ब्रेकिंग
नवाबगंज पुलिस ने नहीं सुनी शिकायत तो पिता ने बेटे की खुद शुरू की पड़ताल, सीसीटीवी फुटेज देकर थाना प्रभारी से ‘घर के चिराग’ को बचाने की लगाई फरियाद, पर लाश मिली ‘सरकार’गोकश और पुलिस के बीच फायरिंग की तड़तड़ाहट से थर्राया घाटमपुर, गोली लगने से इंस्पेक्टर समेत दो घायल’अग्निपरीक्षा’ में पास हुए एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र की नवनियुक्त सरकार ने जीता विश्वास मत, जानें कांग्रेस-एनसीपी के आठ विधायक वोटिंग से क्यों रहे दूरदोस्ती पर भारी पड़ गया ‘नफरत’ वाला खंजर’, गला काटने के बाद अंतिम संस्कार में शामिल हुआ ‘जल्लाद’…हैलो मैं अल कायदा का सदस्य बोल रहा हूं, ‘महामंडलेश्वर आपके साथ गृहमंत्री अमित शाह और सीएम योगी को बम से उड़ा दूंगा’राजीव नगर में अतिक्रमण हटाने पहुंचे नगर निगम के दस्ते पर हमला, एसपी समेत कई पुलिसकर्मी घायल, 17 जेसीबी के साथ दो हजार जवानों ने 70 घरों को ढहायाSpecial story on anniversary of bikru case – ऐसा था विकास दुबे कानपुर वाला, 2 जूलाई को बहाया ‘खाकी के खून का दरिया’उदयपुर केस में सामने आई सनसनीखेज साजिश, दरिंदों ने 2013 में खरीदी ‘2611’ वाली तारीखISIS स्टाइल में उदयपुर के बाद अमरावती में हत्या, दरिंदों ने चाकू से दवा कारोबारी का गला काटाउदयपुर के कन्हैया हत्याकांड में शामिल थे 5 आतंकी, अपने साथियों को बचाने के लिए दुकान के पास खड़े थे दो आतंकी

आज देश के 70 हजार पेट्रोल पंप नहीं खरीद रहे तेल, 24 राज्यों में पेट्रोल पंप डीलरों ने लिया बड़ा फैसला

आज 31 मई को देश के करीब 70 हजार पेट्रोल-पंप तेल कंपनियों से पेट्रोल-डीजल नहीं खरीदेंगे। पंप मालिकों का कहना है कि पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतें बढ़ने के बाद पेट्रोलियम कंपनियां जमकर फायदा ले रही हैं, लेकिन डीलर्स के कमीशन में कोई इजाफा नहीं किया गया है। इस वजह से एक दिन कंपनियों से तेल न खरीदने का निर्णय लिया गया है।

देश के 24 राज्य उतरे विरोध में
कमीशन बढ़ाने की मांग को लेकर मंगलवार को देश के 24 राज्यों के पेट्रोल पंप मालिकों ने ये बड़ा एलान किया था कि बुधवार यानी 31 मई को वह अपना विरोध इस तरह से जाहिर करेंगे। इस क्रम में आज करीब 70 हजार पेट्रोल पंप मालिक विरोध कर रहे हैं। हालांकि, पेट्रोल पंपों के टैंक में काफी भंडार रहता है, इसलिए पेट्रोल और डीजल की आपूर्ति में किसी तरह की बाधा आने की आशंका नहीं है।

इन राज्यों में विरोध
ईंधन डीलर संगठनों ने 24 बडे़ राज्यों में कंपनियों से तेल नहीं खरीदने का फैसला लिया है। इनमें तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, बिहार, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, नगालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा, सिक्किम के अलावा उत्तर बंगाल और यूपी, मध्य प्रदेश के भी कई डीलर शामिल हैं।

क्या है पूरा मामला?
बता दें कि पेट्रोलियम कंपनियों और डीलर संघों के बीच कमीशन को लेकर जो समझौता किया गया था उसके मुताबिक, पेट्रोल-डीजल डीलरों के मार्जिन में हर 6 महीने में संशोधन किया जाना था, लेकिन बीते पांच साल यानी 2017 से इसमें संशोधन नहीं किया गया है। ऐसे में अब कमीशन बढ़ाने को लेकर उनकी मांग ने विरोध का रूप अख्तियार कर लिया है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities