बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

पति की जान बचाने के लिए बाघ से भिड़ गई 65 साल की पत्नी, आमदखोर के जबड़े से ‘सुहाग’ की गर्दन को छुड़ा सोम बाई बनी कुम्हर्रा गांव की ‘मर्दानी’

उमरिया। बाघ को देखकर अच्छे-अच्छों की हवा निकल जाती है। बाघ को जंगल का खूंखार जानवर कहा जाता है और अपने शिकार को खाने के बाद ही पीछे कदम खींचता है। लेकिन उत्तर प्रदेश के उमरिया में बाघ और बुजुर्ग महिला के बीच जंग हुई। आदमखोर ने महिला के पति पर हमला कर दिया गर्दन को जबड़े में दबोच लिया। वृद्ध महिला ने बाघ के जबड़े से पति को छुड़ा लिया। जिसकी चर्चा पूरे इलाके में है और लोग उसे मर्दानी कहकर पुकारने लगे हैं। ये वाकया बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के धमोखर रेंज में गौरैया बीट का है।

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में अक्सर बाघ स्थानीय लोगों पर हमला कर देते हैं। कईयों को वह अपना शिकार बना चुके हैं। चार सितंबर को रोहनिया गांव में खेत की रखवाली के दौरान डेढ़ वर्षीय मासूम बच्चे पर बाघ के हमला कर दिया था। दिल के टुकड़े को बचाने के लिए मां बाघ से भिड़ गई थी। बाघ ने महिला के शरीर पर दांच व पंजे से गहरे घाव कर दिए थे, लेकिन उसने हार नहीं मानी। बाघ के मुंह के अंदर हाथ डालकर बच्चे को बाहर निकाला और आदमखोर को भागने पर मजबूर कर दिया था। ऐसा ही मामला एकबार फिर सामने आया है। यहां वृद्ध महिला अपने पति की जान बचाने के लिए बाघ से भिड़ गई और उसे सकुशल बचा लिया।

कुम्हर्रा गांव के रहने वाले बुजुर्ग चरका बैगा अपनी पत्नी के साथ राशन लेने रामपुर गांव गए थे,। वापस लौटते समय भोजन पकाने के लिए कुछ सूखी लकड़ी बीनने लगे। तभी झाड़ियों के पीछे छिपे बाघ ने उन पर हमला कर दिया। वृद्ध पत्नी भागने की बजाय पति को बचाने के लिए दहाड़ उठी और सूखी लकड़ी के सहारे तब तक ललकारती रही जब तक उसने चरका को छोड़ न दिया। बाघ उसे छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। बाघ के जबड़े से पति को बचाने के बाद भी बुजुर्ग महिला थकी नहीं और राशन की गठरी सिर पर रखकर अपने जीवनसाथी को सहारा देकर जंगल से घर ले गई। बाद में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पत्नी सोम बाई बैगा ने घटना की जानकारी देते हुए बताया, मेरे पति सूखी लकड़ियां बीन रहे थे, इसी बीच उन्हें बाघ ने दबोच लिया। मैंने हिम्मत नहीं हारी. एक बड़ी सी सूखी लकड़ी लेकर बाघ पर लगातार वार किए। थोड़ी देर में बाघ पति को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। फिर मैंने राशन की गठरी सिर पर रखी और एक हाथ से पति को सहारा देते हुए घर ले आई। रास्ते में मैं लगातार चिल्लाती आई ताकि लोगों की मदद मिल सके और बाघ फिर से हम पर हमला न कर सके।

धमोखर डिप्टी रेंजर बीके श्रीवास्तव ने बताया, ‘दंपति जंगल में लकड़ी बीनने गए थे। इसी बीच, बाघ ने बुजुर्ग चरका बैगा पर हमला कर दिया। उनकी पत्नी ने किसी तरह उनकी जान बचाई और घर ले आई। गांव के कुछ लोगो की मदद से घर पहुंचे। सूचना मिलने पर हम लोग भी आये और वाहन की व्यवस्था करके पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तात्कालिक राहत के तौर पर पीड़ित परिवार को एक हजार की आर्थिक सहायता दी गई है.। साथ ही ग्रामीणों को जंगल की तरफ नहीं जाने की अपील भी की गई थी।

 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities