ब्रेकिंग
Kanpur: बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का योगी सरकार पर हमला, बोले- बेलगाम हो चुकी है योगी सरकारShahjahanpur: कानून के राज में कानून व्यवस्था ध्वस्त, बदमाशों ने कोर्ट में निपटाया वकीलSiddharthnagar: भाकियू ने केंद्रिय मंत्री अजय मिश्रा को हटाने के विरोध में जाम किया रेलवे ट्रैकHamirpur: किसानों के रेल रोको आंदोलन को लेकर प्रशासन अलर्ट, तैनात की गई जीआरपी और पुलिसAuraiya: किसान यूनियन द्वारा रेल रोकने के मामले में पुलिस प्रशासन सख्तUnnao: किसानों की ओर से रेल रोको आंदोलन का आह्वान, पुलिस और प्रशासनिक टीमें अलर्टHamirpur: आकाशीय बिजली गिरने से बेटे की मौत, मां की हालत गंभीरAgra: किसान आंदोलन के मद्देनजर रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजामAgra: युवक के ऊपर टूट कर गिरा बिजली का तार, करंट लगने से युवक की मौतJhansi: रजत पदक विजेता शैली सिंह का गुरु पद्मश्री अंजु बॉबी जार्ज के साथ हुआ भव्य सम्मान

अयोध्या: पुस्तैनी जमीन गमाने से दुखी महिला ने प्रशासन पर लगाया आरोप

अनिल निषाद, अयोध्या

जिले के रुदौली तहसील क्षेत्र के मवई थाना अन्तर्गत एक गांव में दबंगो ने एक महिला की पुस्तैनी जमीन पर कब्जा कर लिया है। इस दौरान पीड़ित महिला, थाना और तहसील के चक्कर लगा रही है। लेकिन पीड़ित महिला को कहीं से न्याय नहीं मिल रहा है। मजबूरन उसे न्यायालय में जाना पड़ा।

आपको बता दें कि मामला मवई थाना क्षेत्र के ग्राम सभा जैसुखपुर गांव का है। जहां की पीड़ित महिला जीनत बानो पुत्री स्वर्गीय कमरुद्दीन का गांव में एक पुश्तैनी आवासीय प्लाट 50 बाई 30 लगभग 15 सौ वर्ग फुट का है। इस दौरान पीड़ित महिला का आरोप है कि मसीउद्दीन पुत्र स्व0 इदरीश, महताब आलम पुत्र मसीउद्दीन और मसीउद्दीन पुत्र इदरीश अपनी दबंगई से प्लाट पर कब्जा कर निर्माण कार्य कर रहे हैं। पीड़ित महिला ने मवई थाना क्षेत्राधिकारी रुदौली और एसडीएम रूदौली को निर्माण रोकने के लिए शिकायती पत्र दिया। लेकिन पीड़ित महिला को दबंगो के दबाव के आगे प्रशासन से न्याय नहीं मिला। पीड़ित महिला ने बताया कि प्रदेश की योगी सरकार महिलाओं को न्याय दिलाने और सबका साथ सबका विकास की बात करती है। लेकिन मवई पुलिस उनके अभियानों पर पानी फेरने का काम रही है। और न्याय देने के बजाय रिश्वत के बल पर दबंगो का साथ देने का कार्य कर रही है। पीड़ित महिला जीनत बानो ने उच्चाधिकारियों आईजी, डीआईजी, जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर दबंगो द्दारा जबरन किये जा रहे निर्माण को रोकने की गुहार लगाई है। पीड़ित महिला ने बताया कि मैं अपने पिता की इकलौती औलाद हूं और इस आवासीय ज़मीन पर मेरा ही हक़ है। जिसपर उपरोक्त दबंगो द्दारा किये जा रहे निर्माण को रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन से लेकर उच्चाधिकारियों को दी गई तमाम शिकायतों के बाद भी प्रशासन से न्याय नहीं मिला। जीनत बानो ने बताया कि स्थानीय प्रशासन से न्याय न मिलने पर मजबूर होकर सक्षम न्यायालय की शरण ली है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities