ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के इस जज ने नूपुर शर्मा को सुनाई खरी-खरी, याचिका खरिज कर कहा टीवी में जाकर देश से मांगे माफी‘चायवाले’ ने पवार के ‘पॉवर’ और ठाकरे के ‘इमोशन’ का निकाला तोड़, ‘ऑटो चालक’ को इस वजह से बनाया महाराष्ट्र का चीफ मिनीस्टरउदयपुर घटना को लेकर कानपुर के मुस्लिम संगठन के साथ अन्य लोगों में उबाल, कन्हैयालाल के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलवाए ‘सरकार’महाराष्ट्र में फिर से बड़ा उलटफेर, शिंदे के साथ फडणवीस लेंगे शपथBIG BREAKING – देवेंद्र फडणवीस नहीं, एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, शाम को अकेले लेंगे शपथशिंदे बने मराठा राजनीति के ‘बाहुबली’ जानिए देवेंद्र भी ‘समंदर’ से क्यों कम नहींPanchang: आज का पंचांग 30 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयMonsoon Update: गाजियाबाद और आसपास के जिलों को करना होगा बारिश का इंतजार, पूर्वी यूपी में हल्की बारिश शुरूउदयपुर हिंसा का सायां यूपी तक पहुंचा, यूपी के मेरठ जोन में अलर्ट, सोशल मीडिया पर खाास नजरCorona Update: कोरोना ने बढ़ाई देश की टेंशन, एक ही दिन में बढ़ 25 फीसदी मरीज बढ़े, 30 लोगों की मौत

कोतवाली-कल्याणपुर थाने की ‘खाकी’ ने महकमें की करवाई किरकिरी, बात बिगड़ी तो दरोगा ने SHO पर जमकर लाठियां बरसाईं

कानपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी पुलिस को बेदाग रखने के लिए आएदिन दिशा निर्देश देते रहते हैं, लेकिन ‘खाकीधारी’ सुधरने को तैयार नहीं हैं। ऐसे ही दो मामले बांदा और कानपुर जनपद में सामने आए हैं, जहां ‘खाकी’ ने ही महकमें की किरकिरी करा दी। फिलहाल दोनों मामलों पर आलाधिकारियों ने सख्त एक्शन लेते हुए दो दरोगा को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है।

एसएचओ पर भारी पड़ा दरोगा
बांदा जनपद की कोतवाली में रविवार को एसएचओ और दरोगा आशीष पटेरिया के बीच विवाद हो गया। दरोगा ने एसएचओ को गली देते हुए कहा कि, वह उनके क्षेत्र में दखल न दें। जिस पर एसएचओ ने विरोध किया तो दरोगा आगबबूला हो गया। लाठी लेकर वह एसएचओ पर टूट पड़ा। दरोगा की पिटाई से एसएचओ घायल हो गए। सूचना पर पहुंचे एसपी ने आरोपी दरोगा को सस्पेंड कर जांच के आदेश दिए हैं।

इस वजह से दोनों के बीच मारपीट
नरैनी थानाक्षेत्र के एक गांव में रहने वाला एक पिता अपनी नाबालिग बच्चियों से छेड़छाड़ की शिकायत लेकर पुलिस स्टेशन गया था। पिता का आरोप है कि स्कूल जाते वक्त उनकी बेटी के साथ दो मनचले अक्सर छेड़छाड़ करते हैं। पीड़ित की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करने के बजाए उल्टा दरोगा उसे भला-बुरा कहने लगा। मामले की जानकारी होने पर एसएचओ मौके पर पहुंचे और दरोगा आशीष से जानकारी मांगी। जिस पर दरोगा भड़क गया और एसएचओ को बुरा-भला कहने लगा। इस विवाद से कुछ ही देर में पुलिस थाना अखाड़ा बन गया। किसी तरह एसपी ने मौके पर मामले को शांत कराने के साथ दरोगा को सस्पेंड कर दिया। जबकि पीड़ित की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

रिश्वत का वीडियो वायरल
कानपुर के कल्याणपुर थानाक्षेत्र की इंदिरा नगर चौकी इंचार्ज यशपाल सिंह का रिश्वत लेते एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। केस को रफादफा करने के लिए आरोपी पक्ष से तीन हजार रुपये की रकम लेने की बात सामने आ रही है। वीडियो में चौकी प्रभारी यशपाल सिंह से आरोपी पक्ष मामला मैनेज करने की बात करते सुनाई व दिखाई दे रहा है। बातचीत के दौरान तीन हजार रुपये भी दरोगा को दिए गए। आरोपी पक्ष ने ही ये वीडियो बनाया और उसे वायरल कर दिया। ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। दरोगा को निलंबित कर दिया गया है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities