ब्रेकिंग
TEAM INDIA का नया कोच: मुख्य कोच पद के लिए द्रविड़ ने किया आवेदनप्रमोशन में रिजर्वेशन मामला: केंद्र और राज्य सरकारों की दलीलें पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसलाSiddharthnagar: बिजली के खंभे से गिरने पर विद्युत कर्मचारी की मौत, नाराज लोगों ने दिया धरनाAuraiya: राजा भैया ने किया रोड शो, विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में भरा जोशइस शहर को कहा जाता है विधवा महिलाओं की घाटीAgra: बच्चों से भरी वैन के गड्ढे में गिरने से हुआ हादसाJhansi: युवा मोर्चा की जिला झाँसी महानगर कार्यसमिति की बैठक हुई सम्पन्नHamirpur: NH34 पर अतिक्रमण हटाने पहुंची कंपनी, विधायक ने मांगी मोहलतAyodhya: पांचवे दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए अवध यूनिवर्सिटी में तैयारी शुरूEtah: 100 प्रतिशत टीकाकरण करवा कर ग्रामीणों ने की मिसाल कायम

Siddharthnagar: भारत-नेपाल बॉर्डर खुलने से दोनों मुल्कों के लोगों ने जताई खुशी

चंदन श्रीवास्तव सिद्धार्थनगर

कोरोना काल में बदं सिद्धार्थनगर जिले का भारत नेपाल बॉर्डर आज डेढ़ साल बाद दोबारा दोनों मुल्कों के लोगों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया हैं। आधिकारिक तौर से बॉर्डर खुलने के बाद भारत नेपाल दोनों तरफ के लोगों में काफी खुशी है। व्यापारियों को उम्मीद है कि बॉर्डर खुलने के बाद  व्यापार में तेजी आएगी।

कोरोना के बढ़ते हाहाकार के बीच पिछले साल 23 मार्च को भारत-नेपाल की सीमा पूरी तरह सील कर दी गई थी। सिद्धार्थनगर ज़िले की 168 किलोमीटर की भारत नेपाल सीमा पर भी आवाजाही को लेकर पूरी तरह पाबंदी थी। हालांकि, भारत नेपाल खुला बॉर्डर है। लोग पगडंडियों के सहारे कही से भी आवाजाही करते रहते है। लेकिन ज़िले में आधिकारिक तौर पर तीन चेकपोस्ट हैं। बढ़नी, खुनुवा और ककरहवा में बनाए गए इन चेकपोस्टों पर कस्टम सहित सभी विभागों के कार्यालय हैं। वाहनों की आवाजाही इन्हीं रास्तों से होती है। करीब डेढ़ साल से आवाजाही के ये रास्ते पूरी तरह बंद थे।

आज इन तीनों चेकपोस्टों को आधिकारिक तौर पर खोल दिया गया है। आज से भारत-नेपाल की सीमा खुलने की जानकारी होने पर भारत और नेपाल के उत्साहित नागरिक और व्यापारी सीमा पर भारी संख्या में इकठ्ठा हो गए और ढ़ोल नगारे बजाकर अपनी खुशी का इज़हार किया। इस मौके पर दोनों मुल्कों की बॉर्डर फ़ोर्स भी मौजूद रही। लोगों ने अपने हाथों में भारत और नेपाल के झंडे भी ले रखे थे।

आप को बतातें चले कि दोनों तरफ की सीमाओं पर स्थित व्यापारियों की दुकानों पर बिना रोक-टोक भारत के लोग भारत और नेपाल के लोग भारत आकर जरूरत की चीजों की खरीददारी करते हैं। नेपाल के लोग भारत में चिकित्सा के लिए बड़ी तादाद में आते है नेपाल में भारत के लोग पर्यटन के लिए बड़ी संख्या में जाते है। दोनों तरफ की रिश्तेदारी भी बड़े पैमाने पर है। ऐसे में बॉर्डर खुलने से दोनों मुल्कों के आम लोग और व्यापारी काफी खुश है। दोनों मुल्कों के लोगों का कहना है कि आज से सीमा खुलने से दोनों तरफ के कई महीनों से बंद व्यापार में काफी तेजी आएगी साथ ही लोग पहले की तरह बिना रोक-टोक के मिल सकेंगे।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities