ब्रेकिंग
अयोध्या का किन्नर समाज गरीबों की सहायता करने में तत्परAuraiya: बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, अधेड़ हुआ घायलAuraiya: सवारियों से भरी बस खाई में गिरी, 20 यात्री हुए घायलAgra: बेटों ने नहीं दिया सम्मान तो पिता ने संपत्ति की डीएम के नामHamipur: हाईवे पर हुई दो दुर्घटनाएं, तीन लोग हुए घायलHamirpur: ट्रक ने बाइक सवार पिता-पुत्र को रौंदा, मौके पर हुई मौतHamirpur: विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु, जनपद को नौ जोन और 42 सेक्टर में बांटा गयामहोबा दौरे पर प्रियंका गांधी, प्रतिज्ञा रैली को करेंगी सम्बोधितHamirpur: शहर के बीच जेल तालाब में आग लगने से हड़कंप, बड़ा हादसा टलाJaunpur: पुलिस चौकी में घुसा ट्रक, हादसे में 1 की मौत, एक पुलिसकर्मी घायल

दुनिया का पचास फीसद प्रदूषण कम करेगी ये चीजें

वायु प्रदूषण एक बहुत बड़ी समस्या है। इसने भारत की ही नहीं दुनिया के सभी देशों की चिंता बढ़ा रखी है। प्रदूषण का सामना पूरी दुनिया कर रही है। सिर्फ बाहरी ही नहीं, बल्कि घर के अंदर का वायु प्रदूषण अनेक तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देता है। प्रदूषण के चलते लोगों को सांस तक लेने में दिक्कत हो रही है। इससे बचाव के लिए पूरा विश्व अलग-अलग तरह के उपाय कर रहा है। प्रदूषण को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की गई है। जिसमें बताया गया है कि कंस्ट्रक्शन, फैशन, इलेक्ट्रानिक्स, फूड, एफएमसीजी, ऑटो, प्रोफेशनल सर्विस (बिजनेस ट्रैवल और ऑफिस) और दूसरे फ्रेट के सप्लाई चेन। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि सामानों के ऑपरेशन में उतना प्रदूषण नहीं होता है। जितना उनकी आवाजाही में होता है। इन सामानों की सप्लाई चेन दुनिया में 50 फीसद प्रदूषण का कारण है।

यदि इनका प्रदूषण कम करने के ठोस कदम उठाये जाए तो सामान की कीमत में केवल 1 से 4 प्रतिशत की वृद्धि होगी, लेकिन विश्व से प्रदूषण बहुत कम हो जाएगा। साथ ही सप्लाई चेन से कार्बन उत्सर्जन कम करने से भी प्रदूषण कम होगा।  भोजन की सप्लाई चेन भी 25 फीसद कार्बन उत्सर्जन का कारण है। इस प्रदूषण को 40 फीसद तक कम करने के लिए जो तकनीक अपनाई जाएगी, उससे वस्तुओं के मूल्य पर बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities