाद की किल्लत की बात मानने को तैयार नहीं है.

यह वक्त गेहूं और बाकी फसलों की बुआई का है. किसानों को मौजूदा समय में डीएपी खाद की सख्त जरूरत है और डीएपी खाद सरकारी दुकानों से गायब है. हालत ये है कि अगर गोदामों पर खाद आती भी है तो इतनी कम आती है कि कुछ रसूख वालों को ही मिल पाती है. खाद की किल्लत को नजरअंदाज करते हुए डुमरियागंज तहसील के एसडीएम ने खाद की कमी को मानने से ही साफ इंकार कर दिया. उनका कहना है कि खाद हर जगह उपलब्ध है अगर कहीं कालाबाजारी हो रही है तो आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. इन सबके बीच बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी खाद की कमी को एक-दो दिन में दूर करने की बात कह रहे हैं.

मंत्री जी के अपने वादे हैं और अधिकारियों के अपने दावे हैं. मगर, इन सबके बीच जमीनी हकीकीत पर देखा जाए तो परेशान वो किसान है जो बुआई के लिए बैठा है और खाद की कमी से जमीन की उपज को कमते होते देख रहा है. ऐसे में किसान के पास सरकार से उम्मीद लगाने के सिवाय कोई और रास्ता नहीं है.

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities