बड़ी ख़बरें
Yogi Adityanath के एक फैसले ने विपक्ष की उम्मीदों को किया ध्वस्त,अब मोदी की हैट्रिक कोई नही रोक सकता !देव भूमि पर फिर मंडराया तबाही का साया ! तुर्की से भी बड़ी आएगी उत्तराखंड में तबाही देवभूमि में मिलने लगी भूकंप की आहट ! देवभूमि में बज गई खतरे की घंटी आने वाली है महा तबाही ..अपनी सुनहरी आवाज से Bollywood को हैरान करने वाले Amarjeet Jaykar को मुंबई से आया बुलावा ,रानू मंडल की ही तरह है अमरजीत जयकर की कहानी ,सोशल मीडिया में रातो रात छा गया था मजदूरी करने वाला एक अमरजीत !जडेजा के “कलाई जादू” से पस्त हो गए मेहमान फिरकी के फेर में फंसे कंगारू नागिन डांस करने को मजबूर! भारत तीनों फॉर्मेट में बना नंबर वन!GlobalInvestorSummit:एमएसएमई कैबिनेट मंत्री राकेश सचान डकार कर बैठे 72 प्लाटों का आवंटनGeneralElection2024:BJP इंटरनल सर्वे ने उड़ाई सांसदों की नीद 100 से ज्यादा सांसदों का होगा पत्ता साफ!GeneralElection2024:अखिलेश ने किया भाजपा को आम चुनाव में पटकनी देने का प्लान तैयार , जातीय जनगणना की मांग से देंगे धारMayawatiOnYogi:बीजेपी ने उठाया हिंदू राष्ट्र का मुद्दा,बसपा को सताई दलितों के वोट कटने की चिंता !DelhiMcdFight:Bjp का दिल्ली में मेयर बनाने का सपना हो गया चकनाचूर !मेयर की महाभारत में अब लग गया विराम!ElectionCommissionDecision:शिव सेना पर कब्जे की लड़ाई में जीते मुख्यमंत्री शिंदे उद्धव को मशाल जलाने की मजबूरी पार्टी पर कब्जे की लड़ाई में EC का फैसला शिंदे के पक्ष में

Turkey-Syria Earthquake: तुर्की-सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप में 8000 से ज्यादा मौतें… मलबे में दबी लाशें… भारत से भेजी गई मदद

Earthquake: तुर्की (Turkey) और सीरिया (Syria) में आए विनाशकारी भूंकप में 8000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। चारो तरफ तबाही का मंजर है। इमारतों (buildings) के मलबे में जिंदगियां आखिरी सांसे भर रही हैं। लाशों की ढेर लगे हुए हैं। घायलों से अस्पताल भरे हैं, चीखपुकार की अवाजें सुनाई दे रही हैं। यह नजारा देखने वालों का कलेजा बैठा जा रहा है। भूकंप के चलते भारी नुकसान हुआ है. कई बिल्डिंग ताश के पत्तों की तरह गिर गईं हैं.

70 देशों की टीमें बचाव-राहत में जुटीं
तुर्किए के आपदा प्रबंधन विभाग ने बताया कि कहारमनमाराश इलाके में 6 फरवरी को आए 7.7 तीव्रता के भूकंप के बाद अब तक भूकंप के कुल 435 झटके दर्ज किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि भूकंप के बाद से राहत और बचाव कार्य के लिए अब तक कुल 60,217 कर्मचारी और 4,746 वाहन और निर्माण उपकरण तैनात किए जा चुके हैं। तुर्किए में आए भूकंप के बाद दुनिया के देशों ने मदद का हाथ आगे बढ़ाया है, कुल 70 देशों की टीमें राहत और बचाव कार्य के लिए तुर्किए पहुंच चुकी हैं। लेकिन तुर्किए का खराब मौसम राहत-बचाव के लिए बाधा बना हुआ है।

भारत ने भेजी मदद
तुर्किए में आए भूकंप के बाद भारत ने भी तुर्किए के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। भारत ने राहत सामग्री, उपकरण और सैन्यकर्मियों से भरे चार सी-17 विमान। करीब 108 टन से अधिक वजन के राहत पैकेज तुर्किए भेजे हैं। एनडीआरएफ की खोज और बचाव के काम में एक्सपर्ट टीमें भारत से तुर्किए भेजी गई हैं। उनके साथ उपकरण, वाहन और डॉग स्क्वॉड और 100 से अधिक सैन्यकर्मी शामिल हैं। इन टीमों के पास  भूकंप प्रभावित इलाकों में लोगों का पता लगाने, उनको निकालने के लिए विशेष उपकरण भेजे गए हैं। जो मलबे में बचाव अभियान (सीएसएसआर) के संचालन में सक्षम हैं।

राहत सामाग्रियों में बिजली के उपकरण, लाइटिंग इक्विपमेंट, एयर-लिफ्टिंग बैग, चेनसॉ, एंगल कटर, रोटरी रेस्क्यू सॉ आदि शामिल हैं। इसके अलावा खास तौर पर बचाव मिशन के लिए प्रशिक्षित डॉग स्क्वायड भी भेजा गया है। फील्ड ऑपरेशन में 30 बिस्तरों वाली चिकित्सा सुविधा स्थापित करने के लिए उपकरण और 99 कर्मी। इसमें विभिन्न क्षेत्रों के चिकित्सा विशेषज्ञ शामिल हैं. चिकित्सा उपकरणों में एक्स-रे मशीन, वेंटिलेटर, ऑपरेशन-थियेटर, वाहन, एंबुलेंस, जनरेटर आदि शामिल हैं।

भारत ने तुर्किए के साथ साथ भूकंप पीड़ित सीरिया को भी सी130जे विमान के जरिए राहत सामग्री भेजी है। इसमें 6 टन से अधिक राहत सामग्री जिसमें 3 ट्रक सामान्य और सुरक्षात्मक गियर, आपातकालीन उपयोग की दवाएं, सीरिंज और ईसीजी मशीन, मॉनिटर और अन्य आवश्यक चिकित्सा सामग्री और उपकरण शामिल हैं।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities