ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के इस जज ने नूपुर शर्मा को सुनाई खरी-खरी, याचिका खरिज कर कहा टीवी में जाकर देश से मांगे माफी‘चायवाले’ ने पवार के ‘पॉवर’ और ठाकरे के ‘इमोशन’ का निकाला तोड़, ‘ऑटो चालक’ को इस वजह से बनाया महाराष्ट्र का चीफ मिनीस्टरउदयपुर घटना को लेकर कानपुर के मुस्लिम संगठन के साथ अन्य लोगों में उबाल, कन्हैयालाल के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलवाए ‘सरकार’महाराष्ट्र में फिर से बड़ा उलटफेर, शिंदे के साथ फडणवीस लेंगे शपथBIG BREAKING – देवेंद्र फडणवीस नहीं, एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, शाम को अकेले लेंगे शपथशिंदे बने मराठा राजनीति के ‘बाहुबली’ जानिए देवेंद्र भी ‘समंदर’ से क्यों कम नहींPanchang: आज का पंचांग 30 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयMonsoon Update: गाजियाबाद और आसपास के जिलों को करना होगा बारिश का इंतजार, पूर्वी यूपी में हल्की बारिश शुरूउदयपुर हिंसा का सायां यूपी तक पहुंचा, यूपी के मेरठ जोन में अलर्ट, सोशल मीडिया पर खाास नजरCorona Update: कोरोना ने बढ़ाई देश की टेंशन, एक ही दिन में बढ़ 25 फीसदी मरीज बढ़े, 30 लोगों की मौत

विकास दुबे और कानपुर के इस अपराधी की एक ही कहानी, मामा से अपराध का ‘ककहरा’ सीख बना जरायम की दुनिया का ‘बाहुबली’

कानपुर। पुलिस एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे और कुख्यात अपराधी पप्पू स्मार्ट की अपराध की कहानी बिलकुल मिलती जुलती है। जिस तरह से विकास के मामा ने उसे क्राइम की ‘एबीसीडी’ पढ़ाई, उसी तरह कानपुर के पप्पू को भी उसके सगे मामा ने अपराध का ‘ककहरा’ पढ़ा जरायम की दुनिया का ‘बाहुबली’ बना दिया। 22 साल के अंदर उसने करोड़ों की संपत्ति अर्जित की और गरीबों की जमीनों पर कब्जा कर वहां अवैध निर्माण करवा लिए। अब शातिर अपराधी पर योगी सरकार ने शिकंजा कसते हुए उसके द्धारा नाले पर बनाई गई आठ दुकानों को बुलडोजर से ढहा दिया है। इसके अलावा पुलिस-प्रशासन पप्पू स्मार्ट की आधा दर्जन से अधिक संपत्तियों को खंगाल रही हैं और आने वाले दिनों में बड़ा एक्शन हो सकता है।

कौन है गैंगस्टर पप्पू स्मार्ट
गैंगस्टर पप्पू स्मार्ट बड़ा भूमाफिया है। एक समय में उसने राजा ययाति के किले पर भी अपना कब्जा जमा लिया था। करीब चार साल पहले पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई कर किला खाली कराया। पप्पू के पिता मोची थे, लेकिन उसने अपराध के जरिये अकूत संपत्ति बनाई थी। पप्पू स्मार्ट वर्तमान में बसपा नेता पिंटू सेंगर हत्याकांड के मामले में जेल में बंद है। उस पर गैंगस्टर, एनएसए की कार्रवाई की जा चुकी है। प्रशासन के साथ पुलिस ने भी उसकी अवैध संपत्तियां चिन्हित की हैं। जिन पर बुलडोजर चला है। पप्पू स्मार्ट मामूली परिवार से है। लेकिन राजनीतिक संरक्षण व आपराधिक प्रवृत्ति के जरिये उसने करोड़ों रुपये की संपत्ति बनाई।

मोची की दुकान पर बैठते थे चारों भाई
आज से 22 साल पहले पप्पू स्मार्ट और उसके चारों भाई आमिर बिच्छू, शोएब पप्पी और तौसीफ कक्कू अपने पिता मोहम्मद सिद्दीकी की हरजेंदर नगर चौराहे पर स्थित मोची की दुकान पर बैठकर हाथ बटाते थे। पप्पू का मामा रियाजुद्दीन उर्फ छज्जू कबूतरी अनवरगंज का हिस्ट्रीशीटर था और अपने जमाने में बड़ा ड्रग्स तस्कर माना जाता था। छज्जू कबूतरी से ही चारों भाइयों ने अपराध का ककहरा सीखा। मोहम्मद आसिफ उर्फ पप्पू स्मार्ट के खिलाफ पहला केस 21 साल पहले कोहना थाने में दर्ज हुआ था। इसके बाद ये सिलसिला जारी रहा। वर्तमान में उस पर 17 केस दर्ज हैं। पप्पू पर बसपा नेता की हत्या का आरोप है और इसी मामले पर शातिर अपराधी सलाखों के पीछे है।

सरदार के मकान पर किया कब्जा
पप्पू स्मार्ट और उसके भाईयों ने मामा की मदद से एक सरदार परिवार को प्रताड़ित करना शुरू किया। ऐसे सरदार परिवार घर छोड़कर पंजाब पलायन कर गया। इस मकान पर पप्पू और उसके चारों भाइयों ने कब्जा कर जूते का शोरूम खोला, जिसका नाम रखा स्मार्ट शू हाउस। दुकान की वजह से आसिम उर्फ पप्पू का नाम पप्पू स्मार्ट पड़ गया। इसके बाद तो चारों भाइयों ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। इनका मुख्य व्यवसाय विवादित जमीनों पर कब्जा करना या। एक के बाद एक इन चारों भाइयों ने जाजमऊ, हरजेंदर नगर व अन्य क्षेत्रों में दर्जनों की संख्या में अवैध संपत्तियों पर कब्जा कर बड़ा कारोबार खड़ा कर लिया। दिखावे के लिए इन्होंने चमड़ा कारोबारी का चोला ओढ़ा, लेकिन असलियत इससे बिल्कुल विपरीत है।

बेटे ने संभाली गैंग की कमान
आपराधिक गतिविधियों से करोड़ों की संपत्ति अर्जित करने की वजह से ही पूर्व आइजी आलोक सिंह एवं तत्कालीन एसपी अनुराग आर्य ने गैंगस्टर के तहत पप्पू स्मार्ट पर कार्रवाई की और इसकी तमाम संपत्तियों को सीज भी किया गया। जेल जाने के बाद से पप्पू स्मार्ट का बेटा जैन कालिया गिरोह की कमान संभाल रहा है। जैन कालिया के खिलाफ भी आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं और पिछले सात वर्षों से वह फरार है।

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities